• shareIcon

त्‍वचा की समस्‍याओं के लिए घरेलू उपाय

अपनी रसोई और फ्रिज में मौजूद चीजों से आप आसानी से अपनी सौंदर्य समस्‍याओं को समाधान खुद से कर सकते हैं। तो महंगे कॉस्‍मेटिक उत्‍पादों पर पैसा खर्च करने की क्‍या जरूरत है।

घरेलू नुस्‍ख By Pooja Sinha / Sep 09, 2014

घर में मौजूद सौंदर्य समाधान

आपके घर के किराने की सूची में मौजूद सामान से ही आप कई सौंदर्य समस्‍याओं का समाधान कर सकते हैं। स्ट्रॉबेरी, नींबू और प्याज केवल आहार का हिस्‍सा नहीं हैं, बल्कि इन्‍हें आप अपना रूप निखारने में भी इस्‍तेमाल कर सकते हैं। तो, जब आप आसानी से अपनी रसोई और फ्रिज में मौजूद चीजों से सौंदर्य समस्‍याओं का हल कर सकते हैं, तो महंगे कॉस्‍मेटिक उत्‍पादों पर पैसा खर्च करने की क्‍या जरूरत है। image courtesy : getty images

झाइयों के लिए नींबू का रस और प्‍याज

नींबू का रस और प्याज की प्रकृति अम्लीय होती है और इनको एक साथ मिलाकर आप आसानी और प्रभावी ढ़ंग से काले धब्‍बे और हाइपर पिगमेंटेशन का इलाज कर सकते हैं। इसके लिए एक लाल प्‍याज के एक चौथाई हिस्‍से को पीसकर उसमें नींबू का रस मिलाकर उसे पिग्मेंटेड वाले हिस्‍से में लगा लें। 10-15 मिनट के बाद इस घरेलू उपाय को हल्‍के क्लीन्जर से साफ कर लें।
image courtesy : getty images

रूखें हाथों और पैरों के लिए बादाम का दूध और कॉफी

बादाम के दूध और कॉफी ग्राउंड्स के साथ आप घर पर ही आसानी से हाथ और पैरों को लिए आरामदेह स्‍क्रब बना सकते हैं। इसे बनाने के लिए दो कप बादाम के दूध में कुछ कॉफी ग्राउंड्स को मिलाकर अपने अंगों को सर्कुलेशन गति में स्‍क्रब करें। बादाम के दूध में एंटीऑक्‍सीडेंट और विटामिन ई होता है। जो त्‍वचा कोशिकाओं को क्षति पहुंचाने वाली फ्री रेडिकल्‍स से बचाती है। जबकि कॉफी ग्राउंड्स में त्‍वचा को चमकदार बनाने के लिए एक्सफोलीएटिंग के लाभ प्रदान करता है। कैफीन से बने स्‍क्रब कोशिकाओं और इलास्टिन को प्रोत्साहित करने के लिए सबसे अच्छा होता है। image courtesy : getty images

बेजान त्वचा के लिए पुदीना की चाय

अगर आप दमकती त्‍वचा पाना चाहती है, तो केमिकल युक्त कॉस्‍मेटिक को छोड़कर पुदीने की चाय को अपने नियमित दिनचर्या में शामिल करें। वास्‍तव में यह बहुत ही आसान उपाय है। क्‍योंकि सुंदरता ऊपरी उत्‍पादों के इस्‍तेमाल से नहीं बल्कि भीतरी देखभाल से प्राप्‍त की जा सकती है। यहां तक की बहुत सी हस्तियां भी इस उपाय को अपनाती है। पुदीने की चाय आपके र‍क्त परिसंचरण में सुधार कर आपको जीवंत चमक देता है। साथ ही यह तनाव को दूर करने में मदद करता है। image courtesy : getty images

यूवी क्षति के लिए स्ट्रॉबेरी और शहद

स्ट्रॉबेरी विटामिन सी और सैलिसिलिक एसिड का एक समृद्ध स्रोत हैं। सैलिसिलिक एंटी-एक्‍ने उपचार है, जो मुंहासों को दूर कर त्‍वचा को साफ करता हैं। शहद को स्‍ट्रॉबेरी में मिलाने से यह एंटी-बैक्‍टीरियल गुणों से भरपूर हो जाता है। और असमान त्वचा टोन और त्वचा को यूवी क्षति के उपचार के लिए बहुत ही अच्‍छा फेस मास्‍क बन जाता है। इस मास्‍क को बनाने के लिए तीन स्‍ट्रॉबेरी को अच्‍छे से मैश करके उसमें एक बड़ा चम्‍मच शहद मिलाकर पेस्‍ट बनाकर चेहरे पर लगा लें। 15 मिनट लगाने के बाद इसे गुनगुने पानी से धो लें। image courtesy : getty images

रूखे बालों के लिए नारियल तेल

गर्म मौसम आपके बालों को रूखे, बेजान और अप्रबंधनीय बना देता है। नारियल तेल में मौजूद मॉइस्‍चराइजिंग गुण, प्रभावी रूप से आपकी त्‍वचा को पोषण और रूखे बालों की समस्‍या को दूर करने में मदद करता हैं। बालों को शैम्‍पू करने के बाद, थोड़ा सा तेल लेकर अपने स्‍कैल्‍प पर लगाये और 5 से 10 मिनट के बाद ठंडे पानी से इसे धो लें। यह सौंदर्य उपाय बालों के क्यूटिकल को बंद कर नमी को बनाये रखता है और बालों में रूखेपन की समस्‍या को दूर करता है। image courtesy : getty images

उत्‍पादों के अवशेष के लिए सेब साइडर सिरका

शैम्‍पू, हेयर मूस और स्‍प्रे जैसे बालों के उत्‍पाद आपके स्‍कैल्‍प पर अवशेषों को छोड़कर रूसी का कारण बनते हैं। साथ ही, गंदगी, प्राकृतिक तेल और हार्ड वाटर मिनरल डिपॉजिट आपके बालों के शाफ्ट में रहकर उसे रूखा और बेजान बनाते है। लेकिन सेब साइडर सिरके को 5 मिनट के लिए बालों में लगाना उनमें नई जान डाल देता है। एप्‍पल साइडर सिरका उत्‍पाद के अवशेषों को दूर करने और बालों में चमक को पुनर्स्‍थापित करने मदद करता है। जरूरत है तो बस बाल धोने से पहले 5 मिनट बालों में सिरके को लगाकर बालों में कंघा करने की। image courtesy : getty images

मुंहासों के निशान के लिए मेथी

थोड़े से पानी में मेथी के कुछ बीज को मिलाकर, इसे 10-15 मिनट के लिए उबालें। फिर इस मिश्रण को ठंडा होने के लिए रख दें। ठंडा होने पर इसमें से बीज को बाहर निकाल दें और इस पानी को रूई की मदद से मुंहासों के निशान पर लगाये। इस उपाय को एक सप्‍ताह नियमित रूप से करने से निशान की उपस्थिति की तीव्रता में निश्चित रूप से कमी आयेगी। image courtesy : getty images

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK