• shareIcon

शरीर में बढ़ गया है यूरिक एसिड तो इन खानों से रहें दूर

गाऊट अर्थराइटिस की ही एक स्थिति होती है, जो जोड़ों की सूजन की वजह से होती है। यह जोड़ों, पैर के अंगूठों, एड़ी, टखने, घुटने या फिर हाथ के अंगूठे को भी प्रभावित करता है। गाऊट रक्त में यूरिक एसिड नामक रसायन की अत्यधिक मात्रा के कारण होता है।

अर्थराइटिस By Rahul Sharma / Feb 17, 2015

हाई यूरिक एसिड में आहार की भूमिका

गाऊट अर्थराइटिस की ही एक स्थिति होती है, जो जोड़ों की सूजन की वजह से होती है। यह जोड़ों, पैर के अंगूठों, एड़ी, टखने, घुटने या फिर हाथ के अंगूठे को भी प्रभावित करता है। गाऊट रक्त में यूरिक एसिड नामक रसायन की अत्यधिक मात्रा के कारण होता है। आमतौर पर तनाव, शराब का अत्यधिक सेवन, लम्बे समय तक भोजन न करना, कसरत का अभाव, डीहाइड्रेशन तथा कुछ विशेष खाद्य जैसे रैड मीट, सी फूड इत्यादि व जीवनशैली तथा कुछ दवाओं का सेवन गाऊट को बढ़ा सकता है। इसलिये इस समस्या में क्या खाना चाहिये और क्या नहीं, इसका विशेष ध्यान रखने की ज़रूरत होती है।
Images courtesy: © Getty Images

इसे भी पढ़ें : अर्थराइटिस को दूर भगाएंगे, ये घरेलू उपाए

कोल्ड प्रेस्ड जैतून का तेल

खाना पकाने के लिए बटर या वेजटेबल आयल के स्थान पर कोल्ड प्रेस्ड जैतून के तेल का इस्तेमाल करें। जैतून के तेल के इस्तेमाल से शरीर में अतिरिक्त यूरिक एसिड नहीं बनता है और यह दिल के लिये भी बेहद लाभदायक होता है।  
Images courtesy: © Getty Images

विटामिन सी

भरपूर मात्रा में विटामिन सी लें। शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा को कम करने के लिए हर दिन कम से कम 500 मिलीग्राम विटामन सी लें। इसके सेवन से एक से दो महीने के भीतर ही यूरिक एसिड का स्तर काफी कम हो जाता है।
Images courtesy: © Getty Images

अजवाइन के बीज का अर्क

गठिया और यूरिक एसिड की समस्या का यह एक जानामाना प्राकृतिक उपचार है। जैसा कि अजवाइन में दर्द को कम करने, एंटीआक्सीडेंट और डाइयुरेटिक गुण पाया जाता है, ये एक एंटीसेप्टिक भी होता है। कई दुर्भल मामलों में नींद न आना, व्याग्रता और नर्वस ब्रेकडाउन आदि समस्याओं के उपचार में भी इसका उपयोग किया जाता है।
Images courtesy: © Getty Images

एंटीआक्सीडेंट युक्त भोजन

लाल शिमला मिर्च, टमाटर, ब्लूबेरी, ब्रोकली और अंगूर आदि एंटीआक्सीडेंट विटामिन का प्रचुर स्रोत होते है। एंटीआक्सीडेंट विटामिन फ्री रेडिकल्स अणुओं को शरीर के अंग और मसल टिशू पर हमला करने से रोकते हैं, जिससे यूरिक एसिड का स्तर कम होने लगता है।
Images courtesy: © Getty Images

सेब का सिरका

माना जाता है कि सेब का सिरका रक्त का पीएच वैल्यू बढ़ाकर हाई यूरिक एसिड लेवल कम करता है। किंतु सेब का सिरका कच्चा, बिना पानी मिला और बिना पाश्चरीकृत ही होना चाहिए। आप इसे किसी भी हेल्थ फूड स्टोर से आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।
Images courtesy: © Getty Images

बेकरी के उत्पाद से बचें

सैचुरेटेड फैट और ट्रांस फैट की अधिकता वाले खाद्य जैसे, केक, पेस्ट्री, कुकी आदि के ज्यादा सेवन से बचें। अगर शरीर में यूरिक एसिड हाई हो, तो  बेकरी प्रोडक्‍ट का सेवन नहीं करना चाहिये। जैसा कि इनमें सेच्‍युरेटेड फैट काफी होता है, जिससे शरीर में यूरिक एसिड का स्तर बढ़ जाता है।
Images courtesy: © Getty Images

एल्‍कोहल से दूर रहें

शरीर में एल्‍कोहल जानें पर भी यूरिक एसिड हाई हो जाता है। अगर लगातार एल्‍कोहल का सेवन किया जाए, तो शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा काफी बढ़ जाती है और कई बार तो गाउट अटैक आ जाता है। इसलिये एल्‍कोहल से तो बिल्कुल दूर हा रहें।  
Images courtesy: © Getty Images

डिब्‍बा बंद भोजन

यूरिक एसिड बढ़ने की शिकायत होने पर डिब्‍बा बंद भोजन का सेवन कतई न करें। डिब्‍बा बंद भोजन का सेवन न करने से शरीर में यूरिक एसिड को बूस्‍टअप करने वाले तत्‍व नहीं मिलेगें और वह नियंत्रण में रहेगा।
Images courtesy: © Getty Images

मछली और मीट

हाई यूरिक एसिड की शिकायत होने पर मछली और मीट आदि के सेवन से भी बचें। खासतौर पर कुछ विशेष प्रकार की मछली जैसे, सारडिनेस और मैकीरिल आदि तो कतई न खाएं। इनके सेवन से यूरिक एसिड बढ़ने की शिकायत हो सकती है।
Images courtesy: © Getty Images

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK