Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

करें खुद को हील करने वाले 16 हीलिंग फूड का चुनाव

परंपरागत चीनी चिकित्सा पद्धति के मुताबिक चिकित्सा काफी हद तक लोगों के रोज़मर्रा के खाद्य पदार्थों से जुड़ी होती है। दवा भी खाद्य पदार्थों में ही शामिल है, जबकि खाद्य पदार्थ भी खुद दवा बन सकते हैं।

घरेलू नुस्‍ख By Rahul SharmaFeb 03, 2015

हीलिंग फूड

प्राचीन काल में चीनियों ने प्राकृतिक पदार्थों से औषधि बनाना सीखा और परंपरागत चीनी औषधि का आविष्कार भी किया। परंपरागत चीनी चिकित्सा पद्धति के मुताबिक चिकित्सा काफी हद तक लोगों के रोज़मर्रा के खाद्य पदार्थों से जुड़ी होती है। दवा भी खाद्य पदार्थों में ही शामिल है, जबकि खाद्य पदार्थ भी खुद दवा बन सकते हैं। इस प्रकार चीन में खाद्य पदार्थ से इलाज करने तथा दवा को खाद्य पदार्थ में शामिल करने दोनों तरीके को प्रयोग में लाया जाता है। चीनी लोगों की मान्यता है कि रोगों के इलाज में उचित खाद्य पदार्थ दवा से भी अच्छे हो सकते हैं। तो चलिये जानें कुछ ऐसे ही हीलिंग फूड अर्थात  चिकित्सा खाद्य पदार्थ जिनके सेवन से शरीर को हील किया जा सकता है।  
Images courtesy: © Getty Images

केला

इलाज : तनाव या चिंता
ऑश्चनर के एल्मवुड फिटनेस सेंटर के खेल डायटेटिक्स में एक प्रमाणित विशेषज्ञ मौली किम्बल के अनुसार आपको तनाव होने पर केला खाना चाहिये। आमतौर पर एक केले खाने पर इसमें मौजूद लगभग 105 कैलोरी और 14 ग्राम शुगर, शुगर के स्तर को थोड़ा सा बढ़ाता है। वहीं इसमें मौजूद 30 प्रतिशत विटामिन बी-6, मेल्लोविंग सेरोटोनिन (mellowing serotonin), जोकि दिमाग को शांत करता है।  
Images courtesy: © Getty Images

दही

इलाज : कब्ज या गैस
एलिमेंटरी फार्माकोलॉजी & थेराप्यूटिक्स में 2002 में आए एक शोध में पाया गया कि आधा कप दही (पेट के अनुकूल व बैक्टीरिया में उच्च) खाने से वह खाद्य पदार्थ को जठरांत्र संबंधी मार्ग में कुशलता से आगे भेजती है। साथ ही फायदेमंद बैक्टीरिया सेम और डेयरी लैक्टोज (जोकि गैस पैदा करते हैं और इन्हें किमबैल कहा जाता है) को पचाने के लिए पेट की क्षमता में सुधार करते हैं।  
Images courtesy: © Getty Images

किशमिश

इलाज : उच्च रक्त - चाप
साठ किशमिश (लगभग एक मुट्ठी के बराबर) में एक ग्राम फाइबर और 212 मिलीग्राम पोटेशियम होता है, और ये दोनों ही उच्च रक्तचाप रोकने में मददगार होते हैं। कई शोध भी इस बात का समर्थन करते हैं।
Images courtesy: © Getty Images

खुबानी

इलाज : गुर्दे की पथरी की रोकथाम
अमेरिकन डिएटेटिक एसोसिएशन के प्रवक्ता क्रिस्टीन के अनुसार आठ सूखे खूबानी में 2 ग्राम फाइबर, 3 मिलीग्राम सोडियम तथा 325 मिलीग्राम पोटेशियम होता है, और ये सभी मूत्र में जमते वाले खनिज व कैल्शियम ऑक्सालेट पत्थर का गठन (गुर्दे की पथरी का सबसे आम प्रकार) होने से रोकते हैं।  
Images courtesy: © Getty Images

टूना

इलाज : बूरे मूड को सुधारने में
डिब्बाबंद सफेद ट्यूना के 3 औंस में लगभग 800 मिलीग्राम ओमेगा-3 एस होता है। और शोध बताते हैं कि ये उदासी का इलाज कर सकता है। अमेरिकन साइकियाट्रिक एसोसिएशन भी इस बात का समर्थन करता है।
Images courtesy: © Getty Images

अदरक की चाय

इलाज : मतली
दर्जनों अध्ययनो से पता चलता है कि (¼ चम्मच पिसा हुआ अदरक, एक या आधा कुटा हुआ अदरक या एक कप अदरक की चाय) दस्त और गर्भावस्था के दौरान होने वाली मतली को कम कर सकते हैं।
Images courtesy: © Getty Images

तुलसी

इलाज : पेट की समस्याओं में
अध्ययनों से पता चलता है कि युगेनॉल (eugenol), जोकि तुलसी में माया जाना वाला एक यौगिक है, दर्द, मतली, ऐंठन तथा दस्त से पेट को सुरक्षित रख सकता है। क्योंकि युगेनॉल साल्मोनेला और लिस्टेरिया जैसे बैक्टीरिया को मार देता है।
Images courtesy: © Getty Images

नाशपाती

इलाज : उच्च कोलेस्ट्रॉल
एक मध्यम आकार की नाशपाती में 5 ग्राम फाइबर होता है, और इसका अधिकांश पेक्टिन के रूप में होता है, जोकि खराब कोलेस्ट्रॉल (हृदय रोग का एक जोखिम कारक) को बाहर निकलने में मदद करता है।
Images courtesy: © Getty Images

बकवीट हनी

इलाज : कफ
बकवीट हनी अर्थात अनाज से बना एक प्रकार का शहद होता है। पेनसिल्वेनिया स्टेट यूनिवर्सिटी में हुए एक अध्ययन से पता चला कि मोटा, काले भूरे रंग का 2 चम्मच शहद, ओटीसी खांसी की दवा की तुलना में अधिक प्रभावी रहा तथा इसने बच्चों में खांसी की आवृत्ति को भी कम किया।
Images courtesy: © Getty Images

बंदगोभी

इलाज : अल्सर
जॉन्स हॉपकिन्स स्कूल ऑफ मेडिसिन में 2002 में हुए एक अध्ययन में पाया गया कि सुल्फोराफाने (sulforaphane) (गोभी में पाया जाने वाला एक शक्तिशाली यौगिक), क्लोब्बेर्स एच. पाइलोरी (clobbers H. pylori) (गैस्ट्रिक और पेप्टिक अल्सर का कारण बनने वाला बैक्टीरिया) को बनने से रोकता है, यहां तक कि गैस्ट्रिक ट्यूमर के विकास को रोकने में भी मदद कर सकता है।
Images courtesy: © Getty Images

आलू

इलाज : सिरदर्द
मध्यम आकार के आलू एक आलू में लगभग 37 ग्राम कार्ब होता है, जोकि सेरोटोनिन का स्तर बढ़ाकर तनाव के कारण हुए सिर दर्द को कम कर सकता है।
Images courtesy: © Getty Images

अंजीर

इलाज : बवासीर
चार सूखे अंजीर में लगभग 3 ग्राम फाइबर मुलायम व नियमित रूप से मल बनाने में सहायता करता है। जोकि बावासीर को वापस आने से रोकता है। साथ ही अंजीर दैनिक रूप से 5 प्रतिशत पोटेशियम और 10 प्रतिशत मैंगनीज भी प्रदान करता है।
Images courtesy: © Getty Images

लहसुन

इलाज : खमीर संक्रमण
लहसुन में आवश्यक तेल होते हैं जोकि कैंडिडा नामक सफेद कवक (दर्द, खुजली, और योनि स्राव का कराण बनने वाला कवक) के विकास को रोक सकते हैं।  
Images courtesy: © Getty Images

कैमोमाइल चाय

इलाज : असंतोष
न्यू जर्सी में क्लीनिकल हेर्बलिस्ट डेल बेलिसफील्ड के अनुसार कैमोमाइल पाचन में समस्या, ऐंठन, और गैस को कम कर सकता है।
Images courtesy: © Getty Images

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK