• shareIcon

खाने की लत को कम करेंगे ये ट्रिक्स

खाना हमारे शरीर को ऊर्जा देता है, लेकिन तदात से ज्यादा खाना हमें दुख देता है, लेकिन खाने की लत को कुछ ट्रिक्स की मदद से कम किया जा सकता है।

स्वस्थ आहार By Rahul Sharma / May 09, 2014

ओवरईटिंग

खाना हर किसी की पसंद होता है। इससे ही हमारे शरीर को काम करने की ऊर्जा मिलती है लेकिन यह ऊर्जा संतुलित मात्रा में मिले तभी ठीक रहती है अन्था ज्‍यादा भोजन करने के दुष्परिणाम झेलने पड़ सकते हैं। इसे ओवरईटिंग कहा जाता है। नियमित रूप से ओवरईटिंग करने वाले लोग बिंज ईटिंग डिसॉर्डर का शिकार होते हैं। ईटिंग और ओवरईटिंग में अंतर है। भूख का मतलब है कि हमारा शरीर संकेत दे रहा है कि उसे ऊर्जा की ज़रूरतत है और हमें कुछ खाना चाहिये। लेकिन जब आपका शरीर भोजन को देखता, सूंघता या भोजन के बारे में सोचता है और मस्तिष्क तुरंत खाने का संकेत देने लगता है तो वह ओवरईटिंग होती है। हालांकि कुछ ट्रिक्स की मदद से इसे काबू किया जा सकता है। चलिये जानें खाने की लत को कम करने वाले ट्रिक्स।
Image: conscioushealth.net

बिंज ईटिंग डिसॉर्डर

एक पकोड़े या समोसे से क्या होता है? होता है मेरे मित्र..... यह छोटी-छोटी चीजें मोटापे की वजह बनती हैं। हाई कैलरी स्नैकिंग जैसे कि पकौड़े, समोसे, नमकीन, बिस्कुट और बिंज ईटिंग यानी बीच-बीच में छुटपुट खाते रहने की अनियंत्रित आदत वजन बढ़ाने की बड़ी वजह होती है। एक मीठे बिस्कुट में भी करीब 50 कैलरी होती है। इसलिए स्नैक्स और खाने के बीच बिंज ईटिंग से बचने की कोशिश करें।
Image: cyclicx.com

पूरा ध्यान लगाकर खाएं

जब भी खाना खाएं, शांति से और धीरे-धीरे चबा कर खाएं। साथ ही अपना ध्यान खाने पर ही रखें। देखा जाता है कि अधिकतर लोग टीवी के सामने बैठ कर खाना खाते हैं, और उनका ध्यान खाने की बजाय टीवी पर होता है और वे अधिक खा लेते हैं। कई लोग किताबें पढ़ते हुए या कंप्यूटर आदि पर काम करते हुए या सिनेमा हॉल में भी खाते रहते हैं, इसे माइंडलेस ईटिंग कहते हैं। लेकिन यदि स्वस्थ रहना है तो खाते समय खाने पर ही ध्यान लगाएं।
Image: goddessofthegarden.com

कैलरी संतुलित करें

यदि आपको 2200 कैलरी चाहिये, लेकिन ओवरईटिंग करते हुए आपने 3000 कैलरी का सेवन किया तो यह अतिरिक्त 800 कैलरी वसा में बदलकर परतों के रूप में शरीर के विभिन्न भागों में जम जाती है। लेकिन अगर आप संतुलन बनाए रखेंगे तो आपका वजन कभी नहीं बढ़ेगा। जैसे अगर आपने अधिक मात्रा में खाना खा लिया है तो अगला खाना कम मात्रा में खाएं।
Image: foodnavigator.com

स्ट्रेस ईटिंग से बचें

कई बार जब व्यक्ति अत्यधिक तनाव में होता है तो उसके खाने की इच्छा और तीव्र हो जाती है। यह स्ट्रेस ईटिंग उन लोगों में अधिक होती है, जो जल्द से जल्द तनाव से बाहर आना चाहते हैं। लेकिन यह हानिकारक है, क्योंकि अत्यधिक तनाव के समय बिना सोचे-समझे खाने से थोड़ी देर के लिए शरीर को ऊर्जा मिल जाती है, पर शरीर पर इसके हानिकारक प्रभाव होते हैं। इस बात का ख़याल रखें।
Image: stylenheat.com

खाने को ठीक से चबाएं

शोध से पता चलता है कि वो महिलाएं जो खाने को धीरे-धीरे ठीक प्रकार से चबाकर खाती हैं, वे समान्य महिलाओं से 70 प्रतिशत तक कम कैलोरी उपयोग में लाती हैं। खाने को ठीक से चबाने से ना सिर्फ जरूरत का ही भोजन खाया जाता है बल्कि ऐसे हार्मोन बनते हैं जो पाचन क्रिया में सहायक होते हैं।
Image: spdstar.org

रसोई से हटाएं ये सामान

भोजन धीरे-धीरे करने का मक़सद केवल धीरे चबाने से नहीं है बल्कि अपने आहार विकल्पों को कम करना भी है। डिब्बाबन्द, पैकेटों और फ्रोज़न खाद्य पदाथों को  अपनी रसोई से हटायें और उनकी जगह हेल्दी भोजन रखें।  
Image: singlemindedwomen.com

भोजन से पहले पानी पिये

अपने मुख्य पकवान से लगभग आधा घंटा पहले एक गिलास पानी पियें या एक छोटी कटोरी सूप लें। अपने भोजन के साथ भी थोड़ा-थोड़ा पानी पियें। इससे आप ज़रूरत से ज़्यादा भोजन नहीं कर पाते और आपको पेट भरने की अनुभूति होती है।
Image: idiva.com

छोटे बर्तनों का उपयोग करें

आपकी प्लेट में जितना ज्यादा खाना होगा आप उतना ही ज्यादा खआ जाएंगे। इससे बचने के लिए छोटी प्लेट व अन्य बर्तनों का उपयोग करें। बर्तनों का आकार कम होने पर मानसिक तौर पर भी कम खाने में सहायता मिलती है।
Image: bonappetit.com

खाने से पहले शांत रहें

भोजन करने से पहले नाक से गहरी सांसें लें और मुंह से बाहर छोड़ें। जब आप ऐसा कर रहे हों तो अपनी सांस को थोड़ी देर के लिये रोकें और मुंह से धीरे धीरे बाहर छोड़ें। इससे खाना शुरू करने से पहले तनाव भी कम होता है और ज़रूरत के हिसाब से ही खाया जाता है।  
Image: sportsxfitness.com

आहार में फाइबर ज्यादा लें

भोजन में फाइबर की मात्रा बढ़ाएं। ये ना सिर्फ आपके स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद होता है बल्कि सुपाच्य भी होता है। इसलिए दालें, अनाज व चोकर युक्त आटे का ही उपयोग करें । हां सप्ताह में कभी-कभी स्वाद बदलने के लिए आप थोड़ा चटपटा खा सकते हैं।      
Image: mnn.com

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK