Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

इन 9 कारणों से हमेशा हंसते रहने की है जरूरत

हंसने से सकारात्‍मकता तो आती है साथ ही यह सेहत के लिहाज से बहुत फायदेमंद होता है, आइए हम आपको बताते हैं कि किन कारणों से अधिक हंसने की है जरूरत।

तन मन By Meera RoyOct 05, 2015

फायदेमंद है हंसना


ये कहने की जरूरत नहीं है कि हंसने से हमारा मन मिजाज़ अच्छा रहता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि हंसने के असंख्य फायदे भी हैं। यही नहीं हंसने के कारण हम हमेशा सकारात्मकता से घिरे रहते हैं। इतना ही नहीं खुशमिजाज़ होने से बिगड़े काम बनने लगते हैं और बने काम बेहतर हो जाते हैं। जी, हां! स्वास्थ्य विशेषज्ञों की मानें तो हम जितना हंसते हैं, उससे ज्यादा हंसना चाहिए। इससे हमें गुस्सा कम आता है और भी कई शारीरिक लाभ मिलते हैं। आइये हंसने के कुछ फायदों पर नज़र डालते हैं।
Images source : © Getty Images

 

सकारात्मकता बढ़ती है


अगर आप दुखी रहने की बजाय हंसने और खुश रहने को तरजीह देते हैं तो यकीन मानिए कि नकारात्मकता आपके इर्द-गिर्द फटक भी नहीं सकेगी। सकारात्मकता हमेशा आपको घेरे रहेगी। परिणामस्वरूप जब भी आप संकट में होंगे तो उसका समाधान खोजने में ज्यादा समय नहीं लगेगा। असल में यह कहने की जरूरत नहीं है कि सकारात्मक व्यक्ति बड़े से बड़े संकट व परेशानी को आसानी से झेल लेता है। जबकि नकारात्मक व्यक्ति अपनी छोटी परेशानी को भी विकराल रूप में बदल देता है। विशेषज्ञों की मानें तो हंसिये और हंसाइये। अपनी सकारात्मक सोच बढ़ाइये।
Images source : © Getty Images

सकारात्मकता बढ़ती है


अगर आप दुखी रहने की बजाय हंसने और खुश रहने को तरजीह देते हैं तो यकीन मानिए कि नकारात्मकता आपके इर्द-गिर्द फटक भी नहीं सकेगी। सकारात्मकता हमेशा आपको घेरे रहेगी। परिणामस्वरूप जब भी आप संकट में होंगे तो उसका समाधान खोजने में ज्यादा समय नहीं लगेगा। असल में यह कहने की जरूरत नहीं है कि सकारात्मक व्यक्ति बड़े से बड़े संकट व परेशानी को आसानी से झेल लेता है। जबकि नकारात्मक व्यक्ति अपनी छोटी परेशानी को भी विकराल रूप में बदल देता है। विशेषज्ञों की मानें तो हंसिये और हंसाइये। अपनी सकारात्मक सोच बढ़ाइये।
Images source : © Getty Images

उत्पादक क्षमता बढ़ती है


जैसा कि पहले ही बता दिया गया है कि जितना हंसते हैं, यदि उससे ज्यादा हंसेंगे तो सकारात्मक सोच बढ़ेगी। इससे यह अंदाजा लगाना मुश्किल नहीं है कि जिनकी सकारात्मक सोच होती है, वे अकसर तरक्की की ओर बढ़ते हैं। उनकी उत्पादक क्षमता बेहतर तरीके से प्रभावित होती है। यही नहीं वे अपने प्रतिद्वंदी को आसानी से मात दे सकते हैं। कहने का मतलब यह है कि हंसते रहिय और अपनी उत्पादक क्षमता बढ़ाते रहिए।
Images source : © Getty Images

विश्वसनीयता बढ़ती है


हंसना सिर्फ एक भाव नहीं है। हंसना दूसरों को अपनी ओर आकर्षित करना होता है, दूसरों का विश्वास भी जीतना होता है। आप सोच रहे होंगे कि भला हंसने से विश्वास का क्या ताल्लुक? लेकिन आपको बता दें कि जब आप किसी से हंसकर मिलते हैं, उन्हें हंसाते हैं तो इससे दो अजनबियों के बीच गहरा रिश्ता पनपने लगता है। ये रिश्ता विश्वसनीयता को जन्म देता है। मतलब साफ है कि हंसकर दूसरों को विश्वास जीतते रहिए।
Images source : © Getty Images

मूड बदलता है



क्या आपको पता है जब मूड खराब हो और किसी हंसते हुए का चेहरा देख लें तो मूड बदल जाता है? जी, हां! ऐसा होता है। शायद आपको यह तथ्य हैरान करे। लेकिन यह सच है। वास्तव में मूड किसी व्यक्ति विशेष के व्यवहार से भी बदलता है। यदि कोई हमसे हंसकर बात करे तो हमारे चेहरे पर यकायक हंसी खिल उठती है। इससे हम अपने खराब मूड होने की वजह तक भूल जाते हैं। इतना ही नहीं बुरी बातों को भुलाकर आगे की ओर चलना तक हमें पसंद होता है। इसलिए हंसते रहिए।
Images source : © Getty Images

खूबसूरती बढ़ती है


क्या आप जानते हैं कि हंसते रहने से खूबसूरती भी बढ़ती है? असल में हम जितना हंसते है, हम भीतरी खुशी महसूस करते हैं। भीतरी खुशी हमारे चेहरे से छलकती है जो हमें खूबसूरत बनाए रखती है। इसलिए सुंदर दिखना है या आकर्षक बने रहना है तो हंसिए और हो सके तो दूसरों को भी हंसाइये।
Images source : © Getty Images

तनावमुक्त जीवन



हंसने से एंडोर्फिन नामक रसायन रिलीज़ होता है, जिससे कोर्टिसोल यानी स्ट्रेस हारमोन में कमतरी आती है। मतलब यह है कि हसंने से तनावमुक्त जीवन बिल्कुल मुफ्त में हासिल होता है। दूसरे शब्दों में आप कह सकते हैं हंसने से खुश होने का एहसास होता है जो तनाव के स्तर को कम करने में मदद करता है। अतः हंसते रहें और तनावमुक्त जीवन जीयें।
Images source : © Getty Images

जवां बने रहते हैं



चूंकि हंसने से हम अंदर तक खुशी का एहसास करते हैं। इससे हम भीतरी तौरपर मजबूत होते हैं। इसका मतलब साफ है कि शारीरिक समस्याएं चाहकर भी हमारे इर्द-गिर्द नहीं फटक पाती। असल में हंसने से छुटपुट बीमारियों को मात देने में हम सफल हो जाते हैं। जैसा कि यह सबको ज्ञात है कि सकारात्मक सोच हमें जवान बनाए रखती है। ...और सकारात्मक सोच हमें हंसने से हासिल होती है। अतः जवान बने रहने के लिए हंसते रहिए। हम जितना ज्यादा हंसेंगे, उतना ज्यादा जवानी का एहसास करेंगें। दरअसल हंसना बीमारी दूर रखता है और बीमारी दूर रहने से बुढ़ापे का एहसास नहीं होता।
Images source : © Getty Images

आत्मविश्वास में बढ़ोत्तरी


आप सोच सकते हैं कि हंसने से आत्मविश्वास में बढ़ोत्तरी कैसे हो सकती है? लेकिन जरा गौर करेंगे तो एहसास होगा कि हंसना हमारे आत्मविश्वास को बढ़ाता है। असल में हंसते रहने से सकारात्मक सोच में बढ़ावा होता है जिससे आत्मविश्वास बढ़ता है। परिणामस्वरूप दूसरों से मिलने जुलने में हमारा आत्मविश्वास चेहरे से झलकता है।
Images source : © Getty Images

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK