Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

ये 9 संकेत जो टूटते रिश्‍ते की है निशानी, हो जाएं सतर्क

दो प्यार करने वालों के बीच भी कभी-कभी कुछ कारणों से फांसले आने लगते हैं और फिर छोटी-छोटी बातों पर नोकझोंक शुरू हो जाती है। ये संकेत हो सकते हैं संबंधों के खात्मे का इशारा।

डेटिंग टिप्स By Atul ModiMar 10, 2015

टूटते रिश्ते के संकेत

कहते हैं सच्चे प्यार का साथ जन्म-जन्मांतर का होता है, लेकिन कभी-कभी कुछ लोगों के लिए एक जन्म साथ रहना भी महंगा पड़ जाता है। दो प्यार करने वालों के बीच भी कभी-कभी कुछ कारणों से फांसले आने लगते हैं और फिर छोटी-छोटी बातों पर नोकझोंक शुरू हो जाती है। माहौल ऐसा बन जाता है, मानो रिश्ते की एक्सपायरी डेट पास हो। इसलिए रिलेशनशिप में पैदा होने वाले नेगेटिव साइन्स को पहचाना और उन्हें सुधारना ज़रूरी है, ताकि रिश्ते में मिठास बनी रहे। आजकल रिश्तों की डोर काभी ढीली सी पड़ती जा रही है। तलाक के बढ़ते मामले भी चिंता का सबब बने हुए हैं। पिछले एक दशक में तलाक के मामलों में 56 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।

आए दिन लड़ाई

रिलेशनशिप में छोटी-मोटी नोकझोंक तो स भी के साथ चलती ही रहती है, लेकिन यदि यह हफ्ते में पांच दिन होने लगे, तो समझिए आपके बीच इगो प्रॉब्लम शुरू होने लगी है। ऐसे में दोनों लोगों को बैठकर एक दूसरे से अपने गिले-शिकवे दूर करने चाहिये।
Images courtesy: © Getty Images

केवल पैसों के लेन-देन तक

अगर रिश्ते में प्यार केवल तब तक है, जब तक आप दोनों एक दूसरे के लिए एटीएम मशीन बने हुए हैं, तो समझिए कि यह प्यार नहीं, बल्कि सौदा है। ऐसे रिश्ते कभी भी बहुत लंबे समय तक नहीं चलते। हमेशा ध्यान रखें कि किसी भी रिश्ते की नींव पैसा नहीं, बल्कि प्यार और विश्वास होता है।
Images courtesy: © Getty Images

साथी में सिर्फ कमियां ही नज़र आती हैं

यदि आपका पार्टनर हमेशा आपमें कमियां ही ढूंढता रहता है, और अब तो आलम यह है कि आपको भी उनमें सिर्फ कमियां ही नज़र आने लगी हैं, तो समझ लिजिए कि आप दोनों में दूरियां पैदा होने लगी हैं। वास्तव में तो एक-दूसरे के गुणों के साथ कमियां भी अपनाना ही सच्चे प्यार की निशानी है।
Images courtesy: © Getty Images

प्यार कहीं खो सा गया है

आपके बीच प्रेम और लगाव की कमी भी रिश्तों में दूरियों के बढ़ने का संकेत होता है। अगर पहले जैसे प्यार अब कहीं ढूंढने से भी नज़र नहीं आ रहा तो समझिए कि यह खतरे का संकेत है। रिश्ते के शुरूआती दिनों के बाद रोमांस का खुमार धीरे-धीरे थोड़ा कम होता चला जाता है। लेकिन ऐसा भी नहीं कि प्रेम बिलकुल खत्म ही हो जाए।  
Images courtesy: © Getty Images

व्यवहार में बदलाव

व्यवहार में बदलाव आपके बीच दूरियां बढ़ने का एक बड़ा संकेत हो सकता है। यदि आपके साथी का अब आपकी बातों पर ध्यान नहीं जाता, वह गंभीर बातों को सुनकर भी अनसुना कर देता है या फि आपकी बातों का जवाब अकसर झुंझुलाकर देता है। बेवजह गुस्सा करना इत्यादि। यदि ये सारे लक्षण उनके व्यवहार में नजर आ रहे हैं तो आप समझ लें कि ये खतरे की घंटी है।
Images courtesy: © Getty Images

नहीं चाहिए साथ

यदि आपका साथी आपके साथ अंतरंग पल नहीं बिताना चाहता या चाहती तो समझ लीजिए कि दूरियां बढ़ने लगी हैं। यदि बाहर डेट पर जाने पर भी  साथी का उपेक्षापूर्ण व्यवहार दूसरों को यह जाता रहा है कि आपके संबंधो में कड़वाहट आ रही है, तो यह स्थिति कष्टपूर्ण हो सकती है। ये स्थिति आपके रिश्ते के लिए खतरे की घंटी हो सकती है।   
Images courtesy: © Getty Images

लाइफ बोरिंग होने लगे

अगर आपको अपने साथी के साथ लाइफ बोरिंग लगने लगे, तो इसका दोष आप एक-दूसरे पर नहीं लगा सकते। ऐसे में आप दोनों को एक-दूसरे के साथ ज़्यादा से ज़्यादा वक्त गुज़ारना चाहिए, ताकि खोई हुई खुशी को वापस पाया जा सके।
Images courtesy: © Getty Images

किसी और को पसंद करने लगें तो

अगर साथी का झुकाव किसी तीसरे इंसान की तरफ होने लगे, तो यह रिश्ता टूटने की सबसे बड़ी वजह बन सकती है। ऐसे में पार्टनर को समझना चाहिए कि वो धोखा दे रहा है और उसका एक कदम कई ज़िंदगियां खराब कर सकता है। अगर इस पर शुरू में ही शालीनता और विवेक के साथ नियंत्रण पा लेंगे, तो बाद में सभी सुखी रह सकते हैं।
Images courtesy: © Getty Images

एक-दूसरे पर शक

एक बार अगर रिश्ते में शक पैदा हो जाए, तो समझें कि आपका रिश्ता एक्सपायरी की ओर जा रहा है। इसलिए ज़रूरी है कि आप सकारात्मक रहें, और छोटी-छोटी बातों को नज़रअंदाज़ करें और यदि मन में कोई नकारात्मक विचार आए तो भी उन्हें एक-दूसरे से प्यार से बात कर क्लियर करें।
Images courtesy: © Getty Images

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK