• shareIcon

शरीर की अतिरिक्‍त वसा जलाने के तरीके

वजन कम कर रहे हैं तो फैट कम करने पर भी ध्‍यान दीजिए, इसके लिए जरूरी है कि सही तरीके से व्‍यायम करें और खानपान पर विशेष ध्‍यान दीजिए, पर्याप्‍त नींद लीजिए और खुद को हाइड्रेटेड रखें।

वज़न प्रबंधन By Nachiketa Sharma / Jul 02, 2014

वसा पर ध्‍यान दें

जब भी हम वजन कम करने के प्रयास करते हैं तो फैट को कम करने के बारे में ध्‍यान नहीं देते। जब भी हम वजन कम करने के प्रयास कम करते रहते हैं शरीर से मसल्‍स और शरीर का पानी घटता है, लेकिन जब हम ये तरीके छोड़ देते हैं फिर से मोटापे के शिकार हो जाते हैं। क्‍योंकि इससे हमारा मेटाबॉलिक रेट घट जाता है। वजन बढ़ने का मूल कारण तुरंत वजन घटने के लिए खाने में की गयी अनावश्यक कमी एवं परहेज है। खाना छोड़ देने से शरीर स्टारवेशन मोड में चला जाता है और वह खाए गए भोजन को खर्च करने के बजाय बॉडी फैट के रूप में जमा करने लगता है। इसलिए वजन कम करें साथ ही वसा पर भी ध्‍यान दें।

image source - getty

खानपान को सुधारें

शरीर का फैट 80 प्रतिशत सही खाने पर निर्भर करता है। मैक्रो और माइक्रो न्यूट्रीअंट्स के साथ स्वस्थ और संतुलित आहार का सेवन कीजिए। सबसे जरूरी यह है कि फास्ट फूड से तौबा करें। जहां तक हो सके घर पर तैयार खाना ही खायें। अगर आपके पास समय का अभाव है तो कच्चे फल व सब्जी या भांप से पकी सब्जियां खाएं।

image source - getty

व्‍यायाम पर ध्‍यान दें

शरीर से अतिरिक्‍त वसा तभी कम हो सकती है जब आप खनपान के साथ-साथ व्‍यायाम पर भी ध्‍यान देंगे। कम समय के लिए ही लेकिन एक्टिव व्‍यायाम कीजिए। हाल में हुए एक शोध से यह बात सामने आई कि घंटों वर्कआउट करने या मीलों दौड़ने के बजाय थोड़े-थोड़े समय के लिए एक्टिव एक्सरसाइज करना फैट को कम करने में काफी कारगर होता है। उदाहरण के लिए अगर आप ट्रेडमिल पर वॉकिंग कर रहे हैं तो अचानक से कुछ सेकेंड के लिए स्पीड बढ़ा दें और फिर से वॉकिंग पर वापस आ जाएं।

image source - getty

हैवी वेट उठायें

एक्‍स्‍ट्रा फैट तभी कम होगा जब आप जिम में व्‍यायाम के समय सामान्‍य भार से थोड़ा आगे बढेंगे और हैवी वेट उठाने की आदत डालेंगे। भारी वजन के साथ व्‍यायाम के दौरान यह ध्‍यान रखें कि आपकी पीठ सीधी हो।

image source - getty

शुगर को अलविदा कहिये

शुगर एक ऐसी चीज है, जिसका सेवन आपको अवश्य कम करना चाहिए। शुगर के कई छिपे हुए स्रोत भी होते हैं, इसलिए इसे कम करना अच्छा रहेगा। शुगर के विकल्प के तौर पर आप शहद, पाम शुगर और लिकरिश के अर्क का प्रयोग कर सकते हैं, इससे शरीर में फैट नहीं बढ़ेगा।

image source - getty

सोडियम का कम करें सेवन

बेशक आपके भोजन में नमक होना चाहिए, पर सोडियम नमक के बजाय आप पोटैशियम, लेमन और समुद्री नमक का भी सहारा ले सकते हैं। साथ ही काली मिर्च सहित कई मसालों के द्वारा आप नमक की जरूरतों को कम कर सकते हैं।

image source - getty

विटामिन सी बहुत जरूरी

विटामिन सी से कार्नीटाइन का स्राव होता है। यह एक ऐसा यौगिक है जो वसा को ऊर्जा में बदलने में मदद करता है। इसके अलावा विटामिन सी कॉर्टिसोल हार्मोन के स्राव को भी कम करता है जो कि तनाव के स्थिति में उत्पन्न होता है। कार्टिसोल के स्तर में परिवर्तन फैट का मुख्य कारण है।

image source - getty

कुछ आहार भी कम करते हैं फैट

नैचुरल तरीके से फैट कम करने के भी कई तरीके हैं। लहसुन, प्याज, अदरक, लाल मिर्च, गोभी, टमाटर, दालचीनी आदि कई आहार ऐसे हैं जो वसा को कम करने में मददगार होते हैं, इन्‍हें फैट बर्निंग फूड भी कहा जाता है। सुबह के वक्‍त कच्चा लहसुन और एक इंच अदरक का टुकड़ा खाना अच्छा रहता है। साथ ही, सुबह गर्म पानी को नींबू के रस और शहद के साथ लेना वजन कम करने का कारगर तरीका है। इसी तरह और भी कई तरीके हैं, जिसके जरिए आप अपने आहार में फैट बर्निंग फूड को शामिल कर सकते हैं।

image source - getty

ब्रेकफास्‍ट है जरूरी

ब्रेकफास्‍ट करने से शरीर पूरे दिन ऊर्जावान रहता है। अगर आपको लगता है कि सुबह का नाश्‍ता नहीं करने से शरीर का अतिरिक्‍त फैट कम हो जायेगा तो आप गलत हैं, इससे फैट बढ़ता है न कि घटता है। ब्रेकफास्‍ट न करने से ब्लोटिंग बढ़ता है और शरीर भूख की अवस्था में चला जाता है। यह शरीर में फैट जमा होने का मुख्य कारण है।

image source - getty

भरपूर नींद है जरूरी

वजन को संतुलित रखने और अतिरिक्‍त फैट को कम करने में भरपूर नींद की भी महत्‍वपूर्ण भूमिका होती है। कई शोधों में भी यह बात साबित हुई है अगर आप फिट रहना चाहते हैं तो 7-9 घंटे की नींद जरूर लें। लेकिन इससे अधिक और इससे कम सोने से भी वजन बढ़ता है।

image source - getty

पानी है जरूरी

कुछ लोग प्यासे, थके हुए और भूखे होने में फर्क नहीं कर पाते हैं और अंतत: शुगरयुक्‍त या फैटी फूड खाते हैं। इसलिए इससे बचने के लिए जरूरी है कि आप हमेशा साथ में पानी की बोतल रखें और समय-समय पर इसे पीते रहें। यह शरीर के विषाक्‍त पदार्थों को बाहर निकालता है और वजन को भी नियंत्रण रखने में मदद करता है। रोज 8-10 गिलास पानी का सेवन करना चाहिए।

image source - getty

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK