• shareIcon

जानें कैसे प्राकृतिक रूप से दांतों से हटायें प्‍लेक टार्टर

दांतों में प्लार्क की समस्या एक आम शिकायत हो गई है। इसके इलाज के लिए आप डॉक्टर के पास जाने का सोच रहें तो पहले इन घरेलु नुस्खों को अपनाकर देखें। विस्तार के लिए ये स्लाइडशो पढ़े।

मुंह स्‍वास्‍थ्‍य By Aditi Singh / Mar 18, 2016

तेल से गरारा

हर सुबह करीब 20 मिनट नारियल, तिल या जैतून के तेल से गरारा करने से दांतों के बीच की फंसी हुई गंदगी बाहर आ जाती है। गरारा करने के बाद सामान्य तरह से ब्रश कर लें। इस बात की पुष्टि 2015 में नाइजीरियन मेडिकल जर्नल की एक शोध में छपी एक शोध से हुआ था।  कि नारियल का तेल दांतों में मैल जमने से रोकता है।  इससे आप अपने मंसूड़ो को भी मालिश  करे।
Image Source-Getty

दांतो का पीलापन दूर बेकिंग सोडा

दांतों के पीलेपन को दूर करने के लिए भी बेकिंग सोडा एक कारगर उत्पाद है। पीलापन दूर करने के साथ ही ये प्लार्क भी दूर करने का काम करता है। ब्रश में थोड़ी सी मात्रा में बेकिंग सोडा लगाकर ब्रश करने से दांतों का पीलापन चला जाता है। पर इसके ज्यादा इस्तेमाल से बचना चाहिए। इसमें अल्काइन सब्सटेंस में एंटीबैक्टीरियल, एंटीफंगल, एंटीसेप्ट‍िक और एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण मौजूद होते हैं। इस बात की पुष्टि 2008 में जर्नल ऑफ क्लीनीकल डेंटिसिट्री में छपी एक शोध से हुआ था।
Image Source-Getty

अमरूद और इसकी पत्तियां

अमरूद और इसकी पत्तियां ना सिर्फ दांतों से प्लार्क की समस्या को दूर करती है बल्कि दर्द में भी आराम देती है।  दांत दर्द पीड़ितलोगों के लिए अमरूदएक कारगर फल है। आपके दांत में दर्द रहता है तो अमरूद के पत्तों को पानी में उबाल लें। उसके बाद पत्तों को अलग कर लें तथा पानी को ठंडा करके इसमें फिटकरी मिला लें। फिर इसका कुल्ला करने से दांतों का दर्द कम होता है। इस बात की पुष्टि 2014 में इंटरनेशनल जर्नल ऑफ करंट एंड एप्लाइड सांइस में छपी एक शोध से हुआ था।
Image Source-Getty

एप्पल साइडर सिरका

एप्पल साइडर सिरका अर्थात् सेब का सिरका दांतों पर लगे जिद्दी पीले दाग और निकोटीन,कैफीन प्रभाव के कारण उत्पन्न दागो को निकाल कर दांतों को मोतियों सा सफेद बनाता है। दांतों को सफेद करने के लिए बस आपको अपने टूथब्रश को सेब के सिरके में डुबोना है और फिर अम्लीय अवशिष्ट से छुटकारा पाने के लिए ठीक से ब्रश करना है। आप ब्रश के बाद एप्पल साइडर सिरके से ही कुल्ला भी कर सकते है। इस बात की पुष्टि 2014 में इंटरनेशनल जर्नल ऑफ एडवांस्ड हेल्थ सांइस में छपी एक शोध से हुआ था।
Image Source-Getty

लौंग

जब दांत दर्द की बात आती है तो घरेलू उपचार में सबसे पहले लौंग का नाम आता है। लौंग में एंटी-इनफ्लेमेटरी, एंटी बैक्टीरियल, एंटी-ऑक्सीडेंट और एनेस्थेटिक तत्व मौजूद होते हैं। ये सभी तत्व न सिर्फ दर्द से राहत दिलाते हैं बल्कि इंफेक्शन से भी लड़ते हैं। ये प्लार्क को भी हटाते है।  लौंग लें और दांत के दर्द वाले हिस्से पर रखकर उसे चबाएं। इसके अलावा, आप लौंग के पाऊडर में थोड़ा वेजिटेबल ऑयल मिलाकर उसका पेस्ट बनाकर दांत में लगाएं। लौंग की चाय पीने से भी दांत का दर्द और मसूड़ों की सूजन चली जाती है।इस बात की पुष्टि 2014 में जर्नल ऑफ इंडियन सोसाइटी ऑफ पीरिओडोंटलॉजिस्ट में छपी एक शोध से हुआ था।
Image Source-Getty

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK