• shareIcon

नई डाइट शुरु करने से पहले ये चीजें कभी न करें

नई डाइट शुरु करने से पहले खुद से ये सवाल करें कि आखिर आप नई डाइट क्यों शुरु करना चाहते हैं? अगर आप इसलिए ऐसा कर रहे हैं ताकि आपका वजन कम हो तो इसके लिए कुछ नियमों का मानना जरूरी है।

स्वस्थ आहार By Meera Roy / Jun 22, 2017

नई डाइट शुरू करने से पहले...

नई डाइट शुरु करने से पहले खुद से ये सवाल करें कि आखिर आप नई डाइट क्यों शुरु करना चाहते हैं? अगर आप इसलिए ऐसा कर रहे हैं ताकि आपका वजन कम हो तो इसके लिए कुछ नियमों का मानना जरूरी है। दरसअल कोई भी डाइट प्लान झट से शुरु करने से पहले यह देखना जरूरी है कि उसका हमारी जीवनशैली और हमारे स्वास्थ्य पर उसका क्या असर होगा? इसके अलावा यह भी जानना जरूरी है कि नई आदतों को अपनी जीवनशैली में शामिल करना आसान नहीं है। उसके कुछ नुकसान तो कुछ फायदे हो सकते हैं। सो, अगर आप डाइट प्लान बदलने के बारे में सोच रहे हैं तो इस संबंध में आगे जानते हैं।

खानपान में कटौती

अगर आप नई डाइट में कुछ खास किस्म के आहार की कटौती करना चाहते हैं तो इसमें कोई बुराई नहीं है। लेकिन ध्यान रखने की बात यह है कि आप किस तरह के खानपान में कटौती करना चाहते हैं? कहीं ये दुग्ध उत्पाद तो नहीं। दरअसल कटौती हमेशा हमें अपनी ओर आकर्षित करती है। वाश्ंिाग्टन से ताल्लुक रखने वाली आहार विशेषज्ञ अदिना पियरसन के मुताबिक, ‘कटौती या कमी हमें अपनी ओर खींचती है। इससे होता कुछ नहीं है वरन कटौती के बाद हम उसे खाने के बारे में ज्यादा सोचने लगते हैं। हमारा दिमाग लगभग ब्लाक सा हो जाता है।’

भूख की अनदेखी

अगर आपने यह फैसला लिया है कि पतला होने के लिए भूख की अनेदखी करेंगे तो समझें कि आप सही दिशा में नहीं हैं। दरअसल भूख की अनदेखी हमारे सेहत के लिए सही नहीं है। इसके उलट भूख हमेशा हमें खाने की ओर लालायित करती रहती है। इसलिए आहार विशेषज्ञ पियरसन यह सुझाव देती है कि खानपान में हमेशा लचीले बने रहें। जो संभव हो और स्वास्थ्य के लिए सही हो वही खाएं। खाने का नियम बनाएं। जिससे भूख को तसल्ली होती हो, ऐसी चीजें हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहतर मानी जाती है।

झटके में सब बदलना

हम एक रात में इमारत खड़ी नहीं कर सकते। आखिर आप एक झटके में क्यों अपनी डाइट बदल देना चाहते हैं। नई डाइट की ओर जाने से पहले धीरे धीरे अपनी जीवनशैली में बदलाव करें। क्या खाना है, क्या नहीं खाना। अपनी डाइट के साथ साथ अपनी एक्सरसाइज में भी गौर करें। जो आपकी आदतों का हिस्सा है, उनमें भी कुछ बदलाव की दरकार है। अगर संभव है तो विशेषज्ञ से संपर्क करें क्योंकि डाइट प्लान बदलते हुए कुछ एक्सरसाइज में भी बदलाव करने पड़ सकते हैं।

नींद से समझौता

अकसर नई डाइट और नई एक्सरसाइज को अपनाते हुए हम अपनी नींद से समझौता करने लगते हैं। लम्बे लम्बे समय तक एक्सरसाइज करते हैं। ज्यादातर लोग यही सोचते हैं कि ऐसा करने से हम एक स्वस्थवर्धक शरीर के मालिक हो जाएंगे। जबकि ऐसा नहीं है। नींद से समझौता करना अपने स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करना है। नई डाइट को अपनाते हुए इस बात का ध्यान रखें कि नींद सोने के लिए होती है। नींद से समझौता करना अपने स्वास्थ्य के साथ समझौता करने जैसा होता है।

पुरानी एक्सरसाइज से चिपके रहना

डाइट बदलते हुए इस बात का ध्यान रखना भी जरूरी है कि आप कौन सी एक्सरसाइज कर रहे हैं। दरअसल हर एक्सरसाइज खानपान से संबंधित होनी चाहिए। आपकी कौन सी एक्सरसाइज कितनी कैलोरी बर्न कर रही है, यह भी महत्वपूर्ण है। कुछ लोग एक्सरसाइज की बजाय योगा को तरजीह देते हैं। लेकिन कैलोरी बर्न करने के लिए योगा से बेहतर वाकिंग को माना जाता है। इसी तरह अन्य कई एक्सरसाइज कैलोरी बर्न के लिए उपयुक्त मानी जाती है। अपनी डाइट बदलते समय एक्सरसाइज का पूरा ख्याल रखें।

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK