Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

रक्त के बारे में अनजाने तथ्‍य

यह तो सभी जानते है कि रक्त हमारे शरीर के लिए क्‍या मायने रखता है। लेकिन रक्त से जुड़ी बहुत सारी बातें है जिनसे हम अनजान हैं। आज हम इन्‍हीं अनजान बातों से पर्दा हटाने जा रहे हैं।

एक्सरसाइज और फिटनेस By Pooja SinhaJan 06, 2014

रक्त के बारे में अनजाने तथ्‍य

रक्त हमारे शरीर के अंग-प्रत्यंगों को सुडौल बनाकर इसको स्वस्थ बनाए रखने में अहम भूमिका निभाता है। यह तो सभी जानते है कि रक्त हमारे शरीर के लिए क्‍या मायने रखता है। लेकिन रक्त से जुड़ी बहुत सारी बातें है जिनसे हम अनजान हैं। आज हम इन्‍हीं अनजान बातों से पर्दा हटाने जा रहे हैं।

रक्त की मौजू‍दगी

रक्त का 70 प्रतिशत भाग रेड ब्‍लड सेल के अंदर मौजूद हीमोग्लोबिन में, चार प्रतिशत भाग मांसपेशियों के प्रोटीन मायोग्लोबिन में, 25 प्रतिशत भाग लीवर, अस्थिमज्जा, प्लीहा व गुर्दे में संचित भंडार के रूप में होता हैं। बाकि का शेष एक प्रतिशत भाग रक्त प्लाज्मा के तरल अंश व कोशिकाओं के एंजाइम्स में होता है।

रक्तदान से नुकसान नहीं

रक्तदान करने के 48 घंटे के भीतर ही खून की क्षतिपूर्ति हो जाती है। रक्तदान करने से शरीर पर इसका कोई बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है। इसके साथ ही यह प्रक्रिया शरीर में आयरन को जमने नहीं देता है।

तीन सेकेंड में पड़ती है रक्‍त की जरूरत

एक अनुमान के अनुसार हर तीन सेकंड में किसी को भी खून की जरूरत पड़ सकती हैं। अस्‍पताल जाने वाले दस फीसदी लोगों को खून की जरूरत होती है।

इनसानी जिस्‍म में रक्‍त

एक व्‍यस्‍क शरीर में लगभग 3.300 लिटर रक्‍त होता है। एक यूनिट रक्‍त का अर्थ लगभग 330 मिली होता है। जबकि औसत लाल रक्त कोशिका आधान 1.6 लिटर होता है। एक नवजात शिशु के शरीर में एक कप के बराबर खून होता है।

सात फीसदी रक्‍त

मानव शरीर के वजन का करीब सात फीसदी हिस्‍सा रक्‍त होता है। रक्‍त संक्रमण से लड़ता है और जख्‍मों को भरने में मदद करता है। इससे व्‍यक्ति स्‍वस्‍थ बना रहता है।

ब्‍लड के प्रकार

ब्‍लड के मुख्‍य रूप से चार प्रकार होते हैं। ए, बी, एबी और ओ। एबी रक्‍त ग्रुप वाले सार्वभौमिक प्राप्तकर्ता होते हैं और ओ नेगेटिव यूनिवर्सल डोनर होते हैं। रक्त केंद्रों में अक्‍सर ओ और बी ब्‍लड की कमी पाई जाती हैं।

ब्‍लड की यूनिट

ब्‍लड की एक यूनिट को कई हिस्‍सों में बांटा जा सकता है। रक्‍त में लाल रक्‍त कोशिकायें, श्‍वेत रक्‍त कोशिकायें, प्‍लाज्‍मा, प्‍लेटलेट्स और क्रोप्रेसीपिटेट। रेड ब्‍लड सेल शरीर के अंगों और ऊतकों को ऑक्‍सीजन पहुंचाता हैं।

इतनी रक्‍त कोशिकायें

ब्‍लड की दो से तीन बूंद में लगभग एक अरब रेड ब्‍लड सेल होते हैं। रेड ब्‍लड सेल संचार प्रणाली में लगभग 120 दिन तक रहते हैं।

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

Trending Topics
    More For You
    This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK