• shareIcon

दस वैकल्पिक उपाय जो हृदय समस्‍या से निजात दिलायें

खानपान में पौष्टिकता की कमी और अनियमित दिनचर्या के कारण दिल के मरीजों की संख्‍या लगातार बढ़ रही है, दिल के दौरे का शिकार उम्रदराज लोग ही नहीं युवा भी हो रहे हैं।

हृदय स्‍वास्‍थ्‍य By Nachiketa Sharma / Aug 21, 2014

दिल की बीमारियां

अनियमित दिनचर्या और खानपान में लापरवाही के कारण दिल के मरीजों की संख्‍या लगातार बढ़ रही है। 'सर्कुलेशन' जर्नल में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक जो लोग अपने आहार में अत्यधिक वसा, नमक, अंडे और मांस खाते हैं, उन्हें दूसरों के मुकाबले उनका दिल बहुत जल्‍दी बीमार हो जाता है और उन्‍हें दिल का दौरा पड़ने का जोखिम 35% अधिक होता है। हृदय की समस्‍याओं के उपचार के लिए वैकल्पिक चिक्त्सिा का प्रयोग कर सकते हैं।

image source - getty images

ओट्स खायें

जो लोग सुबह के नाश्‍ते में ओट्स का सेवन करते हैं, उनमें दिल का दौरा पड़ने का जोखिम के साथ दिल की अन्‍य बीमारियों के होने का खतरा कम होता है। ओट्स में घुलनशील रेशे होते हैं। ये घुलनशील रेशे लो-डेंसिटी लीपोप्रोटीन (एलडीएल) या बुरे कोलेस्ट्रॉल को कम करते हैं। इसके अलावा ओट्स रक्त नलिकाओं में जमी वसा को बाहर निकालने में मदद करते हैं।

image source - getty images

पालक खायें

दिल की बीमारियों से बचने के लिए पालक का सेवन कीजिए। पालक में विटामिन के भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जो दिल को बीमारियों से बचाता है। पालक में फाइबर होता है जो एलडीएल कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को घटाता है।

image source - getty images

मेथी का सेवन करें

मेथी में विटामिन के पाया जाता है। इसके अलावा इसमें फाइबर भी होता है जो बुरे कोलेस्‍ट्रॉल का स्‍तर घटाता है। यह फोलेट का स्रोत होने के कारण होमोसिस्टीन नामक एमिनो एसिड को घटाने में मदद करता है जो एथिरोक्लेरोसिस (इस बीमारी में धमनी की दीवारें मोटी हो जाती है और रक्त के सचल प्रवाह में समस्‍या होती है) जैसे रोगों को होने से रोकता है।

image source - getty images

टमाटर खायें

हृदय संबंधी समस्या में टमाटर का सेवन बहुत फायदेमंद होता है। टमाटर में लाइकोपीन, बीटा-कैरोटीन, फोलेट, पोटैशियम, विटामिन सी, फ्लेवनाइड और विटामिन ई होते हैं, जो एलडीएल कोलेस्ट्रॉल, होमोसिस्टीन का स्तर कम कर रक्‍त संचार को ठीक करने में मदद करते हैं।

image source - getty images

वाइन का सेवन

दिल को स्‍वस्‍थ रखने और दिल को बीमारियों से बचाने के लिए वाइन का सेवन कीजिए। कई शोधों में यह बात सामने आ चुकी है कि वाइन का सेवन दिल की बीमारियों से बचाता है। लेकिन इसका अधिक सेवन करने से बचें।

image source - getty images

शिमला मिर्च खायें

शिमला मिर्च कई रंग के होते हैं, ये खाद्द में रंग लाने के साथ-साथ हृदय को स्वस्थ रखने में भी मदद करते हैं। इसमें विटामिन बी1 ,बी2 और बी6, विटामिन सी, फोलेट और फाइबर अधिक मात्रा में पाया जाता है, जो बुरे कोलेस्ट्रॉल और होमोसिस्टीन को कम करने में मदद करते हैं।

image source - getty images

गाजर है फायदेमंद

गाजर में कैरोटिनॉइड, विटामिन ए और सी, फाइबर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। इसमें कैरोटिनॉइड और विटामिन सी फ्री रैडिकल्स से रक्त धमनी को नुकसान होने से बचाते हैं। फाइबर कोलेस्ट्रॉल के सोखने की प्रक्रिया को मजबूत करके हृदय स्वास्थ्य को बेहतर करता है।

image source - getty images

मछली का सेवन करें

मछली का सेवन करने से दिल मजबूत होता है और बीमारियों से बचाव होता है। मछलियों में ओमेगा-3 फैटी एसिड काफी मात्रा में पाए जाते हैं, जो हमारे गुड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाकर दिल को स्‍वस्‍थ रखते हैं।

image source - getty images

तनाव से बचें

तनाव दिल का सबसे बड़ा दुश्‍मन है, इसलिए दिल को बीमारियों से बचाने के लिए जरूरी है कि तनाव से दूर रहें। तनाव लेने रक्‍त संचार प्रभावित होता है, दिल के दौरे के लिए तनाव भी जिम्‍मेदार है।

image source - getty images

वजन रखें संतुलित

अधिक वजन रहने से हृदय की बीमारियों के होने का खतरा बढ़ जाता है, इसलिए वजन को नियंतत्रण में रखना बहुत जरूरी है। ऐसी डाइट लें, जिसमें वसा कम हो और फल-सब्जियों की मात्रा ज्यादा हो। इसके नियमित रूप से व्‍यायाम को अपनी दिनचर्या में शामिल करें।

image source - getty images

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK