• shareIcon

पुरुष विवाहित जीवन में न करें ये सात गलतियां

शादीशुदा जीवन में पति पत्‍नी दोनों के बीच संतुलन होना जरूरी है। जहां संतुलन हल्‍का सा डगमगाया वहां परेशानी शुरू। यह माना जाता है कि महिलायें क्‍योंकि अधिक भावनात्‍मक होती हैं, इसलिए वे रिश्‍तों को अधिक गंभीरता से निभाती हैं। वहीं पुरुष जाने-अनजाने कु

सभी By Pooja Sinha / Dec 23, 2014

शादीशुदा जीवन में पुरुषों की गलतियां

जब बात रिश्‍तों को संभालने की बात आती है, तो पुरुष अकसर इस मामले में पीछे छूट जाते हैं। पुरुष कई गलतियां करते हैं और लगातार उन ग‍लतियों को दोहराते रहते हैं। हैरानी की बात यह है कि अकसर उन्‍हें इन गलतियों का अहसास ही नहीं होता। वे इन गलतियों को लगातार दोहराते जाते हैं और आखिर में इसका खामियाजा उनके रिश्‍ते को भुगतना पड़ता है। इन आदतों को बदलकर वे न केवल अपने साथी को खुश रख सकते हैं, बल्कि साथ ही अपने रिश्‍ते को भी बेहतर बना सकते हैं।
Image Courtesy- Getty Images

भावनात्‍मक जुड़ाव

अपने साथी की भावनाओं को जरूर समझें। किसी भी मजबूत रिश्‍ते की बुनियादी जरूरत अपने साथी की भावनाओं को समझना और उसे महत्‍ता देना होता है। महिलायें स्‍वाभाविक रूप से भावनात्‍मक होती हैं। और इसलिए वे अपने साथी के साथ बेहतर तरीके से तालमेल रख पाती हैं। पुरुष आमतौर पर समस्‍या के त्‍वरित समाधान पर ध्‍यान देते हैं। वे इस बात को नहीं समझते कि उस समय आपके साथी को समाधान से ज्‍यादा आपके साथ की जरूरत है। अगर आप प्‍यार से, ध्‍यान से उसकी समस्‍या सुन लें, तो इससे महिला को काफी सहारा मिलता है। उसे लगता है कि उसने आधी जंग जीत ली। अगर आप ऐसा नहीं करते, तो महिलाओं को लगता है कि उन्‍हें महत्‍ता नहीं दी जा रही। महिलाओं को तथ्‍यात्‍मक सुझाव देने से बेहतर है कि आप उसकी बातों को ध्‍यान से सुनें।
Image Courtesy- Getty Images

बेतरतीब खर्च करना

शादी के बाद आप दोनों सुख-दुख के साथी हैं। जीवन के बड़े फैसले आपको मिलकर लेने हैं। अगर आप अपनी पत्‍नी से बात किये बिना बहुत अधिक खर्च कर देते हैं, तो इससे आपके रिश्‍ते पर गहरा असर पड़ता है। अगर आप लगातार ऐसा करते रहते हैं, तो इससे आपके रिश्‍ते को गहरा नुकसान पहुंचता है। आमतौर पर पुरुष ऐसी गलतियां बहुत करते है। जिंदगी के बड़े फैसले आप दोनों को मिलकर करने चाहिये। लेकिन, जब आप हर चीज का नियं‍त्रण अपने हाथ में लेने लगते हैं, तब समस्‍याओं की शुरुआत होती है। इससे आपकी पत्‍नी को यह अहसास हो सकता है कि शायद बड़े फैसलों में उसकी जरूरत नहीं है।
Image Courtesy- Getty Images

प्‍यार में कमी

आमतौर पर कई पुरुष ऐसी गलतियां करते हैं। जब पुरुषों को अहसास होता है कि उनका साथी उनकी अपेक्षाओं पर खरा नहीं उतर पा रहा, तो वे जानबूझकर या अनजाने में अपने प्‍यार में कमी कर देते हैं। लेकिन, इससे आपके रिश्‍ते को कोई फायदा होने वाला नहीं है। शादी एक ऐसा रिश्‍ता है जो आपसी सूझबूझ और स्‍वीकार्यता पर टिका होता है। एक दूसरे की भावनाओं को समझना और उन्‍हें अहमियत देना ही इस रिश्‍ते का मूल आधार होता है। हालांकि, अगर समस्‍या बढ़ रही हो तो आप दोनों का साथ बैठकर उसका समाधान करना चाहिये। अपने प्‍यार में कमी करके आप समस्‍या में इजाफा ही करेंगे।
Image Courtesy- Getty Images

आर्थिक तथ्‍य छुपाना

हम पहले भी इस बारे में बात कर चुके हैं कि पुरुष अपनी पत्‍नी से पूछे बिना अधिक खर्चा करते हैं। और अपने आर्थिक मामलों को अपनी पत्‍नी से छुपाकर वे समस्‍या में और इजाफा करते हैं। यह बात चाहे कड़वी लगे, लेकिन पूरी तरह सच है कि जब किसी एक व्‍यक्ति के हाथ में पूरा आर्थिक नियंत्रण आ जाता है, तो सारे फैसले लेने का अधिकार भी उसे स्‍वत: ही मिल जाता है। इससे आपका रिश्‍ता समाप्‍त भी हो सकता है। अगर आप आपस में आर्थ‍िक मुद्दों पर पारदर्शी हैं, तो इससे आपके रिश्‍ते को मजबूती मिलती है। यह आप दोनों के लिए फायदेमंद ही साबित होगा।
Image Courtesy- Getty Images

बेडरूम में सनकी व्‍यवहार

पुरुष अकसर अपनी संतुष्टि के बारे में सोचते हैं। उन्‍हें अपने साथी के बारे में कोई खयाल नहीं रहता। यह पूरी तरह गलत है। सेक्‍स के दौरान उनका पूरा ध्‍यान अपनी ओर होता है। पत्‍नी, उनकी नजर में सेक्‍स प्रदान करने के लिए होती है। वे उसकी भूमिका को नजरअंदाज कर देते हैं। और इससे वे सेक्‍स के उस चरमानंद से अछूते रह जाते हैं, जो वे अपने साथी के साथ हासिल कर सकते हैं। याद र‍खने वाली बात यह है कि सेक्‍स में आप और आपका साथी बराबर के भागीदार हैं। और अपने साथी की भूमिका को महत्‍ता न देना गलत बात है। अपने साथी से पूछें कि आखिर उसे सेक्‍स में क्‍या पसंद है और वही करने का प्रयास करें।
Image Courtesy- Getty Images

मां से तुलना करना

कोई भी महिला नहीं चाहती कि उसकी तुलना किसी दूसरी महिला से की जाए। फिर चाहे वह किसी भी काम को लेकर क्‍यों न हो। चाहे वह खाना पकाना हो या फिर सफाई। महिलायें नहीं चाहतीं कि उनके सामने किसी दूसरी महिला की प्रशंसा की जाए। आपकी मां ने आपको पाल पोसकर बड़ा किया। आपका खयाल रखा। लेकिन, ठीक वैसी ही उम्‍मीद अपनी पत्‍नी से करना तो जायज नहीं। सबसे पहली बात, पति, पत्‍नी दोनों को आत्‍म निर्भर होना चाहिये। दूसरा, अगर आप किसी काम में अपनी पत्‍नी की मदद चाहते हैं तो आपको अपना अंदाज जरा संतुलित रखें। ऐसा न लगे कि आप यह जताना चाहते हैं कि आपका खयाल रखने में वह आपकी मां जितनी सजग नहीं है।
Image Courtesy- Getty Images

चुनौतियों से बचना

पत्‍नी आपके जीवन में बदलाव ला देती है। वह आपके साथ हर कदम पर चलने को तैयार होती है और वह भी खुशी-खुशी। लेकिन, अगर आप उसके प्रयासों को सराहेंगे नहीं, तो यह आपके रिश्‍ते के लिए अच्‍छा नहीं। यह उसका अपमान है। आपको उसकी तारीफ करते रहना चाहिये। आपको इस बात को समझना चाहिये कि आपके जीवन को बदलने के लिए उसने अपना वक्‍त और मेहनत का निवेश किया है। आपके जीवन में ऐसा बदलाव जो शायद आप अकेले कभी नहीं ला पाते। आपको प्रमोशन मिला, आर्थिक तौर पर आप मजबूत हुए यह सब इसलिए भी हो पाया कि कोई आपके साथ खड़ा था, हर वक्‍त, हर परिस्थिति में।
Image Courtesy- Getty Images

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK