First Aid For Dog Bite: कुत्‍ते के काटने पर क्‍या करें? जानें जरूरी सावधानियां

घर का पालतू कुत्‍ता हो या गलियों का आवारा कुत्‍ता, यदि वह आपको काट ले, तो ऐसे में इलाज व कुछ सावधानियां बरतना बेहद जरूरी है। वरन यह आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है। आइए जानते हैं कुत्‍ते के काटने पर क्‍या-क्‍या सावधानियां बरतें।

विविध By Sheetal Bisht / Nov 20, 2014
कुत्‍ते के काटने पर सावधानी

कुत्‍ते के काटने पर सावधानी

पालतू जानवरों में कुत्‍ते को सबसे वफादार माना जाता है इसलिए बहुत से लोग कुत्‍ता पालना पसंद करते हैं और उसे अपने परिवार का सदस्‍य सामन मानते हैं। कई बार घर आपका पालतू कुत्‍ता हो या गली का आवारा कुत्‍ता आपको काट लेता है। कभी खेल-खेल में, तो कभी पागलपन व गुस्‍से में। यदि कुत्‍ता आपको हल्‍का सा भी काट ले, तो आप उसे नजरअंदाज न करें क्‍योंकि यह आपके लिए घातक हो सकता है। कुत्‍ते के काटने पर कई चरणों में इलाज किया जाता है लेकिन यह जख्‍म पर निर्भर करता है। परंतु यदि आपको कुत्‍ता काट ले, तो आप इन सावधानियों और बातों का विशेष रूप से ध्‍यान रखें। 

सतही घाव

सतही घाव

घाव या खरोंच सतही होने पर सबसे पहले उसे नल के बहते पानी के नीचे रख दें। और फिर इसे हाइड्रोजन पेराऑक्‍टसाइड या आईसोप्रापिल अल्‍कोहल युक्‍त कीटाणुनाशक से साफ करें। इसके ऊपर एंटीबॉयोटिक लगायें और जख्‍म को बैडेज से कवर कर दें। डॉक्‍टर को जरूर दिखायें और देखें कि कहीं आपको इंजेक्‍शन की जरूरत तो नहीं।

गहरा जख्‍म

गहरा जख्‍म

सबसे पहले इस जख्‍म से खून बहने को रोकें नहीं। लेकिन अगर खून बहुत तेजी से और बहुत ज्‍यादा बह रहा हो, तो इस पर ज्‍यादा ध्‍यान देने की जरूरत है। इसके साथ ही अगर यह जख्‍म आपकी गर्दन या सिर पर हो तो भी आपको फौरन चिकित्‍सीय सहायता लेनी चाहिये। अन्‍य स्‍थानों पर लगे जख्‍म से बहने वाला सीमित रक्‍त वास्‍तव में इसे साफ करने का ही काम करता है।

माइल्‍ड सोप से जख्‍म को साफ करें

माइल्‍ड सोप से जख्‍म को साफ करें

पांच मिनट बाद जख्‍म को दबाकर देखें कि क्‍या खून का बहना रुक रहा है अथवा नहीं। अगर ऐसा न हो, तो फौरन आपातकालीन चिकित्‍सीय सहायता प्राप्‍त करने का प्रयास करें। अगर खून रुक जाए तो जख्‍म को नल के बहते पानी के नीच रखकर उसे पांच साफ करें। आप माइल्‍ड सोप से अपने जख्‍म को साफ भी करें।

डॉक्‍टर से जांच करवायें

डॉक्‍टर से जांच करवायें

पंक्‍चर अथवा गहरे जख्‍म पर अल्‍कोहल, हायड्रोजन पेरोक्‍साइड, आयोडीन अथवा मर्क्‍यूोक्रोम का इस्‍तेमाल न करें। इससे जख्‍म के ठीक होने में अधिक समय लग सकता है। पंक्‍चर जख्‍मों में बैंडेज लगाने की जरूरत नहीं पड़ती। लेकिन, अगर आप ऐसा करते भी हैं, तो इस बात का खयाल रखें कि आपका जख्‍म पूरी तरह साफ हो। कुत्‍ते के काटने से आमतौर पर कोई चीज अंदर नहीं रह जाती, जिसे बाद में साफ करने की जरूरत महसूस होती हो। अपने कुत्ते को रेबीज वैक्‍सीन जरूर लगवायें। डॉक्‍टर से अपनी जांच करवायें और जरूरत पड़ने पर इंजेक्‍शन लगवायें।

रेबीज

रेबीज

आवारा कुत्‍ते के काटने पर इस बाबत आप नगर निगम को सूचित करें। वह इस कुत्‍ते को पकड़कर ले जाएंगे। इसके साथ ही आपको फौरन रेबीज का टीका भी लगवाना चाहिये। अगर आपको काटने वाला कुत्‍ता पागल या पैरालाइज हो या फिर उसका व्‍यवहार अजीब हो तो भी फौरन आप चिकित्‍सक से संपर्क कीजिये। हां किसी भी प्रकार की परिस्थिति में अपने जख्‍मों को साफ करना न भूलें।

पालतू कुत्‍ता काटे तो क्‍या करें

पालतू कुत्‍ता काटे तो क्‍या करें

आपका पालतू कुत्‍ता भी आपको काट सकता है। खासतौर पर जब उसके दांत निकल रहे होते हैं तब वह चीजों को चबाने और काटने की कोशिश करता है। इस बात का खयाल जरूर रखें कि कुत्‍ता आपको गुस्‍से में न काट खाये।

सावधानियां

सावधानियां

कभी-कभार छोटे कुत्‍ते के काटने या उसके पंजों से आपकी त्‍वचा का कुछ हिस्‍सा फट जाता है। कुत्‍ते के इस तरह का स्‍वभाव वास्‍तव में उसके विकास का हिस्‍सा है। सबसे पहली बात, शांत रहें। छोटे कुत्‍ते के काटने से आपको दर्द तो होगा, लेकिन आपको अपना संयम बनाकर रखना होगा।

संकेतों को समझें

संकेतों को समझें

दूसरी बात आपको इन संकेतों को समझना होगा कि आपका कुत्‍ता काटने वाला है। और इससे पहले कि वह ऐसा करे आपको उसकर गलती सुधारनी होगी। इससे उसे ऐसा न करने की समझ आएगी और धीरे-धीरे उसकी यह आदत छूट जाएगी। अगर आपके कुत्ते ने आपको हल्‍का सा काट लिया है तो उसे जख्‍म को अच्‍छे से साफ कर एक बार डॉक्‍टर से संपर्क करें। इसके साथ ही अपने पालतू कुत्‍ते को भी सभी जरूर इंजेक्‍शन जरूर लगवाते रहें।

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK