Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

इन कारणों से ओरल सेक्‍स से रहें दूर

ओरल सेक्स के दौरान सावधानी और साफ-सफाई का ध्‍यान न रखने से कई प्रकार की समस्याएं हो सकती है। आइए जानें उन कारणों के बारे में जिनके कारण ओरल सेक्‍स से दूर रहना चाहिए।

सभी By Pradeep SaxenaApr 05, 2014

ओरल सेक्‍स

ओरल सेक्‍स के जरिये दो लोग एक दूसरे से भावनात्‍क रूप से जुड़ने के साथ-साथ मानसिक तौर पर भी पास आ जाते हैं। इससे उन्‍हें तनाव को दूर करने में मदद मिलती है। कई लोग यौन विविधता के कारण ओरल सेक्स करते हैं। लेकिन ओरल सेक्स के दौरान सावधानी और साफ-सफाई का ध्‍यान न रखने से कई प्रकार की समस्याएं हो सकती है। आइए जानें उन कारणों के बारे में जिनके कारण ओरल सेक्‍स से दूर रहना चाहिए।

ओरल सेक्‍स के जोखिम

लोग अपनी सेक्‍स लाइफ में सुधार करने के लिए या आर्गेज्‍म की प्राप्ति के लिए ओरल सेक्‍स का इस्‍तेमाल करते हैं। ओरल  सेक्स भी वयस्क रिश्तों का एक सुखद और स्वस्थ भाग हो सकता है लेकिन इससे जुड़ी बहुत सी बातों से वह अनजान हैं जैसे सेक्सुअली ट्रांसमिटिड डिजीज, एचआइवी या गले का कैंसर।

यीस्‍ट इंफेक्‍शन का खतरा

ओरल सेक्‍स से यीस्‍ट इंफेक्‍शन होने का खतरा ज्‍यादा होता है। महिला की योनि में यीस्ट इन्फेक्शन होने पर उसके साथ ओरल सेक्‍स करने से पुरूष को भी यीस्ट इन्फेक्शन हो सकता है।

संक्रमित बीमारियों का खतरा

यदि पुरूष और महिला दोनों में से किसी को कोई संक्रमित बीमारी है तो वह भी दूसरे पार्टनर को फैलने की संभावना बढ़ जाती है। जैसे असुरक्षित ओरल सेक्स से होने वाली कई बीमारियां (एसटीडीज) जिनमें एचआईवी, दाद-खाज, सिफलिस, गोनरिया और वाइरल हेपाटाइटिस आदि शामिल हैं।

ओरल कैंसर

एक शोध के अनुसार, मुंह और गले के कैंसर का कारण ओरल सेक्स भी है। ओरल सेक्स से पैपीलोमा नाम का कैंसर वायरस निकलता है जो सेक्स के दौरान एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में पहुंच जाता है और मुंह और गले का कैंसर बन सकता है।

ह्यूमन पेपीलोमा वायरस

हाल ही में मौत से लड़कर जिंदगी जी रहे हॉलीवुड एक्‍टर माइकल डगलस ने भी इस बात का खुलासा किया है कि उनके कैंसर की मुख्‍य वजह ओरल सेक्‍स है। उन्‍होंने कहा कि वह महिलाओं से ओरल सेक्‍स करते थे। अगस्‍त 2010 से लेकर जनवरी 2011 तक कैंसर से लड़ने के बाद अब माइकल सामान्‍य जीवन जी रहे हैं। डगलस कहते हैं कि ह्यूमन पेपीलोमा वायरस के कारण उन्‍हें गले का कैंसर हुआ। यह वायरस सेक्‍स के दौरान फैलता है।

विचित्र अनुभव

कई बार ओरल सेक्‍स के दौरान योनिमार्ग से निकलने वाले सफेद पदार्थ मुंह में आ जाता है। जिससे पार्टनर को अच्‍छा नहीं लगता। इसके अलावा इस वाइट डिस्‍चार्ज को मुंह में लेने से इंफेक्‍शन का खतरा भी बढ़ जाता है।

एचपीवी संक्रमण

टोंसिल और जीभ के नीचे के हिस्से में कैंसर की वजह एचपीवी संक्रमण को ही माना जा रहा है। ओरल सेक्स से एचपीवी का संक्रमण होता है। इस स्थिति में ओरल सेक्स को ही टोंसिल कैंसर की बढ़ी वजह माना जा रहा है। एचपीवी के बारे में एक मुख्य बात है कि एचपीवी का संक्रमण मनुष्य के शरीर की प्रतिरोधक क्षमता समाप्त कर देता है।

एचआईवी संक्रमण का खतरा

एक महिला के साथ ओरल सेक्‍स करने से उसका पार्टनर एचआईवी के संक्रमण के जोखिम को भी वहन करता है क्‍योंकि संक्रमित योनि से निकालने वाला तरल पदार्थ और रक्त उसके मुंह में जाता है। ओरल सेक्स के दौरान मुंह के घाव या मसूढ़ों से निकलने वाला रक्त जब योनि में कट या घावों में के संपर्क में आता है तो एचआईवी का खतरा बढ़ जाता है।

इंफेक्शन का खतरा

मासिक धर्म के दौरान पार्टनर के साथ ओरल सेक्‍स करने से इंफेक्शन होने का खतरा बढ़ जाता है। इसके अलावा ओरल सेक्स में सेक्स पार्टनरों की संख्या बढ़ने से भी इंफेक्‍शन होने की संभावना भी बढ़ जाती है।

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK