इन बातों को ध्‍यान में रखेंगे तो आउट ऑफ कंट्रोल नहीं होगा बजट

अगर आपका बजट बिगड़ गया तो इससे आपकी खुशी, चैन और शुकून छिन जायेगा। इसलिए बजट को निंयत्रित रखना बहुत जरूरी है।

मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य By Devendra Tiwari / Jan 25, 2016
बजट में रखें अपना खर्च

बजट में रखें अपना खर्च

बजट को नियंत्रण में रखने के लिए साल के शुरूआत में ही योजना बना लेनी चाहिए। साल के शुरूआत में ही यह निर्धारित कर लें कि इस साल आपको कहां अधिक और कहां कम पैसे खर्च करने हैं। घरवालों के ऊपर कितना खर्च करना और कितना आप दूसरे मदों में खर्च करेंगे। इस स्‍लाइडशो में हम आपको ऐसे टिप्‍स बता रहे हैं जिसको नोट करने के बाद आपका बजट कभी भी आउट ऑफ कंट्रोल नहीं होगा।
Image Source-Getty

सभी डाक्‍यूमेंट और डेटा जमा करें

सभी डाक्‍यूमेंट और डेटा जमा करें

पिछले साल आपने जो भी खर्च किये हैं उनके सभी डेटा एक जगह जमा करें, आपके पास जितने भी डाक्‍यूमेंट हों उनको क्रमबद्ध तरीके से एक जगह इकट्ठा कर लीजिए। डाक्‍यूमेंट्स जैसे - बिजली बिल, फो‍न बिल, सामान का बिल, यात्रा का खर्च, दूसरे उत्‍पाद जो आपने खरीदे हों, आदि जमा करें। इसे देखने के बाद आपको अंदाजा लग जायेगा कि पिछले साल आपने कहां कितने पैसे खर्च किये और कहां आपसे फिजूलखर्ची हुई।
Image Source-Getty

खर्च की समीक्षा करें

खर्च की समीक्षा करें

आपने जो भी खर्च किया है उसकी समीक्षा करना बहुत जरूरी है। ऐसा करने से आप इस बजट की बेहतर तरीके से योजना बना पायेंगे। इसके साथ ही आप यह भी सुनिश्चित कर पाएंगे कि अगले साल आपको कौन-कौन सी वित्तीय गलतियां नहीं करनी हैं जो पिछले साल आपसे हो चुकी हैं। दरअसल होता यह है कि हम जब तक खुद इस बात का एहसास नहीं करेंगे तब तक हम अपने फालतू खर्चों को रोक नहीं पायेंगे।
Image Source-Getty

आपातकालीन फंड की समीक्षा करें

आपातकालीन फंड की समीक्षा करें

अपने छोटे और बड़े वित्तीय लक्ष्य को पाने के लिए इमरजेंसी फंड यानी आपातकालीन फंड को मेंटेन करना बहुत जरूरी है। आपातकालीन फंड वो होता है जिसकी जरूरत अचानक से आपको पड़ती है। यानी बिना उम्‍मीद के आये खर्च को पूरा करने में यह फंड बहुत मदद करता है। इससे आपके ऊपर अधिक दबाव भी नहीं बनता और आपकी जरूरत भी पूरी हो जाती है। इस फंड से आप यह भी अंदाजा लगा सकते हैं कि पिछले साल इस तरह के फंड की जरूरत कहां और क्‍यों पड़ी थी।
Image Source-Getty

इन बातों पर भी गौर करें

इन बातों पर भी गौर करें

पिछले साल अगर आपने किसी से कर्ज लिया है, केडिट कार्ड से अधिक पैसे खर्च कर दिये हैं, तो उनकी भी समीक्षा कीजिए। इसके साथ ही आपको होम लोन, कार लोन और पर्सनल लोन जैसे कितने लोन की इएमआई हर साल भरनी होती है इसकी भी समीक्षा करें। अपनी आमदनी को को देखते हुए आपको ये भी सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि आप कब तक सारे लोन चुका पाएंगे, क्योंकि इस तरह के लोन जितनी जल्दी खत्‍म हो जायें बेहतर है। इसके साथ ही फालतू के खर्चों पर नियंत्रण लगायें।
Image Source-Getty

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK