त्‍वचा की रोजाना देखभाल के बेहतरीन उपाय

त्वचा में नमी बनाए रखना उसे पोषित करने का सर्वश्रेष्ठ तरीका है। साथ ही यह भी ध्यान रखना की उसकी ठीक प्रकार से भीतर तक सफाई हो, यह भी बेहद जरूरी होता है।

फैशन और सौंदर्य By Rahul Sharma / Nov 27, 2014
रोज करें त्वचा की देखभाल

रोज करें त्वचा की देखभाल

त्वचा में नमी बनाए रखना उसे पोषित करने का सर्वश्रेष्ठ तरीका है। साथ ही यह भी ध्यान रखना की उसकी ठीक प्रकार से भीतर तक सफाई हो, यह भी बेहद जरूरी होता है। विशेषज्ञों के अनुसार त्वचा की चमक बरकरार रखने के लिए सेहतमंद भोजन भी जरूरी होता है। कुल मिलाकर कहा जाए तो रोज कुछ छोटी-छोटी चीजों का ध्यान रख कर त्वचा को कांतिमय और निखारा बनाया जा सकता है। तो चलिये जानते हैं त्‍वचा की रोजाना देखभाल के कुछ बेहतरीन उपाय।
Images courtesy: © Getty Images

सही प्रकार से क्लिंज़िग

सही प्रकार से क्लिंज़िग

त्वचा की देखभाल एक रचनात्मक प्रक्रिया होती है जिसके लिए जरूरत के हिसाब से समाधान होने चाहिए। त्वचा की बुनियादी देखभाल का आरंभ क्लीन्जिंग अर्थात सफाई से होता है। इससे हम त्वचा पर व इसके भीतर मौजूद बैक्टीरिया और फफूंद, धूल-मिट्टी और पर्यावरण प्रदूषण से हुई गंदगी की सफा कर सकते हैं।
Images courtesy: © Getty Images

प्रत्येक प्रकार की त्वचा के लिए विशिष्ट देखभाल

प्रत्येक प्रकार की त्वचा के लिए विशिष्ट देखभाल

अपनी त्वचा की देखभाल व इसकी सुरक्षा के लिए सबसे जरूरी है कि आप अपनी त्वचा के हिसाब से सही प्रोडक्ट चुनें और उनका सही प्रकार से इस्तेमाल करें। अदाहरण के तौर पर, ड्राई स्किन की जरूरतें तैलीय स्किन से अलग होती हैं।
Images courtesy: © Getty Images

कमजोर क्षेत्रों पर विशेष ध्यान दें

कमजोर क्षेत्रों पर विशेष ध्यान दें

आपके चेहरे के कुछ भागों (जैसे आंखें के चारों तरफ, होंठ आदि) पर विशेष रूप से ठीक व नाजुक त्वचा होती है, ये भाग अधिक संवेदनशील और विशेष ध्यान देने लायक होते हैं। तो इन भागों को विशेष देखभाल की जरूरत होती है, खासतौर पर आंखों के आस-पास का भाग व होंठ।
Images courtesy: © Getty Images

कोमलता से करें सफाई

कोमलता से करें सफाई

संवेदनशील त्वचा की देखभाल मेकअप हटाने के साथ शुरू होती है। आपकी त्वचा का प्राकृतिक संतुलन बनाए रखने तथा असे तनाव से बचाने के लिए, प्रकृतिक पीएच मेकअप का उपयोग ही करें। क्योंकि ये विशेष रूप और कोमलता सेआपकी एपिडर्मिस को साफ करने के लिए तैयार किये जाते हैं।
Images courtesy: © Getty Images

आंखें: जोखिम वाला क्षेत्र

आंखें: जोखिम वाला क्षेत्र

आंखों के आसपास के क्षेत्र की त्वचा, चहरे के किसी अन्य भाग की तुलना में दर गुना नाजुक होती है। तो इस क्षेत्र का मेकअप अतारने व देखभाल के लिए विशिष्ट दिनचर्या का निर्धारण करना न भूलें।
Images courtesy: © Getty Images

एक्सफोलिएशन है ज़रूरी

एक्सफोलिएशन है ज़रूरी

सप्ताह में एक या दो बार एक उपयुक्त एक्सफोलिएशन उपचार का प्रयोग करें। लेकिन सुनिश्चित करें कि यह प्रभावी होने के साथ-साथ  कोमल भी होना चाहिए। बेहतर होगा कि इसके लिए किसी अच्छे प्राकृतिक पीएच एक्सफोलिएशन उत्पाद को चुनें।
Images courtesy: © Getty Images

मॉइस्चराइजिंग भी आवश्यक है

मॉइस्चराइजिंग भी आवश्यक है

डर्मिस 70 प्रतिशत पानी और एपिडर्मिस 15 प्रतिशत पानी से बना होता है। तो त्वचा को ठीक से मोश्चुराइज करने के लिए किसी ऐसे डेली मॉइस्चराइजिंग उत्पाद का चुनाव करें जो त्वचा के भीतर के पानी के स्तर को संतुलित रख सके।
Images courtesy: © Getty Images

हाइपोएलर्जेनिक मेकअप (hypoallergenic make-up)

हाइपोएलर्जेनिक मेकअप (hypoallergenic make-up)

आपकी त्वचा को सूट न करने वाले उत्पादों से होने वाली एलर्जी से बचने के लिए हाइपोएलर्जेनिक मेकअप का उपयोग किया जा सकता है। हाइपोएलर्जेनिक मेकअप को त्वचा की जरूरतों को पूरा करने के लिए विशेष रूप से तैयार किया जाता है। इसके अलावा सन केयर प्रोडक्ट का इस्तेमाल भी करें।
Images courtesy: © Getty Images

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK