दांतों में लगता हो ठंडा-गरम तो अपनाए ये घरेलू इलाज

यदि आपके दांतों में ठंडा-गरम लगता हो तो संभवतः ऐसा आपके दांतों पर लगी कोटिंग (इनेमल) के घिस जाने के कारण हो रहा है। हालांकि कुछ घरेलू उपचार की मदद से इस समस्या से राहत पाई जा सकती है।

घरेलू नुस्‍ख By Rahul Sharma / Feb 04, 2015
दांतों में ठंडा-गरम

दांतों में ठंडा-गरम

यदि आपके दांतों में ठंडा-गरम लगता हो तो संभवतः ऐसा आपके दांतों पर लगी कोटिंग (इनेमल) के घिस जाने के कारण हो रहा है। इनेमल दांतों का सुरक्षा कवच होती है जो दांतो को कठोर चीजों से सुरक्षा प्रदान करती है। जो लोग काफी जोर लगाकर टूथब्रश करते, उनके दांतों का संवेदन होना लाज़मी है। दांतों में संवेदनशीता की ये समस्या महीने भर से लेकर सालों-साल तक रह सकती है। दांतों से इनेमल की कोटिंग हट जाने पर उनमें कुछ भी ठंडा या गर्म खाने पर काफी तेज़ की टीस होती है। इसे मुंह खोल कर सांस लेते वक्त भी महसूस किया जा सकता है। दरअसल संवेदनशील दांतों के पीछे मुंह के बैक्‍टीरिया और प्‍लेग भी कफी हद तक जिम्‍मेदार होते हैं। तो यदि आपको भी दांतों में ठंडा या गरम महसूस होता हो तो आप बचाव कते लिये निम्न घरेलू उपचार अपना सकते हैं।
Images courtesy: © Getty Images

खास टूथपेस्ट का प्रयोग

खास टूथपेस्ट का प्रयोग

संवेदनशील दांतों के लिए बाजार में कई खास तरह के टूथपेस्ट मौजूद हैं। तो दातों में ठंडा-गरम लगने पर साधारण टूथपेस्ट के बजाय इनका उपयोग करें। व्हाइटनर युक्त टूथपेस्ट का उपयोग न करें, ये टूथपेस्ट दांतों पर कठोरता से काम करते हैं जिससे तकलीफ और बढ़ जाती है।
Images courtesy: © Getty Images

नरम टूथब्रश का इस्तेमाल

नरम टूथब्रश का इस्तेमाल

हमेशा नरम टूथब्रश का पही इस्तेमाल करें ताकी दांतों और मसूढ़ों पर ज्यादा जोर ना पड़े। साथ ही ब्रश को भी हल्‍के हल्‍के हाथों से ही दांतों पर चलाएं।
Images courtesy: © Getty Images

फ्लोराइड वाले माउथवॉश और टूथपेस्‍ट

फ्लोराइड वाले माउथवॉश और टूथपेस्‍ट

फ्लोराइड के इस्तेमाल से दांतों की सड़न और टूथ इनेमल को नुकसान होने से बचाव होता है। तो ऐसे माउथवॉश और टूथपेस्‍ट इस्तेमाल करें जिसमें फ्लोराइड हो।
Images courtesy: © Getty Images

मुंह की ठीक तरह से सफाई

मुंह की ठीक तरह से सफाई

इस समस्या में मुंह की ठीक तरह से सफाई करना बेहद महत्वपूर्ण होता है। तो दिन में दो बार ब्रश करें और रात को सोने से पहले तो ब्रश जरुर करें। इसके अलावा दिन में एक बार फ्लॉस भी करें।
Images courtesy: © Getty Images

संवेदना पहुंचाने वाले खाद्य पदार्थ न लें

संवेदना पहुंचाने वाले खाद्य पदार्थ न लें

वे चीजें जो बहुत ज्‍यादा ठंडा या गरम लगती हों, ना खाएं। इसके अलावा बहुत ज्यादा चीनी वाले आहार भी न खाएं, क्‍योंकि ये दांतों में बड़ी तेजी से लगते हैं। ऐसे आहारों को पहचाने और दूर रहें जो दांतों में लगते हैं।
Images courtesy: © Getty Images

अम्लीय खाद्य पदार्थों और पेय से बचें

अम्लीय खाद्य पदार्थों और पेय से बचें

फलों के रस, शीतल पेय, सिरका, रेड वाइन, चाय, आइसक्रीम और अम्लीय खट्टे फल टमाटर, सलाद ड्रेसिंग और अचार आदि में काफी अम्ल होते हैं। तो  अगर आप इन्‍हें खाते भी हैं तो बाद में अच्छे से ब्रश कर लें। ये खाद्य दांतों की इनेमल को घिस देते हैं।
Images courtesy: © Getty Images

नमक और पानी से करें उपचार

नमक और पानी से करें उपचार

हल्‍के गरम पानी में लगबग 2 चम्‍मच नमक मिला लें। और फिर इस घोल से सुबह को तथा रात को सोने जाने से पहले कुल्‍ला करें। यह एक आयुर्वेदिक उपचार है जो दांतों में ठंड़ा-गरम लगने की समस्या में कभी लाभदायक होता है।
Images courtesy: © Getty Images

सरसों का तेल और सेंधा नमक

सरसों का तेल और सेंधा नमक

दांतों के स्वास्थ्य के लिये सरसों का तेल और सेंधा नमक एक पुराना और असरदार घरेलू नुस्खा है। इसे प्रयोग करने के लिये 1 चम्‍मच सरसों के तेल में 1 छोटा चम्‍मच सेंधा नमक मिलाएं। फिर इस मिश्रण से दांतों और मसूढ़ों की हल्‍के-हल्‍के मसाज करें। 5 मिनट के बाद कुल्ला कर लें। जल्द ही समस्या में आराम होने लग जाएगा।
Images courtesy: © Getty Images

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK