Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

अर्थराइटिस से जुड़े आठ आश्‍चर्यजनक तथ्‍य

अर्थराइटिस जोड़ों से संबंधित बीमारी है, इसमें असहनीय पीड़ा होता है, उम्रदराज लोगों के साथ यह युवाओ और बच्‍चों को भी हो सकती है, इसके कई आश्‍चर्यजनक तथ्‍यों से अनजान हैं आप।

अर्थराइटिस By Nachiketa SharmaOct 10, 2014

अर्थराइटिस

अर्थराइटिस यानी गठिया हड्डियों से संबंधित बीमारी है। सामान्‍यतया गठिया उम्रदराज लोगों में होने वाली बीमारी है, लेकिन अनियमित दिनचर्या और खानपान में पौष्टिक तत्‍वों की कमी के कारण युवाओं में भी यह समस्‍या हो रही है। अर्थराइटिस में असहनीय पीढ़ा होती है। ठंड के मौसम में इसका दर्द और भी बढ़ जाता है। अर्थराटिस से जुड़े कुछ आश्‍चर्यजनक तथ्‍य भी हैं जिनके बारे में आप शायद नहीं जानते हैं।

images source - getty images

मधुमक्‍खी का डंक

अर्थराइटिस के उपचार के लिए मधुमक्‍खी और सांप के जहर से आराम मिलता है। ब्राजील में 2010 में हुए एक शोध की मानें तो मुधमक्‍खी के डंक से निकलने वाले जहर से रुमेटाइड आर्थराइटिस के लक्षण और इसका दर्द कम होता है।

images source - getty images

हाथ, कूल्‍हे और घुटने

लोगों को लगता है कि ऑस्टियोअर्थराइटिस केवल हाथों, कूल्‍हों और घुटनों को प्रभावित करता है। जबकि अगर ऑस्टियो अर्थराइटिस 60 और 70 साल के बाद हो तो यह तलवों और टखनों को भी प्रभावित करता है।

images source - getty images

जानवरों को भी होता है

अर्थराटिस की बीमारी केवल मानवों में ही नहीं होती है, यह जानवरों को भी होती है। कुत्‍ते, बिल्‍ली और अन्‍य जानवरों को यह समस्‍या होती है और इसके लक्षण पुरुषों के लक्षण की तरह होते हैं। जानवरों में सबसे ज्‍यादा ऑस्टियोअर्थराइटिस होता है। जबकि कुत्‍ते और बिल्‍ली में रुमेटाइड अर्थराइटिस भी हो सकता है।

images source - getty images

गाउट भी अर्थराइटिस का प्रकार है

गाउट की समस्‍या भी अर्थराइटिस से जुड़ी है, वास्‍तव में यह गठिया का ही प्रारुप है। गाउट जोड़ों में यूरिक एसिड अधिक जमा होने के कारण होता है। जिन लोगों को गाउट की समस्‍या होती है उन्‍हें अर्थराइटिस होने की संभावना अधिक होती है।

images source - getty images

चोट से बढ़ता है खतरा

अगर आपको चोट लग जाती है तो इससे अर्थराइटिस होने का खतरा बढ़ जाता है। जोड़ों में दर्द के कारण सबसे अधिक ऑस्टियोअर्थराइटिस होने की संभावना रहती है। अगर युवाओं में जोड़ों में चोट लग जाये तो उन्‍हें गठिया होने का खतरा 6 गुना बढ़ जाता है।

images source - getty images

बच्‍चों को भी होता है

अर्थराइटिस की समस्‍या न केवल उम्रदराज लोगों को होती है बल्कि यह बच्‍चों को भी हो सकती है। जुवेनाइल रुमेटाइ‍ड अर्थराइटिस बच्‍चों में होने वाली सामान्‍य समस्‍या है। 1 से 3 साल के बच्‍चों को यह समस्‍या हो सकती है और यह 8 से 12 साल के बच्‍चों को भी प्रभावित कर सकती है। लड़कों की तुलना में लड़कियों में गठिया होने की संभावना दोगुनी होती है।

images source - getty images

यह आधुनिक बीमारी नहीं है

अगर आपको लगता है कि गठिया एक आधुनिक समस्‍या है तो आप गलत हैं। अर्थराइटिस बहुत पुरानी समस्‍या है और बहुत पहले से यह लोगों को प्रभावित करती आयी है। सामान्‍यतया अर्थराइटिस को 5 लाख साल पुरानी बीमारी माना जा रहा है।

images source - getty images

वातावरण से उपचार नहीं होता

अगर आपको लगता है कि गठिया होने के बाद अगर आप दूसरे माहौल में जाते हैं और इससे इसका उपचार संभव हो सकता है, तो आप गलत हैं। गठिया से पीढि़त लोगों को लगता है कि ठंडे वातावरण के कारण गठिया होता है और गरम वातावरण में जाने से यह ठीक हो सकता है। यह गरम और ठंडे दोनों तरह के वातावरण में होता है।

images source - getty images

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK