• shareIcon

सेक्‍स समस्‍यायें और इसके बारे में चिकित्‍सक से कैसे करें बात

सेक्‍स समस्‍याओं को सामान्‍य बीमारी की तरह नहीं लेना चाहिए, बल्कि इसके बारे में खुलकर चिकित्‍सक से बात करनी चाहिए।

सभी By Pradeep Saxena / Apr 04, 2014

सेक्‍स समस्‍यायें और चिकित्‍सक

सेक्‍स समस्‍या को सामान्‍य बीमारी की तरह नहीं लेना चाहिए, बल्कि इसके बारे में खुलकर चिकित्‍सक से बात करनी चाहिए। सेक्‍स समस्‍या का समाधान तभी हो सकता है जब उसका समय पर निदान और उपचार हो। लेकिन यदि आप इन समस्‍याओं को लेकर शर्म करेंगे तो समस्‍या गंभीर हो सकती है। यदि इसके बारे में सही जानकारी न हो तो सामान्‍य सेक्‍स समस्‍या एड्स जैसी जानलेवा बीमारी में तब्‍दील हो सकती है। आगे के स्‍लाइडशो में जानिए कि सेक्‍स समस्‍याओं क बारे में चिकित्‍सक से कैसे बात करें।

image courtesy-gettyimages

सामान्‍य सेक्‍स समस्‍यायें

पुरुषों और महिलाओं में अलग-अलग प्रकार की सेक्‍स समस्‍यायें हो सकती हैं। इरेक्‍टाइल डिसफंक्‍शन, शुक्राणुओं की समस्‍यें, यौनेच्‍छा की कमी आदि सामान्‍य सेक्‍स समस्‍यायें पुरुषों को होती हैं। वहीं दूसरी तरफ महिलाओं के योनि से चिपचिपा सफेद द्रव निकलना, यौन इच्‍छा में कमी, स्‍तनों में दर्द, योनि में संक्रमण जैसी सामान्‍य सेक्‍स समस्‍या होती है। इनके समय रहते उपचार के लिए चिकित्‍सक से संपर्क करना है जरूरी।

image courtesy-gettyimages

डॉक्‍टर से मिलना क्‍यों जरूरी

संकोच और शिक्षा का अभाव होने के कारण लोग सेक्‍स समस्‍या को छुपाते हैं। यदि जननांगों में खुजली, संक्रमण, या फिर सेक्‍स संबंधित अन्‍य समस्‍या है तो इसे चिकित्‍सक को बताने में शर्म कैसी। कई बार तो असुरक्षित तरीके से यौन संबंध बनाने के बाद एसटीडीज होने की संभावना बढ़ जाती है। यदि इसका समय पर उपचार न हुआ तो य‍ह एड्स का रूप ले सकता है। इसलिए चिकित्‍सक से मिलकर परामर्श लेना बहुत जरूरी।

image courtesy-gettyimages

आप अकेले नहीं हैं

यौन समस्‍या के बारे में बात करने में शरम होती है, लेकिन इसे छुपाने से अच्‍छा है इसका उपचार करायें नहीं तो यह गंभीर समस्‍या बन सकती है। ऐसा भी नहीं कि यह कोई अपवाद वाली बीमारी है जिसके शिकार केवल आप हैं, बल्कि इस समस्‍या से ग्रस्‍त हजारों लोग हैं। तो यौन रोग का समय पर उपचार कराने के लिए चिकित्‍सक से मिलें।

image courtesy-gettyimages

कैसे मिलें डॉक्‍टर से

यौन समस्‍याओं को छुपायें नहीं बल्कि इनके बारे में सही परामर्श और उचित उपचार करायें। चिकित्‍सक से मिलने से पहले उसके बारे में जानकारी इकट्ठा कर लें, और यौन समस्‍याओं के विशेषज्ञ से ही मिलें।

image courtesy-gettyimages

तैयारी के साथ जायें

चिकित्‍सक से मिलने जा रहे हैं तो पूरी तैयारी कर लीजिए, कहीं ऐसा न हो जल्‍दबाजी में आप सारी जानकारी देना भूल जायें। यदि आप अपने यौन समस्‍या संबंधित जानकारी को पहले से तैयार करके जायेंगे तो डॉक्‍टर से बात करने में आपको बिलकुल भी समस्‍या नहीं होगी और आसानी से आप अपनी बात रख पायेंगे।

image courtesy-gettyimages

झूठ न बोलें

यौन समस्‍याओं जैसे गुप्तांग में संक्रमण के बारे में चिकित्‍सक से बात करते वक्‍त लोग सही बात नहीं बताते और इस समस्‍या के मूल कारणों को छिपाते हैं। इसकी वजह से डॉक्टर को समस्या की मूल वजह पता ही नहीं चल पाती और इस वजह से मरीज का सही तरीके से इलाज करने में उन्हें परेशानी होती है। कई बार समस्या का मूल का कारण पता नहीं होने के कारण इलाज के बाद भी समस्या पूरी तरह से खत्म नहीं हो पाती और बाद में भी यौन समस्‍या हो जाती है।

image courtesy-gettyimages

उपचार के बारे में पूछें

यौन समस्‍या के बारे में चिकित्‍सक से पूरी जानकारी देने के अलावा उसके उपचार के बारे में भी जानकारी लें। डॉक्‍टर से मिलने के बाद यह जानने की कोशिश जरूर करें कि उसका उपचार कब तक हो पायेगा और क्‍या यह दोबारा भी उभर सकता है या नहीं।

image courtesy-gettyimages

सहमत न हों तो

यदि आप चिकित्‍सक की बातों से सहमत न हों या आपके मन में कोई सवाल हो जिसका जवाब आपको अच्‍छे से न मिला हो तो उसे दोबारा पूछें। अपनी बात को स्‍पष्‍ट तरीके से रखें और उसकी जानकारी लें।

image courtesy-gettyimages

जरूरी जांच भी करायें

चिकित्‍सक से मिलने से पहले जरूरी जांच अवश्‍य करा लें। जांच में यौन रोग के सही कारणों और उसके फैलाव के बारे में जानकारी हो जाती है। यदि आपकी जांच अधूरी है तो इसके लिए भी आप चिकित्‍सक से परामर्श ले सकते हैं।

image courtesy-gettyimages

निर्देशों का पालन करें

चिकित्‍सक से मिलने के बाद एक अच्‍छे मरीज की तरह उसके दिशा-निर्देशों का पालन करें। चिकित्‍सक से जिनसे परहेज करने की हिदायत दी हो उससे बचने की कोशिश करें। दवाओं को समय पर लें और नियमित दिनचर्या का पालन करतें रहें। इसके अलावा सकारात्‍मक सोचें और चिकित्‍सक के संपर्क में हमेशा रहें।

 

image courtesy-gettyimages

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK