Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

पुरुष इंफर्टिलिटी के लिए कब और कहां लें सलाह

इंफर्टिलिटी के लिए केवल महिलायें ही जिम्‍मेदार नहीं होती हैं बल्कि 30 प्रतिशत से अधिक मामलों में पुरुष इंफर्टिलिटी के कारण भी गर्भधारण करने में समस्‍या होती है।

सभी By Pradeep SaxenaOct 16, 2014

पुरुषों में इंफर्टिलिटी

इंफर्टिलिटी को बांझपन भी कहते हैं, यह एक प्रकार की सेक्‍स संबंधित समस्‍या है। महिलाओं में जहां पोलीसिस्टिक ओवेरियन डीजीज (polycystic ovarian disease) इंफर्टिलिटी से जुड़ी सबसे बड़ी समस्या है, वहीं पुरूषों में खराब स्पर्म काउंट की वजह से यह दिक्कत आती है। इंफर्टिलिटी के लिए काफी हद तक पुरुष भी जिम्‍मेदार होते हैं। इसलिए सही समय पर इसके बारे में परामर्श ले लेना चाहिए।

iamge source - getty images

क्‍या है इंफर्टिलिटी

इंफर्टिलिटी उस स्थिति को कहते हैं जब बिना गर्भनिरोधक के इस्तेमाल के एक साल तक संबंध बनाने के बावजूद कोई कपल परिवार नियोजन में असफल रहता है। सामान्‍यतया 12 महीनों में गर्भधारण हो जाता है। लेकिन जब कई कोशिशों के बाद गर्भधारण करने में समस्‍या होती है तब इंफर्टिलिटी की समस्‍या सामने आती है।

iamge source - getty images

पुरुषों में क्‍यों होती है समस्‍या

लोगों में एक आम धारणा है कि गर्भधारण न हो पाने के लिए महिलायें ही पूरी तरह से जिम्मेदार होती हैं। जबकि सच यह है कि, इंफर्टिलिटी के लगभग 30% मामलों में समस्या पुरूषों की तरफ से होती है। इसके अलावा, 30 पर्सेंट मामले ऐसे होते हैं जिनमें दोनों तरफ से समस्या सामने आती है। पुरूषों की समस्या की पहचान का जो सामान्य तरीका है, वह है सीमेन एनालिसिस।

iamge source - getty images

क्‍या है वजह

पुरूषों में इंफर्टिलिटी के लिए कई कारण जिम्मेदार होते हैं, जिनमें बचपन में हुआ कोई संक्रमण, हार्मोनल डिसॉर्डर, पारिवारिक कारण और शारीरिक अक्षमता आदि शामिल हैं। जो पुरूष धूम्रपान करते हैं और शराब का सेवन करते हैा उनमें स्पर्म काउंट अन्य पुरूषों के मुकाबले 13-17% तक कम होता है। वर्तमान में तनाव के साथ लाइफस्टाइल संबंधी बीमारियां इसके लिए जिम्‍मेदार कारक बनती जा रही हैं।

iamge source - getty images

मोटापा भी प्रमुख वजह

जैसे-जैसे पुरुषों में वजन बढ़ने या मोटापे की समस्या बढ़ती जाती हैं वैसे-वैसे उनमें इंफर्टिलिटी का खतरा भी बढ़ता है। एक शोध के मुताबिक मोटापे की वजह से पुरुषों में इंफर्टिलिटी की समस्या भी पैदा हो सकती है। अमेरिका में यूनिवर्सिटी ऑफ बफेलो द्वारा किये गये शोध के मुताबिक मोटे लोगों में टेस्टोस्टेरॉन हार्मोन की 50 फीसदी की कमी देखी गई जो कि इंफर्टिलिटी का प्रमुख कारण है।

iamge source - getty images

सेक्‍स संबंधित बीमारियां भी जिम्‍मेदार

पुरुषों की इंफर्टिलिटी के कुछ अन्य कारणों में सेक्सुअली ट्रांसमिटेड बीमारियां यानी एसटीडीज जैसे कि - गोनोरिया या क्लेमीडिया भी जिम्मेदार होती हैं। इस बीमारी के कारण ही स्पर्म को बाहर पहुंचाने वाले ट्यूब बंद हो जाते हैं। अगर किसी को बचपन में गलकंठ रोग हो जाये तो यह भी कई बार टेस्टिक्युलर को नुकसान पहुंचाता है और स्पर्म की अनुपस्थिति के लिए जिम्मेदार हो सकता है। स्पर्मबैंक के आस-पास की नसों में सूजन भी पुरुषों की इंफर्टिलिटी के लिए जिम्मेदार हो सकती हैं।

iamge source - getty images

कब लें सलाह

शादी के बाद आप परिवार नियोजन के बारे में सोच रहे हैं और बिना गर्भनिरोध के प्रयोग के 12 महीने बाद भी आप इसमें सफल नहीं हो पा रहे हैं तो चिकित्‍सक से सलाह लीजिए। हो सकता है यह इंफर्टिलिटी की वजह से हो रहा हो। अगर आप दोबारा परिवार नियोजन करना चाहते हैं और इसमें सफल नहीं हो पा रहे हैं तब भी सेक्‍स विशेषज्ञ से सलाह लेना चाहिए।

iamge source - getty images

इस समस्‍या का है इलाज

इंफर्टिलिटी से ग्रस्‍त पुरुषों को निराश होने की बजाय इसका उपचार करना चाहिए, कई तकनीक ऐसी हैं जिनके प्रयोग से गर्भधारण किया जा सकता है। ईयूआई ऐसी तकनीक है जो बेहद कम स्‍पर्म काउंटिंग के बाद भी पिता बनने में सफलता प्रदान करती है। इसके अलावा इंट्रासिटोप्लाज्मिक स्पर्म इंजेक्शन (intracytoplasmic sperm injection), टीईएसए, डोनर के स्‍पर्म के जरिये भी आप पिता बन सकते हैं।

iamge source - getty images

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK