• shareIcon

बालों के विकास में बहुत कारगर हैं ये आयर्वेदिक हर्ब्‍स

बालों को बढ़ाने और इनको चमकाने के लिए औषधियों का प्रयोग करें तो बाल मजबूत तो होंगे साथ ही इनका विकास सही तरीके से होगा।

घरेलू नुस्‍ख By Nachiketa Sharma / Mar 07, 2014

बालों के लिए हर्ब्‍स

बालों के विकास बाजार में कई तरह के लुभावने उत्‍पाद उपलब्‍ध हैं, लेकिन इनसे बालों का विकास कम और खात्‍मा अधिक होत है। लेकिन यदि आप बालों को बढ़ाने और चमकाने के लिए औषधियों का प्रयोग करें तो बाल मजबूत तो होंगे साथ ही इनका विकास सही तरीके से होगा। घर के आस-पास मौजूद प्राकृतिक उत्‍पाद आपके बालों के लिए बहुत अच्‍छे हैं। आंवला, शिकाकाई, हिना, एलोवेरा, मेहंदी, भृंगराज आदि आसानी से मिल जायेंगें। आगे के स्‍लाइडशो में जानिए इन हर्ब्‍स के बारे में।

मेहंदी

बालों के विकास के लिए मेंहदी का प्रयोग कीजिए, यह बालों को घना और मजबूत बनाता है। दरअसल मेंहदी में भरपूर पोषण होता है जो बालों के लिए फायदेमंद है, इसलिए बालों में मेहंदी लगानी चाहिए। मेंहदी को अंडे के साथ मिलाकर लगाने से ज्‍यादा फायदा होता है। इससे बाल मजबूत होते हैं और बालों का गिरना बंद हो जाता है। बालों में मेहंदी लगाने से पहले उसमें एक कपूर और एक चम्मच मेथी का पाउडर मिला लें, यह बालों को असमय सफेद होने से बचाएंगे।

एलोवेरा

एलोवेरा बहुत ही प्राचीन पौधा है और बालों के लिए बहुत ही लाभदायक है। इससे बालों का विकास होता है साथ ही बालों में एलोवेरा जूस लगाने से बाल, मुलायम, घने और काले होते हैं। एलोवेरा जेल को मेहंदी में लगाकर मिलाने से बालों का झड़ना बंद हो जाता है। यदि आपके बाल झड़ गयें हों तो एलोवेरा का रस नियमित सर पर लगाते रहने से नये बाल उगते हैं।


भृंगराज

बालों के लिए भृंगराज का प्रयोग कीजिए। यदि आपके बाल सफेद हो रहे हैं तो आप त्रिफला, नील और लोहे के बुरादे को 1-2 चम्मच लेकर उसे भृंगराज की पत्तियों से निकले हुए रस में मिलाकर बालों में लगायें। रात में इस मिश्रण को लोहे की कड़ाही में रख दें, सुबह इसे बालों में लगाएं। जब यह अच्छी तरह से सूख जाए तो इसे साफ कीजिए। ऐसा करने से बालों का झड़ना बंद होगा साथ ही बाल घने और काले होंगे। यह बालों को सफेद होने से बचाता है।

समुद्री हर्ब्‍स

समुद्र औषधियों की खान है, इसमें कई ऐसे हर्ब्‍स पाये जाते हैं जो बालों का विकास करते हैं। समुद्री वनस्पति में आवश्यरक एमीनो एसिड, खनिज और विटामिन का उच्च स्रोत होता है। समुद्री वनस्पतियों की कई प्रजातियों का प्रयोग बालों की देखभाल के लिए किया जाता है। एटलांटिक केल्प, हिमांथालिया एलांगेटा आदि समुद्री वनस्‍पतियां बाल उगाने के लिए प्रयोग की जाती हैं। ये सिर की त्वचा को स्वस्थ बनाती हैं साथ ही बालों की समस्याओं का निवारण भी करती हैं।

ग्रीन टी

ग्रीन टी न केवल स्‍वास्‍थ्‍य के लिहाज से लाभदायक है बल्कि यह बालों को भी विकसित करती है। इस औषधि को मेल पैटर्न बाल्डनेस कम करने वाली दवा माना जाता है और रोज़ाना इसका प्रयोग करने से बालों का झड़ना कम हो जाता है। यह बहुत प्रभावशाली है क्योंकि यह टेस्टोस्टेरॉन को डीएचटी में बदलने से रोकता है जो कि बाल गिरने का मुख्य कारण होता है।

जिनसेंग

यह बहुत ही लोकप्रिय औषधि है जिसका उपयोग एशिया में हजारों वर्षों से किया जाता रहा है। यह वस्कुलर सर्कुलेशन को बढ़ाती है और कोशिकीय उपापचय (सेलुलर मेटॉबालिज्म) को नियमित करती है। इसे शैम्पू और हेयर टॉनिक में भी उपयोग किया जाता है। यह बालों को पोषण देती है और उन्‍हें मजबूत बनाती है।

नारियल

बालों में नारियल का तेल लगाने से बाल जड़ से मजबूत होते हैं, और बालों की खोई रंग को लौटाते हैं। बालों में नमी बनाये रखने के लिए इसमें शहद मिला सकते हैं। एक छोटे कप में नारियल तेल और शहद मिला लें और गर्म पानी के एक बड़े कटोरे में यह कप रख दें। मिश्रण जब तक गर्म न हो जाए तब तक कप को कुछ मिनट के लिए पानी में ही रखें। इस मिश्रण को बालों पर लगायें, 20 मिनट बाद बालों को धो लें।

आंवला

आंवला बहुत ही गुणकारी है, इसलिए इसे हर मर्ज की दवा भी कहा जाता है। आंवला बालों को मजबूत बनाता है, यह बालों को घना और असयम सफेद होने से भी बचाता है। आंवला बालों के विकास और पिग्मेंटेशन में भी लाभकारी है। यह प्राकृतिक कंडीशनर के तौर पर काम करता है। यह बालों की जड़ों को मजबूत बनाता है, उनके प्राकृतिक रंग और चमक को बनाए रखता है।   

शहद

शहद बालों के लिए बहुत फायदेमंद है। स्वाभाविक रूप से बालों के लिए यह एक अच्छा कंडीशनर और मॉइस्चराइजर है, क्योंकि इसमें पानी के अणुओं को आकर्षित करने और अपने अन्दर बनाए रखने की क्षमता होती है। यह बालों को और चमकीला और नरम बनाता है। इसे बालों में आंवले, मेंहदी, दही और अंडे के साभ भी लगा सकते हैं। बालों में शहद से मालिश करने पर बाल जड़ से मजबूत होते हैं।

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK