Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

मछली खाने के 9 अद्भुत स्‍वास्‍थ्‍य लाभ

मछली में विटामिन, मिनरल और कई प्रकार के पोषक तत्व मौजूदगी के कारण मछली खाने से शरीर को सभी आवश्‍यक पोषक तत्‍व प्राप्‍त होते हैं, जो शरीर के लिए आवश्यक होते हैं। मछली खाने से केवल कैंसर ही नहीं बल्कि कई सामान्य बीमारियां भी दूर होती हैं।

घरेलू नुस्‍ख By Pooja SinhaFeb 23, 2015

मछली खाने के फायदे

मछली में पाये जाने वाले लो सेचुरेटेड फैट, अधिक मात्रा में प्रोटीन और ओमेगा-3 फैटी एसिड के कारण मछली का सेवन सेहत के लिए स्‍वास्‍थ्‍यवर्धक होता है। मछली में विटामिन, मिनरल और कई प्रकार के पोषक तत्व मौजूद होते हैं इसलिए मछली को खाने से शरीर को सभी आवश्‍यक पोषक तत्‍व मिलते हैं। जो शरीर के लिए आवश्यक होते हैं। मछली खाने से केवल कैंसर ही नहीं बल्कि कई सामान्य बीमारियां भी दूर होती हैं। डायबिटीज रोगियों के लिए मछली बहुत फायदेमंद है। अगर ऊर्जावान बनना चाहते हैं तो अपने लंच और डिनर में मछली को शामिल कीजिए। आइए हम आपको बताते हैं मछली के स्‍वास्‍थ्‍य लाभों के बारें में।
Image Courtesy : Getty Images

कैंसर के खतरे को कम करें

मछली खाने से कैंसर का खतरा कम होता है। जी हां, नॉनवेज के रूप में जो लोग मछली का ज्यादा मात्रा में सेवन करते हैं उनको सामान्य लोगों की तुलना में कैंसर होने का खतरा कम होता है। सिडनी यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने शोधों में यह पाया है कि मछली खाने से कैंसर का खतरा कम होता है। मछली में ओमेगा-3 फैटी एसिड ज्यादा मात्रा में पाया जाता है, जो कैंसर होने से रोकता है। टूना और सालमन मछलियों में ओमेगा-3 फैटी एसिड की ज्यादा मात्रा होती है। मछली स्तन कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर, अंडाशय के कैंसर के होने की संभावना कम करता है। इसलिए सामान्य मछलियों की तुलना में इन मछलियों को अपने खान-पान में शामिल कीजिए।
Image Courtesy : Getty Images

दिमाग तेज करें

व्यक्ति के मस्तिष्क के विकास के लिए महत्वपूर्ण पदार्थ फैटी मछली में काफी अधिक मात्रा में पाए जाते हैं। मस्तिष्क में बड़ी मात्रा में डीएचए नामक फैटी एसिड होता है, लेकिन दुर्भाग्यवश मानव शरीर इस फैटी एसिड को उतनी मात्रा में पैदा करने में असमर्थ होता है, जितनी कि मस्तिष्क की जरूरत है। जबकि मांस, अंडे तथा मछली, खासकर फैटी मछलियों, जिनमें डीएचए बहुत अधिक मात्रा में होता है, से इस कमी को आमतौर पर पूरा किया जाता है। साथ ही म‍छली मस्तिष्क की कोशिकाओं के पुनर्निर्माण में मदद करती है। मैकरेल, सार्डीनीज और टूना मछलियों में डीएचए अधिक मात्रा में होता है। इसलिए मछली के सेवन से दिमाग तेज होता है और भूलने की बीमारी में भी फायदा होता है।
Image Courtesy : Getty Images

दिल की सुरक्षा करें

हृदय रोगियों के लिए मछली खाना बहुत फायदेमंद होता है। मछली में पाया जाने वाला ओमेगा-3 फैटी एसिड दिल और धमनियों को मजबूत बनाता है। मछली शरीर में अच्छे कोलस्ट्राल के स्तर को बढा़तीहै, जिससे धमनियों में खून नहीं रुकता। न्यू ऑरलेंस में आयोजित अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के शोध निष्कर्षों के अनुसार सालमन, मेकरील, टूना और सार्डीनीज जैसी फैटी मछलियों में पाया जाने वाला ओमेगा-3 फैटी एसिड ऊतकों और धमनियों तक पहुंचकर दिल की सुरक्षा में मदद करता है।
Image Courtesy : Getty Images

रक्तचाप कम करें

अगर आपको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है तो मछली खाना आपके लिए बहुत ही फायदेमंद है, क्योंकि मछली और मछली का तेल दोनों ही ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करते हैं। अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के अनुसार ओमेगा-3 फैटी एसिड से युक्त मछली के नियमित सेवन से उच्च रक्तचाप पीड़ित व्यक्ति के रक्तदाब में उल्लेखनीय कमी आती है।
Image Courtesy : Getty Images

मोटापा कम करने में मददगार

मछली खाने से शरीर के अंदर मौजूद अतिरिक्त फैट समाप्‍त होता है, जिससे मोटापा कम होता है। मोटे लोगों को अपने वजन को कम करने के लिए लंच और डिनर में मछली और मछली का तेल प्रयोग करना चाहिए।  
Image Courtesy : Getty Images

आंखों की रोशनी बढ़ाये

विटामिन ए के कारण मछली, आंखों के लिए भी फायदेमंद होती है। मछली खाने से आंखों की रोशनी बढती है। मोतियाबिंद या आंखों में सूखेपन जैसी समस्याओं को मछली खा कर आराम से दूर किया जा सकता है। हफ्ते में कम से कम दो बार मछली खाने से आंखों की सूजन कम होती है और मांसपेशियां को भी मजबूत मिलती हैं।
Image Courtesy : Getty Images

त्वचा की खूबसूरती बढ़ाये

अगर आप मांसाहारी हैं तो अपनी त्वचा की खूबसूरती को बढ़ाने के लिए अपने आहार में मछली को शामिल करना न भूलें। मछली में ओमेगा-3 फैटी एसिड की मौजूदगी त्वचा को अल्ट्रावायलेट किरणों के दुष्प्रभाव से बचाता है और त्वचा को स्‍वस्‍थ  बनाता है। साथ ही मछली के सेवन से झुर्रियां भी कम होती है।
Image Courtesy : Getty Images

प्रोटीन का अच्‍छा स्रोत

मछलियों में आवश्यक अमीनो एसिड की भरपूर मात्रा में होने के कारण मछली प्रोटीन का एक अच्छा स्त्रोत है। मछली प्रोटीन लाइसीस और थ्रियोनियन (Lysine & Threonine) में समृद्ध होती है जो अनाज में पाए जाने वाले प्रोटीन के साथ एक पूरक आहार बनाती है। छोटी मछलियां को अगर हड्डी समेत खाया जाये तो यह कैल्शियम का भी बहुत अच्छा स्त्रोत है।
Image Courtesy : Getty Images

गर्भवती महिलाओं के लिए फायदेमंद

ब्रिस्टल यूनिवर्सिटी के अनुसार मछली का प्रयोग गर्भावस्था में करने से बच्चे के अंतर्निहित विकास में बहुत मदद मिलती है। शोध के अनुसार, मछलियों में ओमेगा–3 फैटी एसिड की उपस्थिति बच्चे के मस्तिष्क के विकास में सहायक होता है। गर्भावस्‍था के दौरान मछली के सेवन से भ्रूण को पर्याप्‍त मात्रा में रक्त की आपूर्ति के कारण अधिक पोषण मिलता है। यानी बढ़ा हुआ ब्‍लड सर्कुलेशन प्लेसेन्टा में अधिक रक्त प्रवाहित करता है और इसके फलस्वरूप भ्रूण रक्त से अधिक पोषण प्राप्त कर पाता है।
Image Courtesy : Getty Images

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK