• shareIcon

शरीर में खून का थक्का बनने के लक्षण क्या है, जानें

खून के थक्‍के कभी-कभी ऐसी जगह पर बन जाते हैं, जहां वास्तव में हमें उनकी जरूरत नहीं होती है और ऐसे में हमारी जानकारी के बिना यह भविष्‍य में घातक बीमारियों का कारण बन सकते हैं। इसलिए, खून के थक्के के लक्षणों की पहचान और तत्काल चिकित्सा सहायता लेना बहुत

अन्य़ बीमारियां By Rahul Sharma / Dec 29, 2016

शरीर में खून के थक्का के लक्षण

हमारे शरीर के प्रतिरक्षा तंत्र में से एक खून का थक्‍का यानी ब्‍लड क्‍लॉट भी है। आपने देखा होगा कि जब हमारे कट लगता है तो तुरंत खून बहने लगता है। उस पल में, हमारा खून गाढ़ा होकर पपड़ी की तरह जमकर खून को बहने से रोकता है। लेकिन खून के थक्‍के कभी-कभी ऐसी जगह पर बन जाते हैं, जहां वास्तव में हमें उनकी जरूरत नहीं होती है और ऐसी स्थितियों में हमारी जानकारी के बिना यह भविष्‍य में घातक बीमारियों का कारण बन सकते हैं। रक्त के थक्के स्ट्रोक या दिल का दौरा पड़ने का कारण भी बन सकते हैं। डॉक्‍टरों का मानना है कि खून का एक थक्का भी टूट कर अगर खून में मिल जाए तो वो फेफड़ों के किसी भी नस में खून के बहाव को रोक सकता है, जो इंसान की जान भी ले सकता है। इसलिए, खून के थक्के के लक्षणों की पहचान और तत्काल चिकित्सा सहायता लेना बहुत महत्वपूर्ण होता है।

Image Source : Getty







 


दर्द या अकड़न महसूस होना

अगर किसी को दर्द महसूस होता है तो यह खून के थक्‍के के लक्षणों में से एक हो सकता है। अगर थक्के पर हाथ रखें व हल्की गर्माहट सी महसूस होती है। उठने या बैठने पर दर्द होता है। आपको तुरंत किसी अच्‍छे डॉक्‍टर से संपर्क करना चाहिए।

Image Source : Getty

पैरों में सूजन

पैरों में सूजन को डीप वेन थ्रोम्बोसिस के रूप में जाना जाता है। यह एक ऐसी अवस्‍था है जिसमें ब्‍लड सर्कुलेशन प्रभावित होती है। यह अवस्‍था महत्‍वपूर्ण अंगों के लिए ऑक्‍सीजन के हस्‍तांतरण रोकता है, इसलिए इसका तुरंत इलाज किया जाना चाहिए।

Image Source : Getty

अस्पष्टीकृत खांसी

अस्पष्टीकृत खांसी भी खून के थक्के के मुख्य लक्षणों में से एक है, जिसके लिए आपको अपने हार्ट रेट और सांसों पर नजर रखने की जरूरत है। बहुत ज्यादा गंभीर अवस्था में हल्का बुखार हो जाता है। किसी भी रूप में किसी भी तरह की अनियमितता होने पर तुरंत डॉक्टर को सूचित किया जाना चाहिए।

Image Source : Getty

त्‍वचा पर लाल धारियां

रक्‍त के थक्‍के नसों के साथ लाल धारियों के रूप में दिखाई दे सकते हैं। इसे सामान्‍य नसों की तरह नहीं माना जा सकता है। यानी जिस जगह पर थक्का होगा उसके आसपास त्वचा का रंग भी बदल गया होगा। त्वचा लाल या नीले रंग की हो गई होगी। इसलिए इसके लिए तत्‍काल चिकित्‍सा सहायता लिया जाना बहुत जरूरी है।

Image Source : Getty

सांस की तकलीफ

सांस की तकलीफ भी फेफड़ों में खून के थक्के के लक्षणों में से एक है। यानी जब ये थक्का फेफड़ों में होता हैं तो सांस लेने में तकलीफ होती है और सीने में दर्द होता है। अगर आपको सीने में दर्द, चक्कर आना या रेसिंग हार्ट जैसे लक्षण दिखाई देते हैं तो तुरंत किसी चिकित्‍सक से सलाह लें।

Image Source : Getty

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK