Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

कैसे उठायें स्‍वस्‍थ आहार का मजा

एक स्वस्थ जीवन बिताने के लिए पौष्टिक व सेहतमंद आहार पूर्व-शर्त है। इसके लिए आहार की सही जानकारी होना जरूरी है। हम रोजमर्रा के अपने खान-पान की छोटी-छोटी आदतों को सुधार कर अपनी सेहत को बेहतर बना सकते हैं। जैसे खाना ज्यादा से ज्यादा चबाकर खाएं, नाश्ता

एक्सरसाइज और फिटनेस By Shabnam Khan Dec 06, 2014

स्वस्थ खाएं स्वस्थ जियें

आज हमारी जीवनशैली जिस तरह की हो चुकी है, उसमें अपने आपको स्वस्थ रखना बहुत बड़ी चुनौती है। हमारी जीवनशैली नई है, लेकिन खाने से जुड़ी आदतें पुरानी। एक स्वस्थ जीवन बिताने के लिए पौष्टिक व सेहतमंद आहार पूर्व-शर्त है। पौष्टिक आहार का मतलब ये नहीं होता कि हम अपने खाने पर खूब खर्च करें और बाजार में मिलने वाले हर आकर्षक खाद्य पदार्थ को खरीद लाएं। सीधा-सादा खाना भी आपकी सेहत के लिए बहुत अच्छा साबित हो सकता है। जरूरत है आहार की सही जानकारी होना। हम दिन भर में जो कुछ भी खाते हैं उसका हमारी सेहत पर क्या असर होगा इसकी जानकारी होना बहुत जरूरी है। आइये जानते हैं कुछ ऐसे टिप्स जिन्हें अपनाकर आप एक स्वस्थ संतुलित आहार का मजा ले सकते हैं।

Image Source - Getty Images

अच्छे से चबाकर खाएं

खाना कभी जल्दबाजी में नहीं खाना चाहिए। इस तरह से न आप खाने का पूरी तरह स्वाद ले पाते हैं, न खाने से संतुष्ट हो पाते हैं और न ही आपको उस खाने का पूरा फायदा मिल पाता है। हमेशा खाना धीरे-धीरे चबाकर खाएं। ऐसा करने से आपको काफी फायदे होंगे। सबसे पहले तो भोजन पचाना आसान होगा। दूसरा, इस आदत से आपको वजन पर नियंत्रण रखने में आसानी होगी। भोजन के दौरान ‌मस्तिष्क शरीर को पेट भरने के संकेत देता है। धीरे-धीरे और चबाकर भोजन करने से खाने की इच्छा कम होने लगती है और मस्तिष्क शरीर को भूख खत्म होने का संकेत देता है। तीसरा फायदा ये होता है कि आपको खाने से संतुष्टि प्राप्त होती है। हर निवाले का स्वाद मिल पाता है जिससे आपके पेट के साथ-साथ मन भी तृप्त होता है।

Image Source - Getty Images

नाश्ता न छोड़ें

कुछ लोग नाश्ता इसलिए नहीं करते क्योंकि उन्हें लगता है कि ऐसा करने से उन्हें वजन कम करने में मदद मिलेगी। जबकि रिसर्च बताती है कि नाश्ता करने से वजन पर नियंत्रण रखना आसान हो जाता है। सुबह ऑफिस जाने की जल्दबाजी में भी लोगों का नाश्ता छूट जाता है। ऐसा न करें, नाश्ते के लिए थोड़ा वक्त जरूर निकालें। पौष्टिक नाश्ता संतुलित आहार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होता है। इससे हमें विटामिन, कार्बोहाईड्रेट और मिनरल्स मिलते हैं, जिसकी जरूरत हमें अपने अच्छे स्वास्थ्य के लिए होती है। सुबह के नाश्ते में अंडा, ओटमील, होल मील सीरिअल्स, दूध और फल लिये जा सकते हैं। इससे आपके दिन की शुरुआत काफी अच्छी हो जाएगी और आप ऊर्जावान महसूस करेंगे।

Image Source - Getty Images

रेड मीट से दूरी, मछली से नजदीकी

अगर आप फिट रहना चाहते हैं तो रेड मीट से दूर रहें। इसमें काफी मात्रा में सैचुरेटेड फैट होता है जो कोलेस्ट्रोल के स्तर को बढ़ाता है। रेड मीट का सेवन हमारे दिल की सेहत के लिए अच्छा नहीं है। इसकी जगह आप मछली का सेवन कर सकते हैं। मछली एक स्वास्‍थ्‍यवर्धक भोजन है। यह लो सैचुरेटेड फैट, हाई प्रोटीन, और ओमेगा -3 फैटी एसिड का एक बहुत अच्छा स्रोत भी है। इसको भोजन के रूप में शामिल करने से शरीर को विटामिन, मिनरल और ऐसे कई प्रकार के पोषक तत्‍व मिलेंगे जिनकी हमारे शरीर को जरुरत होती है। मछली का सेवन ह्रदय रोग व मोटापे की समस्या में फायदा पहुंचाता है। इससे आंखों की रौशनी भी बढ़ती है और रक्तचाप नियंत्रित रहता है।

Image Source - Getty Images

लहसुन का सेवन फायदेमंद

लहसुन खाने से शरीर को विटामिन ए, बी और सी के साथ आयोडीन, आयरन, पोटेशियम, कैल्शियम व मैग्नीशियम जैसे कई पोषक तत्व मिलते हैं। यही कारण है कि इसके नियमित सेवन से शरीर ताकतवर व त्वचा चमकदार हो जाती है। इसके अलावा, लहसुन में एंटी-क्‍लॉटिंग गुण होते है जो खून को पतला करने में सहायक होते है और शरीर में खून के थक्‍के बनने से रोकते हैं। यह शरीर में इन्‍सुलिन की मात्रा को बढ़ा देता है जिससे डायबिटीज की बीमारी में राहत मिलती है क्‍योंकि इससे ब्‍लड शुगर लेवल सही रहता है। इसलिए अपने आहार में नियमित रूप से लहसुन को शामिल कीजिए।

Image Source - Getty Images

सोने से पहले चाय-कॉफी नहीं

कुछ लोगों को दिन भर थोड़ी-थोड़ी देर के अंतराल में चाय-कॉफी पीने की आदत होती है। ये आदत सेहत के लिए अच्छी नहीं है। चाय-कॉफी में मौजूद कैफीन की मात्रा बॉडी में कोर्टिसोल (स्टीरॉयड हारमोन्स) की मात्रा बढ़ा देती है, जिसकी वजह से बॉडी में स्वास्थ्य संबंधी कई तरह की परेशानियां पैदा हो जाती हैं। इनमें दिल से संबंधित परेशानियां, मधुमेह और वजन बढ़ना प्रमुख है। सोने से पहले चाय व कॉफी के सेवन की आदत भी ठीक नहीं है। इससे आपकी नींद उड़ सकती है। अक्सर लोग देर रात तक जगने के लिए चाय -कॉफी का सहारा लेते हैं क्योंकि इसे पीने से नींद चली जाती है। अगर आपने एक स्‍ट्रांग कप कॉफी पी ली तो आपकी दो घंटे की नींद उड़ सकती है और साथ में बेचैनी महसूस हो सकती है।

Image Source - Getty Images

कम नमक खाएं

अगर आप अपने खाने में नमक नहीं भी डालें, तो भी हो सकता है कि आप बहुत ज्यादा नमक का सेवन कर रहे हों। दरअसल, जो खाद्य पदार्थ हम बाजार से खरीदते हैं, उसमें नमक पहले से मौजूद होता है। जैसे कि ब्रेकफास्ट सीरिअल्स, सूप, ब्रेड और सॉस। शरीर में नमक की मात्रा ज्यादा हो जाने की वजह से ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है। और जिन लोगों को हाई ब्लड प्रेशर होता है उन्हें दिल संबंधी बीमारियां और दिल का दौरा होने का खतरा अधिक होता है। इसलिए कोशिश कीजिए कि अपने खाने में नमक की मात्रा कम रखें। साथ ही, बाजार से लाए खाद्य पदार्थों के लेबल पढ़कर उन्हें खाएं।

Image Source - Getty Images

सब्जियां और फल हैं जरूरी

आहार में अलग-अलग रंग के फल और सब्जियों को शामिल करके सेहत संबंधी कई समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है। फल एवं सब्जी प्राकृतिक रूप से जितना रंगीन होते हैं, वे उतने ही अधिक स्वादिष्ट और स्वास्थ्यवर्धक भी होते हैं। रंगीन फल या सब्जियों में बीटा-कैरोटीन, वीटामिन-बी, विटामिन-सी समेत और भी कई पोषक तत्व अधिक मात्रा में पाए जाते हैं। बीटा-कैरोटीन गर्भाशय कैंसर, हृदय संबंधी बीमारियों, तनाव, अर्थराइटिस जैसी बीमारियों से बचाव करता है। हरे रंग की सब्जियों के सेवन से हीमोग्लोबिन का स्तर ठीक रहता है और आंखों की ज्योति भी सही बनी रहती है। पीले और नारंगी रंग के फलों और सब्जियों में विटामिन-सी जैसे एंटी-ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं, जो शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बनाए रखने में सहयोग देते हैं और पाचन क्रिया बेहतर बनाते हैं। इसमें नींबू, कीनू, पपीता, संतरा, केला, बेेल, रसभरी आदि मुख्य हैं।

Image Source - Getty Images

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK