Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

सोडा के 10 गंभीर साइड-इफेक्‍ट

सोडा वाटर पीने में भले कितना अच्छा क्यों ना लगता हो ये आपकी सेहत के लिए घातक होता है अक्सर लोग कॉफी-चाय की जगह सोडा पीना पंसद करते लेकिन उसके नुकसान से अनजान रहते है।

स्वस्थ आहार By Aditi Singh Feb 24, 2015

खोटा है सोडा

पानी में घुले कॉर्बनडाईऑक्साइड वाले कार्बोनेटेड पेय को सोडा ड्रिंक कहा जाता है। सोडा युक्त पेय में चीनी, स्वीटनर, डाई, कैमिकल्स और कैफीन घोलकर इन्हें ज्यादा लजीज और आकर्षक बनाया जाता है। इन सोडा ड्रिंक में मिली एक्स्ट्रा शुगर, कैफीन और कलर कई तरह से हैल्थ को नुकसान पहुंचाते हैं। इससे इम्यून सिस्टम कमजोर होता है और कई तरह की दिल की बीमारियां भी होने लगती हैं।
Imagecourtesy@gettyimages

हाई ब्लड प्रेशर

इसका एक प्रमुख घटक सोडियम है। अधिक सोडियम खाने से ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। लगातार ब्लड प्रेशर हाई रहने से ह्वदय रोग, स्ट्रोक और गुर्दे की बीमारियो की आशंका बढ़ जाती हैं।प्रतिदिन डाइट सोडा का सेवन करने वाले लोगों को हार्ट अटैक का खतरा दूसरों की अपेक्षा 43 प्रतिशत अधिक होता है।
Imagecourtesy@gettyimages

फर्टिलिटी घटाता है

सोडा के कैन में इस्तेमाल होने वाला बीपीए नामक कैमिकल सेक्स हार्मोन कम करने और फर्टिलिटी घटाने का कारण बन सकता है।अधिकतर डाइट सोडा ड्रिंक्स का सेवन कैन व बोतलों से ही हम करते हैं। इसमें इस्तेमाल होने वाला बीपीए नामक केमिकल सेक्स हार्मोन कम करने और फर्टिलिटी घटाने का कारण हो सकता है।
Imagecourtesy@gettyimages

पेशाब में समस्याएं

लगातार सोडा पीना आपको बार-बार पेशाब जाने की समस्या दे सकता है। इससे पेशाब में जलन होने लगती हैा कई बार बहुत ज्याद पेशाब होने की समस्या भी हो जाती है। गर्मी के दिनों में प्यास बुझाने के लिए नींबू पानी, छाछ, नारियल पानी, फ्रूट जूस जैसे विकल्पों का प्रयोग करें।
Imagecourtesy@gettyimages

दांतों को नुकसान

सोडे में मौजूद शुगर और एसिड कंटेंट हमारे दांतों की इनेमल लेयर को नुकसान पहुंचाते हैं। दिन में तीन से अधिक ग्लास डाइट सोडा पीने वाले लोगों को दांतों में सड़न की समस्या अधिक होती है। इससे एसिडिटी का स्तर बढ़ता है जो सबसे पहले मुंह की सेहत के लिए खतरा है।
Imagecourtesy@gettyimages

कमजोर हडि्डयां

जो लोग ज्यादा सोडा पीते हैं, वे दूध कम पी पाते हैं। इससे उनके शरीर में कैल्शियम की मात्रा कम होने लगती है जिससे ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा बढ़ जाता है। इसमें फॉस्फेट और फॉस्फोरिक एसिड से बुढ़ापा जल्दी आता है।
Imagecourtesy@gettyimages

वजन बढ़ाता है

डाइट सोडा में कैलोरी भले ही कम हो लेकिन इसके सेवन के बाद अधिक कैलोरी लेने की इच्छा तीव्र होती है। शोध की मानें तो प्रतिदिन इसका सेवन करने वाले लोगों को मोटापे का रिस्क 41 प्रतिशत अधिक होता है।
Imagecourtesy@gettyimages

किडनी में पथरी

सोडा पेय की आदत आपकी किडनी में पथरी की आशंका को 33 प्रतिशत तक बढ़ा सकती है।दो डाइट सोडा का सेवन करने वाले लोगों को किडनी संबंधी रोगों का रिस्क दोगुना होता है। इस शोध में करीब 30,000 महिलाओं पर अध्ययन किया गया है।

अक्रामक व्यवहार

ऐसे बच्चे जो एक सप्ताह में 5 या उससे ज्यादा सोडा कैन पी जाते हैं, वे अन्य बच्चों से ज्यादा हिंसक होते हैं। रसायनयुक्त मीठे सोडे वाले पेय से हुई अन्य बीमारियों की वजह से हर साल लाखों लोग दुनियाभर में मौत का शिकार हो जाते हैं।
Imagecourtesy@gettyimages

डिप्रेशन की वजह

नियमित रूप से मीठा सोडा पीने से वयस्कों में डिप्रेशन का खतरा 36 प्रतिशत तक बढ़ सकता है। इसके साथ ही यह बात भी समझने की जरूरत है कि इससे मोटापा भी बढ़ता है। डिप्रेशन से अन्य बीमारियां भी बढ़ती है।

Imagecourtesy@gettyimages

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK