• shareIcon

आप रोज करते हैं फर्स्‍ट एड से जुड़ी ये गलतियां

क्‍या आप भी इन आम फर्स्‍ट एड से जुड़ी गलतियों को कर रहे हैं? अगर हां तो इस स्‍लाइड शो के जरिये जानिये कि आपको चिकित्सा सुरक्षा सुनिश्चित करने के बजाय असल में क्या करना चाहिए।

तन मन By Pooja Sinha / Oct 09, 2015

फर्स्‍ट एड से जुड़ी गलतियां

आपातकालीन दशा में कटने, जलने या चोट लगने पर अक्‍सर हम खुद को या परिवार के किसी सदस्‍य को सबसे पहले फर्स्‍ट एड देते हैं। लेकिन कई बार फर्स्‍ट एड के दौरान हम ऐसी गलतियां कर देते है जो असल में हमारे लिए नुकसानदायक हो जाती है। जैसे कटने पर कई दिनों तक बैंडेज लगा कर रखना, मोच या फ्रैचर पर गर्म सिकाई करना, जले पर मक्‍खन लगाना। अगर आप भी इन आम फर्स्‍ट एड से जुड़ी गलतियों को कर रहे हैं। तो इस स्‍लाइड शो के जरिये जानिये कि आपको चिकित्सा सुरक्षा सुनिश्चित करने के बजाय असल में क्या करना चाहिए।

कटने पर कई दिनों तक एडहीसिव बैण्डेज लगाना

कटने पर अक्‍सर हम फर्स्‍ट एड के लिए एंटीबैक्‍टीरियल मरहम लगाते हैं और कई दिनों तक इसे ऐसे ही लगा रहने देते हैं। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि कई दिनों तक ऐसा करने से कटने पर नमी बढ़ने लगती है। इसलिए एक दिन के बाद पट्टी को हटा दें और इसे अपने आप ठीक होने के लिए छोड़ दें। अगर आपका कट ज्‍यादा गहरा है तो पट्टी को एक दिन में दो बार एडहीसिव बैण्डेज को बदलें और ध्‍यान रखें कि वह पूरा हिस्‍सा साफ और ड्राई रहें।

किसी वस्‍तु के आंख में जाने पर मलना

धूल, कण या अन्‍य किसी वस्‍तु के आंख में जाने पर जलन पैदा होने लगती है। ऐसा में हम फर्स्‍ट एड के लिए अपनी आंखों को मलने लगते हैं। लेकिन आंखों को मलना इस समस्‍या से छुटकारा पाने में मदद नहीं करता बल्कि अपनी आंख को अधिक नुकसान हो सकता है। इस समस्‍या से बचने के लिए अपनी आंखों को पानी के साथ धोये, लेकिन अगर फिर भी आप असुविधा अनुभव करते हैं तो अपने डॉक्‍टर से संपर्क करें।

मोच या फ्रैक्चर पर गर्म सिकाई

दर्द पर गर्म सिकाई करना, दर्द को दूर करने में फायदेमंद होता है। लेकिन गर्म सिकाई मोच या फ्रैक्‍चर पर काम नहीं करती है। मोच पर गर्म सिकाई करने से सूजन और भी बढ़ सकती है। मोच पर आपको बर्फ, कम्प्रेशन, एलिवेशन और आराम करने जैसे उपचार करने की आवश्‍यकता होती है।

जले पर मक्खन लगाना

अक्‍सर हम जलने पर फर्स्‍ट एड के तौर पर मक्‍खन लगा लेते हैं। लेकिन जले पर मक्‍खन लगाना बहुत बड़ी भूल है। यह चिकना होता है और गर्मी को अंदर ही दबाकर हीलिंग को मुश्किल बना देता है। इसकी बजाय दर्द और जलन को कम करने के लिए जले पर ठंडा पानी डालें। साथ ही प्रभावित हिस्‍से को सूखने में मदद के लिए धीरे से कवर कर दें।

फ्रोजन स्किन पर गर्म पानी

अगर आपको अपनी स्किन पर फ्रोजन पैच दिखाई दें तो स्किन को गर्म करने के लिए कभी भी इसपर गर्म पानी डालने की न सोचें। क्‍योंकि इससे आपकी स्किन को नुकसान होने का खतरा बढ़ जाता है। गुनगुने पानी से प्रभावित अंग को नर्म करें।  
Images Source : Getty

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK