Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

इन अनहेल्‍दी चीजों के बजाय 7 हेल्‍दी और पर्यावरण अनुकूल वस्‍तुओं को आजमायें

हमारे आसपास तकनीक का ऐसा जाल बुन चुका है कि हम उससे निकलना चाहते, चाहे वह रूम फ्रेशनर हो या फिर हाथ कमरे की सफाई सभी के लिए केमिकलयुक्‍त चीजों का प्रयोग करते हैं, लेकिन इनकी जगह हेल्‍दी और पर्यावरण के अनुकूल वस्‍तुओं का प्रयोग कर सकते हैं।

तन मन By Rahul SharmaMay 12, 2015

पर्यावरण अनुकूल वस्‍तुओं को आजमायें

जब बात ईको फ्रेंडली होने की आती है तो हममें से अधिकांश लोग अपनी ज़िंदगी में कुछ इतने व्यस्त हो जाते हैं कि इस दिशा में कोई प्रयास ही नहीं करना चाहते। लेकिन आपको जानकर खुशी होगी कि हम सभी आलसी लोगों के लिए पर्यावरण की दृष्टि से रोजमर्रा की चीजों के कुछ ऐसे बेहद आसान तरीके भी हैं, जो न सिर्फ ईको फ्रेंडली हैं, बल्कि हेल्दी भी होते हैं। तो चलिये जानें ऐसे ही तरीकों के बारे में।
Images source : © Getty Images

बेकिंग सोडा है अच्‍छा रूम फ्रेशनर

एयर फ्रेशनर में मौजूद कैमिकल्स पर्यावरण और आप के स्वास्थ्य दोनों के लिए ही बेहद बुरे होते हैं, इसलिये बेकिंग सोड़ा मेड आरान रेमेडी का उपयोग करें। इसे बनाने के लिये एक चम्मच बेकिंग सोड़े को थोड़े से पानी में मिलाकर स्प्रे बोतल में रख लें। आप सुगंध के लिये किसी भी इसेंशियल ऑयल की कुछ बूंदों का इस्तेमाल कर सकते हैं। लेकिन ऐसा करना जरूरी नहीं होता है। बस आपका ईको फ्रेंडली एयर फ्रेशनर तैयार है।
Images source : © Getty Images

प्लास्टिक की प्लेटें और कटलरी

प्लास्टिक की प्लेटें और कटलरी की जगह सिरेमिक प्लेट और स्टील कटलरी का स्तेमाल करना ईको फ्रेंडली विकल्प होता है। अधिकांश लोगों को प्लास्टिक की प्लेटें व चम्मच आदि इस्तेमाल करने की आदत होती है, लेकिन ये आदत अपशिष्ट का भारी मात्रा पैदा करती है। सिरेमिक प्लेट और स्टील कटलरी को खाना खाने के बाद धोने में थोड़ा ज्यादा वक्त भले ही लगे, लेकिन ये पर्यावरण के लिहाज से बेहद अच्छी होती हैं।
Images source : © Getty Images

पेपर नैपकिन की जगह कपड़े वाले नैपकिन

पेपर नैपकिन और तौलिये सुविधाजनक तो होते हैं, लेकिन इन्हें बनाने के लिये बहुत सारे पेड़ काटने पड़ते हैं और पर्यावरण को इसकी बड़ी कीमत चुकानी पड़ती है। पेपर नैपकिन की जगह कपड़े वाले नैपकिन का इस्तेमाल करने से इन्हें धो कर दोबारा इस्तेमाल किया जा सकता है और पहुत सारे पेड़ों को बचाया जा सकता है।   
Images source : © Getty Images

घरेलू क्लीनर की जगह सिरका

अपनी खिड़कियां और घर के अन्य सामान को साफ करने के लिये औद्योगिक क्लीनर का उपयोग करने की बजाए घर पर ही बनाए गए क्ल ीनर का इस्तेमाल करें। इसे बनाने के लिये बराबर भाग में सिरका और पानी मिला लें, क्लीनर तैयार।
Images source : © Getty Images

पॉलीथिन की जगह जूट बैग

पॉलीथिन की जगह जूट के बैग का इस्तेमाल करें। इसकी शुरुआत के लिये जैसे किसी को उपहार देना है तो उसे जूट के कवर में पैक करके दिया जा सकता है। बाजार जाएं तो जूट का इस्तेमाल करें, देखने में भी यह आकर्षक लगता है।
Images source : © Getty Images

सिंथेटिक डायपर की जगह कपड़े के डायपर

सिंथेटिक डायपर की जगह कपड़े के डायपर का इस्तेमाल कर आप अपने नन्हे-मुन्ने को भी पर्यावरण बचाव में शामिल कर सकते हैं। इससे न सिर्फ आप काफी सारे पैसे बचा सकते हैं, बल्कि पर्यावरण की मदद भी कर सकते हैं।
Images source : © Getty Images

बिजली का बचत

अगर कम्प्यूटर पर काम करते समय थोड़ी देर के लिए भी कहीं जाना हो तो उसे स्लीप मोड पर सेट कर दें। ऐसा करके तुम 80 प्रतिशत पावर बचा सकते हो। ऐ से ही यदि स्टडी टेबल खिड़की के सामने या अगल-बगल में लगाएं, ताकि दिन के समय बल्ब जलाकर पढ़ने के बजाय लाइट की मदद से पढ़ाई की जा सके।
Images source : © Getty Images

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK