• shareIcon

जरूरत से ज्यादा व्यायाम हो सकता है नुकसानदेह

व्यायाम करना फिट रहने के लिए जरूरी है लेकिन जरूरत से ज्यादा व्याया आपको फिट रखने के बजाय बीमार कर सकता है जानिए कैसे।

एक्सरसाइज और फिटनेस By Anubha Tripathi / Mar 01, 2014

ओवर एक्सरसाइज के नुकसान

ओवर एक्सरसाइज तब होती है जब जब कोई व्यक्ति किसी भी शारीरिक गतिविधि या एक्सरसाइज को जरूरत से ज्यादा करने लगता है। ज्यादा एक्सरसाइज करना लाभदायक होने की जगह हानिकारक हो जाती है। जब तक आप अपने शरीर की जरूरत के अनुसार एक्सरसाइज कर रहे हैं तो आप अपने आपको तरोताजा महसूस करेंगे, पर जब यही एक्सरसाइज आप एक निश्चित स्तर से ऊपर ले जाते हैं तो आपको कई प्रकार के शारीरिक नुकसान होने की आशंका बन जाती है। आइए जानें क्या हैं वे नुकसान-

ऑस्टियोऑर्थराइटिस

अगर आप जरूरत से ज्यादा व्यायाम करते हैं तो आप अनजाने में अपने घुटनों को क्षति पहुंचा रहे हैं। यही नहीं इससे ऑस्टियोऑर्थराइटिस की संभावना भी बढ़ती है। यूनीवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, सान फ्रांसिस्को’ (यूसीएसएफ) के क्रिस्टोफ स्टेलिंग का कहना है कि अत्यधिक शारीरिक सक्रियता वाले लोगों के घुटनों में असामान्यताएं विकसित होने का खतरा अधिक होता है और इस तरह इन लोगों में ऑस्टियोऑर्थराइटिस की समस्या पैदा हो सकती है।

मानसिक स्वास्थ्य

जिम में ज्यादा पसीना बहाने से आपकी बॉडी पर असर हो ना हो लेकिन आपका मानसिक स्वास्थ्य जरूर बिगड़ सकता है। शोध के मुताबिक ज्यादा देर तक व्यायाम करने से  मानसिक स्वास्थ्य बिगड़ सकता है जिससे सोचने, समझने और राय बनाने की क्षमता घट जाती है। रिपोर्ट कहती है कि यह खासकर महिलाओं के लिए अधिक घातक है। ऐसी महिलाएं जो जल्दी स्लिम दिखने के लिए अधिक देर तक जिम में समय बिताती हैं उनका मानसिक संतुलन किसी भी उम्र में डगमगा सकता है और उनकी सोचने और समझने की शक्ति क्षीण हो सकती है।

मेनोपॉज की समस्या

न्यू साइंस रिपोर्ट के मुताबिक ज्यादा देर तक व्यायाम करने से महिलाओं के शरीर में एस्ट्रोजेन हार्मोन की दर में वृद्धि होने लगती है जिससे रजोनिवृति का चक्र में परिवर्तन हो जाता है। इसलिए आप अपने व्यायाम के समय जो ज्यादा लंबा ना खींचें और अपनी शारीरिक क्षमता के मुताबिक ही व्यायाम करें।

ईटिंग डिसऑर्डर

अत्यधिक व्यायाम ईटिंग डिसऑर्डर का कारण हो सकता है। एक नए अध्ययन के नतीजे बताते हैं कि शारीरिक व्यायाम के बारे में महज सोचने भर से इन्सान ज्यादा खाना शुरू कर देता है। डेली मेल की एक रिपोर्ट के मुताबिक जो लोग व्यायाम करने के बारे में पढ़ते या सोचते हैं, वह 50 फीसदी ज्यादा खाना शुरू कर देते हैं। ऐसा ‘सबकांशस रिवार्ड थ्योरी’ की वजह से होता है जिसके अनुसार व्यायाम के बाबत जब शारीरिक या मानसिक प्रयास किए जाते हैं तो लोग ज्यादा खाकर खुद को फायदा पहुंचाते हैं।

दिल के लिए नुकसानदेह

यह जरूरी नहीं है कि व्यायाम हमेशा स्वास्थ्यवर्धक ही हो। जरूरत से ज्यादा व्यायाम आपके दिल के लिए खतरनाक हो सकता है। प्लस वन पत्रिका में प्रकाशित इस अध्ययन के मुताबिक ज्यादा व्यायाम करने से कुछ लोगों में दिल को नुकसान पहुंचने की आशंका बढ़ जाती है। शारीरिक क्षमता से ज्यादा व्यायाम करने वाले लोगों में रक्तचाप के स्तर में भी बढ़ोत्तरी होती है जो हृदयाघात के खतरे को बढ़ाता है।

थकान

अक्सर लोग ज्यादा और जल्दी फायदे के लिए जिम में ज्यादा व्यायाम करने लगते हैं, जिससे उन्हें थकावट रहने लगती है। ऐसे में उन्हें अपने ट्रेनर की सलाह के मुताबिक ही व्यायाम करने चाहिए। व्यायाम के जितने सेट करने को कहा जाए, उतने ही करें। थकान के कारण आप चिड़चिडे से हो जाते हैं और आप अच्छा महसूस नहीं कर पाते हैं।

मांसपेशियों में दर्द

जिम जाने वाले लोगों को यह गलतफहमी होती है कि अगर व्यायाम के दौरान दर्द ना हो तो इसका मतलब है कि फायदा नहीं हो रहा है। अक्सर व्यायाम के दौरान मांसपेशियों में खिंचाव के कारण दर्द की समस्या हो सकती है। अगर आप भी व्यायाम के दौरान ऐसे ही किसी दर्द का अनुभव करें तो तुरंत रुक जाएं। अगर थोड़ी देर आराम के बाद भी दर्द में आराम ना मिलें तो डॉक्टर से संपंर्क करें।

नींद की समस्या

ज्यादा व्यायाम करने वाले लोगों को रात को ठीक से सो नहीं पाते हैं क्योंकि बहुत ज्यादा थकान और सुस्ती का अनुभव करते हैं। आपका दिमाग हर घंटे सौ मील की रफ्तार से दौड़ता है उसे रोकना या स्थिर करना आपके हाथ में नहीं होता है जिसकी वजह से नींद प्रभावित होती है। इसके अलावा व्यायाम से शरीर में होने वाले दर्द के कारण भी नींद की समस्या हो सकती है।

इम्यून सिस्टम पर असर

जब आप शारीरिक क्षमता से ज्यादा व्यायाम करें तो इसका असर आपके इम्यून सिस्टम पर भी होता है। कमजोर इम्यून सिस्टम के कारण आप जल्द ही किसी भी संक्रमण के चपेट में आ सकते हैं। व्यायम के दौरान जब आपको लगे कि आप थक गए हैं तो व्यायाम करना बंद कर दें। शरीर में होने वाले दर्द और कमजोर इम्मयून सिस्टम के कारण आप बीमारियों का सामना नहीं कर पाते हैं।

कमर दर्द का कारण

शरीर के एक हिस्से की लगातार एक्सरसाइज करने से चोट लगने की आशंका बढ़ जाती है। मजबूती बढ़ाने के लिए जरूरी है कि आप व्यायाम उस सीमा तक ही करें, जहां तक आप सह सकने में सक्षम हों। भारी वजन उठाने का फर्क अक्सर कमर पर पड़ता है। गलत कसरत करने से कूल्हों के जोड़ पर भी असर पड़ता है। इससे उस स्थान पर खून का प्रवाह गड़बड़ा जाता है।

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK