Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है सेंधा नमक

सेंधा नमक के स्‍वास्‍थ्‍य लाभों के साथ कई सौंदर्य उपयोग भी है। यह केमिकल यौगिक, मैग्‍नीशियम सल्‍फेट से बना है। सेंधा नमक से नियमित आधार पर स्‍नान का आनंद लेना, नमक के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ का आनंद लेने का आसान और आदर्श तरीका है।

घरेलू नुस्‍ख By Pooja SinhaDec 26, 2014

सेंधा नमक के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ

आमतौर पर लोग व्रत के दौरान ही सेंधा नमक का इस्‍तेमाल करते हैं, लेकिन सेंधा नमक बहुत लाभकारी होता है। सेंधा नमक के स्‍वास्‍थ्‍य लाभों के साथ कई सौंदर्य उपयोग भी है। यह केमिकल यौगिक, मैग्‍नीशियम सल्‍फेट से बना है। मैग्नेशियम, मानव कोशिकाओं के घटकों में से एक है, और लगभग 325 एंजाइमों को विनियमित करने के लिए शरीर के लिए आवश्यक होते है और कई शारीरिक कार्यों में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है।
Image Courtesy : Getty Images

हर रूप में फायदेमंद

मैग्नीशियम की कमी को उच्च रक्तचाप, हड्डियों की कमजोरी और सिरदर्द जैसी स्वास्थ्य समस्याओं के साथ संबद्ध किया गया है। सल्फेट मस्तिष्क ऊतक के गठन और शरीर द्वारा पोषक तत्‍वों के अवशोषण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। साथ ही यह डिटॉक्सीफिकेशन प्रक्रिया में भी मदद करता है। मैग्‍नीशियम सल्‍फेट का त्‍वचा के माध्‍यम से अवशोषण किया जा सकता है। सेंधा नमक से नियमित आधार पर स्‍नान का आनंद लेना, नमक के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ का आनंद लेने का आसान और आदर्श तरीका है। सेंधा नमक का इस्‍तेमाल बाहरी और आंतरिक दोनों रूपों में किया जा सकता है।
Image Courtesy : Getty Images

इन लोगों को नहीं करना चाहिये सेवन

इस बात को हमेशा ध्‍यान में रखना चाहिए कि सेंधा नमक हर किसी के लिए फायदेमंद नहीं होता। कुछ लोगों को इसके सेवन से पेट में दर्द, दस्त, मतली और उल्टी जैसे साइड इफेक्‍ट देखने को मिलते हैं। इसलिए गर्भवती या स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इसके सेवन से बचना चाहिए साथ ही किडनी की समस्याओं या मधुमेह वाले लोगों को भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए। इसके अलावा 6 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए सेंधा नमक की सिफारिश नहीं की जाती।
Image Courtesy : Getty Images

तनाव कम करें

तनाव को कम करने में सेंधा नमक बहुत फायदेमंद होता है। तनाव में शरीर से मैग्नीशियम का निकास और एड्रेनालाईन का स्तर बढ़ने लगता है। और मैगनीशियम मस्तिष्क में मूड को ऊपर उठाने वाले सेरोटोनिन केमिकल की रिहाई और तेज करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह घबराहट, चिड़चिड़ापन, अनिद्रा और असामान्य दिल लय को अच्‍छी तरह से कम कर विश्राम की भावना पैदा करता है।
तनाव होने पर नहाने के गुनगुने पानी में एक कम सेंधा नमक मिला लें। फिर इस पानी में 20 मिनट तक स्‍नान करें। ऐसा करने से आम ज्‍यादा सुकून और बेहतर नींद महसूस करने लगेंगे। एक सप्‍ताह में तीन बार सेंधा नमक के पानी से स्‍नान करने से आप तनाव मुक्‍त जीवन का आनंद ले सकते हैं।
Image Courtesy : Getty Images

डिटॉक्सीफिकेशन में मददगार

शरीर से विषाक्‍त पदार्थों को नष्‍ट करने में सेंधा नमक सहायता करता है। यह विषाक्‍त पदार्थ स्‍वास्‍थ्‍य के लिए खतरनाक होते हैं। सेंधा नमक में मौजूद मैग्‍नीशियम कोशिकाएं डिटॉक्‍स (विषाक्‍त पदार्थों को नष्‍ट) के लिए आवश्‍यक होती है। एक आरामदेह डिटॉक्‍स स्‍नान का आनंद लेने के लिए आप गुनगुने पानी से भरे बाथटब में 1 से 2 कप सेंधा नमक मिलाकर 10 से 15 मिनट के लिए स्‍नान करें। इस उपाय को सप्‍ताह में 2 से 3 बार करना चाहिए।   
Image Courtesy : Getty Images

मांसपेशियों की ऐंठन से छुटकारा

सेंधा नमक वर्कआउट के बाद मांसपेशियों में ऐंठन और दर्द के इलाज के लिए बहुत मददगार होती है। मैग्नीशियम प्रभावी ढंग से दर्द आसान बनाता है और सूजन को कम करता है। साथ ही मांसपेशियों को तनावमुक्‍त करने में भी मदद करता है। इसके लिए आप सेंधा नमक में थोड़ा सा गर्म पानी मिलाकर गाढ़ा पेस्‍ट बना लें। सुखदायक आराम पाने के लिए इस पेस्‍ट को प्रभावित क्षेत्र में लगाकर 15 से 20 मिनट के लिए लगाये। अन्‍य विकल्‍प के रूप में नमक मिले गुनगुने पानी से कम से कम 20 मिनट के लिए स्‍नान करें। इसके लिए एक गुनगुने पानी के टब में एक कप सेंधा नमक मिलाये।  
Image Courtesy : Getty Images

दर्द दूर करें

सेंधा नमक दर्द और सूजन को दूर करने में भी आपकी मदद कर सकता है। इसमें मौजूद मैग्नीशियम शरीर में पीएच स्तर को विनियमित करने में मदद करता है। यह गठिया के किसी भी रूप से जुड़े जकड़न, सूजन और दर्द को कम करने में मदद करता है। साथ ही यह अस्थि मिनरल के रूप में भी मदद करता है। इसके अलावा, सेंधा नमक तंत्रिका की कार्यक्षमता को बढ़ावा देने और तंत्रिका के दर्द को आराम करने में भी मदद करता है। इसके लिए आप गुनगुने पानी में 2 चम्‍मच सेंधा नमक मिला लें। फिर शरीर के दर्द वाले अंग को इस पानी में 20 से 30 मिनट तक दर्द भिगोये। प्रत्‍येक सप्‍ताह इस उपाय को तीन बार करने से लाभ मिलता है।  
Image Courtesy : Getty Images

सुंदर बालों के लिए

सेंधा नमक बालों को स्‍वस्‍थ रखने के लिए भी मददगार होता है। यह स्‍कैल्‍प से अतिरिक्‍त तेल को निकालकर स्‍कैल्‍प को स्‍वस्‍थ रखने में मदद करता है। साथ ही यह बालों की अन्‍य समस्‍याएं जैसे पतले बाल, बालों को झड़ना, दोमुंहे बाल, तैलिये बालों आदि को दूर करने में भी मदद करता है। इसके अलावा, सेंधा नमक में मौजूद मिनरल बालों की मरम्‍मत और क्षतिग्रस्‍त बालों को मजबूत बनाने में मदद करता है। बालों के लिए हेयर मास्‍क बनाने के लिए, नमक और डीप कंडीशनर को बराबर भाग में मिलाकर पेस्‍ट बना लें। फिर इसे अपने बालों को हल्‍का नम करके लगा लें। 15 से 20 मिनट के लिए इसे छोड़कर इसे ठंडे पानी से धो लें। इस उपाय को केवल सप्‍ताह में एक बार ही प्रयोग करें।
Image Courtesy : Getty Images

त्वचा को एक्सफोलिएट करें

स्‍वस्‍थ और मुलायम त्‍वचा पाने के लिए सप्‍ताह में एक या दो बार एक्सफोलिएट करना आवश्‍यक होता है। यह त्‍वचा की मृत कोशिकाओं से छुटकारा दिलाने के साथ रोमछिद्रों से तेल को निकाल कर सामान्य त्वचा की समस्याओं जैसे खुजली, ब्‍लैकहडैंस और मुंहासों को दूर करने में मदद करता है। इसके लिए बस एक मुट्ठी सेंधा नमक को लेकर त्‍वचा से मृत कोशिकाओं को हटाने के लिए धीरे-धीरे त्‍वचा पर रगड़े। और फिर गुनगुने पानी से इसे साफ कर लें। इसके अलावा, एक मुट्ठी सेंधा नमक लेकर उसमें एक बड़ा चम्‍मच ऑलिव ऑयल मिला लें। इस पेस्‍ट को गीली त्‍वचा पर अच्‍छे से एक्‍सफोलिएट कर, गुनगुने पानी से धो लें। अपनी त्‍वचा को स्‍वस्‍थ, चिकनी और मुलायम बनाने के लिए इस उपाय को हर सप्‍ताह करें।
Image Courtesy : Getty Images

सनबर्न से बचाव

सेंधा नमक सनर्बन के लिए त्‍वचा के लिए बहुत सुखद है। इसमें मौजूद एंटी-इफ्लेंमेटरी गुण सनबर्न से होने वाली हल्‍की जलन, खुजली और दर्द को दूर करने में मदद करता है। यह स्किन टोन को बनाये रखने में भी मदद करता है। सनबर्न से प्रभावित हाथ और पैर के इलाज के लिए आप एक कप पानी में 2 बड़े चम्‍मच मिलाकर मिश्रण बना लें। फिर इस मिश्रण को स्‍प्रे बोतल में डालकर स्‍टोर कर लें। फिर इसे प्रभावित हिस्‍से में स्‍प्रे करें। दस मिनट लगा रहने के बाद नहा लें। अंतर म‍हसूस करने के लिए इस उपाया को सप्‍ताह में कई बार करें।
Image Courtesy : Getty Images

हृदय स्वास्थ्य में सुधार

सेंधा नमक दिल के स्‍वास्‍थ्‍य में सुधार करने के लिए भी बहुत उपयोगी होता है। इसमें मौजूद मैग्नीशियम सामान्य दिल ताल और स्वस्थ धमनियों को बनाए रखने में मदद करता है। धमनियां के स्वस्थ होने पर खून के थक्के, प्‍लॉक के बनने, धमनियों की दीवारों के नुकसान का जोखिम भी कम होता है। इसके अलावा, सेंधा नमक रक्‍त परिसंचरण के सुधार में मदद करता है, जिससे हृदय रोग और स्ट्रोक का खतरा भी कम होता है। दिल के स्‍वास्‍थ्‍य और दिल के दौरे के खतरे को कम करने के लिए सेंधा नमक के पानी से एक सप्‍ताह में 3 बार स्‍नान करें।
Image Courtesy : Getty Images

पाचन में सुधार

शरीर और पाचन तंत्र से हानिकारक विषाक्त पदार्थों और अपशिष्ट उत्पादों को कम करने में सेंधा नमक आपकी मदद करता है। यह रेचक के रूप में काम कर मल को नर्म कर आसानी से पारित करने और कब्‍ज के इलाज में मदद करता है। एक कप गर्म पानी में 1 से 2 चम्‍मच सेंधा नमक डालकर दिन में एक बार खाली पेट पीना चाहिए। लेकिन आंतरिक रूप से इसे ज्‍यादा लेने से गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल जलन, दस्त, मतली और उल्टी सहित कुछ साइड इफेक्ट, पैदा कर सकता है। सेंधा नमक लेने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करें। एक सप्ताह से अधिक समय से यह इसे नहीं लेना चाहिए। इसके अलावा, सेंधा नमक से स्नान करने से वॉटर रिटेंशन और पेट की सूजन को कम करने में मदद मिलती है।
Image Courtesy : Getty Images

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK