Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

बच्चों की पर्सनेलिटी का राज बताते हैं उनके फेवरेट कलर!

आज हम आपको बच्चों के फेवरेट कलर से उनकी पर्सनेलिटी का राज बता रहे हैं। ये राज महज अनुमान के चलते बताए गए हैं। इसके पीछे कोई वैज्ञानिक कारण नहीं है।

परवरिश के तरीके By Rashmi UpadhyayMar 07, 2017

बच्चों की पर्सनेलिटी

छोटे बच्चों की खासियत ही ये होती है कि वे अपने बचपन को बहुत मस्ती और ईमानदारी के साथ जीते हैं। कुछ बच्चे स्वभाव से थोड़े शांत होते हैं और कुछ बच्चे थोड़े नटखट और चंचल प्रकृति के होते हैं। कुछ बच्चे ऐसे होते हैं जिन्हें मिल-झुल कर रहना पसंद होता है। जबकि कुछ बच्चे अकेले रहना पसंद करते हैं। लेकिन कई बार अभिभावक इस बात को पहचानने में देरी कर देते हैं। आज हम आपको बच्चों के फेवरेट कलर से उनकी पर्सनेलिटी का राज बता रहे हैं। ये राज महज अनुमान के चलते बताए गए हैं। इसके पीछे कोई वैज्ञानिक कारण नहीं है।

नीला रंग

नीला रंग पसंद करने वाले बच्चे ना ज्यादा सीधे और ना ही ज्यादा नटखट होते हैं। इन बच्चों को खेल के साथ-साथ पढ़ाई भी पसंद होती है। यानि कि ऐसे बच्चे अपने को परफेक्ट दिखाने में कोई कसर नहीं छोड़ते हैं। अपने काम की और ध्यान देना और किसी से फालतू ना बोलना इन बच्चों की खासियत होती है।

लाल रंग

लाल रंग को पसंद करने वाले बच्चे स्वभाव से बहुत शरारती होते हैं। इस रंग को पसंद करने वाले बच्चों को अपनी जिंदगी में किसी तरह की रोक-टोक पसंद नहीं होती है। ऐसे बच्चे बहुत दिमागी भी होते हैं। इस रंग के फेवरेट बच्चे किसी के सामने कोई बात बोलने से हिचकिचाते नहीं हैं। हर वक्त एनर्जी में रहते हैं।

पीला रंग

पीले रंग को अक्सर लड़कियां पसंद करती हैं। ऐसा नहीं है कि लड़के पसंद नहीं करते हैं। लेकिन अपेक्षाकृत लड़कियां ज्यादा पसंद करती हैं। ऐसी लड़कियां बहुत सादगी भरी होती है। इनका जीवन बहुत सादा और सरल होता है। इन्हें किसी तरह के हर-फर भी पसंद नहीं होते हैं। ये अपनी बात को जल्दी से किसी के साथ शेयर नहीं करते हैं। साथ ही इस रंग को पसंद करने वाले बच्चे बिना बात के झूठ भी नहीं बोलते हैं। ठीक ऐसा ही स्वभाव हल्का गुलाबी रंग पसंद करने वाले बच्चों का भी होता है।

काला रंग

काले रंग को पसंद करने वाले बच्चे बहुत होशियार, दिमागदार और तेज स्वभाव के होते हैं। अपनी बातों को जल्दी से किसी के भी सामने उगल देते हैं। ऐसे बच्चे जुबान के थोड़े कड़वे जरूर होते हैं लेकिन दिल के सच्चे होते हैं। ऐसे बच्चों के इरादे पक्के और मजबूत होते हैं। ये अपनी जिंदगी में जो करना चाहते हैं उसे हर हाल में कर के रहते हैं।

हरा रंग

जिन बच्चों का हरा रंग फेवरेट होता है वो स्वभाव से बहुत आकर्षक होते हैं। जल्दी से अपनी बातों में किसी को भी फंसा लेते हैं। इस रंग को पसंद करने वाले बच्चों में काफी आत्मविश्वास होता है। अपने जीवन में बड़ी से बड़ी चुनौतियों का सामना करने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। सबसे बड़ी खासियत ये है कि ऐसे बच्चे हमेशा सकारात्मक सोचते हैं।

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK