• shareIcon

उम्र के हिसाब से लें उपयुक्‍त आहार

हर दशक की अपनी अलग स्वास्थ्य समस्यायें और पोषण की आवश्यकतायें होती है। अपनी उम्र के हिसाब से सही आहार का सेवन करके आप हर उम्र में सेहतमंद रह सकते हैं।

स्वस्थ आहार By Pooja Sinha / Jul 15, 2014

उम्र के हिसाब से आहार

आपका खानपान आपकी उम्र के अनुसार होना चाहिए। हर उम्र की अपनी पोषक आवश्यकतायें होती हैं और आपको उनका खयाल रखना ही चाहिए। आप 50 की उम्र में 20 की उम्र जैसा आहार नहीं खा सकते। इसलिए आपको अपनी उम्र के हिसाब से अपने खानपान के व्यवहार में बदलाव करते रहना चाहिए। आइए जानते हैं कि किस उम्र में आपको किस प्रकार का आहार लेना चाहिए।  image courtesy : getty images

20 की उम्र के बाद

ट्वेंटीज के बाद आपको एक वयस्‍क की तरह खाना खाना चाहिए और आजीवन स्वस्थ खाने की आदतों का आधार तैयार करना शुरू कर देना चाहिए। अब आधी रात में निकटतम फास्‍ट फूड लेना का समय नहीं है। इसकी बजाय, तीन भोजन और प्रतिदिन दो या तीन स्‍नैक्‍स का कार्यक्रम बना लें। image courtesy : getty images

उच्च पोटेशियम युक्त फल और सब्जियां

यूएसडीए के अनुसार, उम्र के बीसवे दशक में ज्यादातर महिलाएं स्वस्थ हृदय और मांसपेशियों की जरूरत का लगभग आधा पोटेशियम लेती है। ऐसे में केले, टमाटर, संतरे और टमाटर के रूप में पोटेशियम युक्त फल और सब्जियां इन आवश्यकताओं को पूरा कर सकते हैं। image courtesy : getty images

कैल्शियम युक्त आहार

कैल्शियम आपके आहार का महत्वपूर्ण हिस्सा होना चाहिए। यह न केवल आपकी हड्डियों को मजबूत बनाता है, बल्कि साथ ही मांसपेश‍ियों की अच्छी सेहत के लिए भी जरूरी होता है। आपको चाहिए कि कम से कम 1000 मिलीग्राम कैलिशयम का सेवन रोजाना करें। अपने आहार में कम वसा और नोनफेट दूध, दही और पनीर उत्पादों में शामिल करना सुनिश्चित करें।  image courtesy : getty images

साबुत अनाज

चीनी से लदे अनाज की जगह साबुत अनाज को अपने आहार में शामिल करें। जबकि ज्यादातर वयस्क प्रतिदिन सिफारिश की र‍ाशि से आधे फाइबर की मात्रा खाते हैं।  image courtesy : getty images

तीसवां दशक (तीस की उम्र)

बच्चे, परिवार, कैरियर ... सही खाने के लिए समय या ऊर्जा कहां है? इस उम्र में, कुछ लोगों को उच्च रक्तचाप, उच्च कोलेस्ट्रॉल या मधुमेह के रूप में एक अस्वास्थ्यकर जीवन शैली के प्रभाव को महसूस होना शुरू हो जाता है। स्वस्थ आहार और आसान व्यंजनों की तलाश और कैलोरी को नियंत्रण में रखने का यहीं सही समय है।  image courtesy : getty images

उच्च फोलेट खाद्य पदार्थ

फोलेट जैसे संतरे का रस, दृढ़ साबुत अनाज, दाल, ब्रोकोली और पालक जैसे खाद्य पदार्थों में पाया जाता है। अध्ययन के अनुसार, फोलेट हृदय रोग के जोखिम को कम करने में मदद करता है, और गर्भावस्था के दौरान न्यूरल ट्यूब दोष को रोकने में भी मदद करता है।  image courtesy : getty images

एनर्जी बढ़ाने वाले फूड्स

प्रोटीन जैसे लीन मीट, चिकन और पोर्क में एनर्जी को बढ़ने वाला विटामिन बी होता है। इसलिए इस उम्र में एनर्जी को बढ़ाने के लिए विटामिन बी को अपने आहार में शामिल करें।  image courtesy : getty images

फल और सब्जियां

इनमें फीटोन्यूट्रिएंट्स और एंटीऑक्‍सीडेंट युक्त यौगिक होते हैं जो कैंसर और हृदय रोग जैसी स्थितियों को रोकने में मदद करते हैं। अन्य खाद्य पदार्थ जो फीटोन्यूट्रिएंट्स से उच्‍च है उनमें डार्क चॉकलेट और रेड वाइन शामिल हैं। image courtesy : getty images

चालीसवें वर्ष में

इस अवधि के दौरान आपका जीवन धीमा होना शुरू हो जाता है, और अतिरिक्त पाउंड आपके पेट और कूल्हों में दिखाई दे सकता है। साथ ही उच्च कोलेस्ट्रॉल, उच्च रक्तचाप, मधुमेह या अन्य बीमारियों का पता लगाने के लिए डॉक्‍टर के पास जाना पड़ सकता है। इस समय आपका काम भोजन और व्यायाम की आदतों में सुधार करके आकार में खुद को वापस लाना है।  image courtesy : getty images

वसायुक्त मछली

सामन, ट्राउट, ट्यूना और सार्डिन के रूप में मछली ओमेगा -3 वसा, का एक बड़ा स्रोत हैं। जो सूजन और कम ट्राइग्लिसराइड और कुल कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करती है।  image courtesy : getty images

उच्च फाइबर खाद्य पदार्थ

खाद्य पदार्थ जैसे दलिया, जौ, पूरी गेहूं की रोटी, फल और सब्जियों में फाइबर होता है जो रक्त में कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद करता है और कैंसर के खतरे को कम करने में मदद करता है। image courtesy : getty images

उच्च कैल्शियम खाद्य पदार्थ

रजोनिवृत्ति और हड्डी निर्माण एस्ट्रोजन में गिरावट के साथ, कई महिलाएं कैल्शियम के बारे में भूल जाती हैं। उनके लिए कम वसा और नोनफेट डेयरी उत्पादों का प्रति दिन 1000 मिलीग्राम लेना उद्देश्य होना चाहिए।  image courtesy : getty images

अर्द्धशतक यानी पचास की उम्र

इस दशक के दौरान आपका चयापयय धीमा हो जाता है, इसलिए आपको कैलारी को नियंत्रित करने की आवश्‍यकता होगी। इस उम्र में आपके शरीर के अंगों में दर्द शुरू हो सकता है और आपकी याद्दाश्‍त में गिरावट आनी शुरू हो जाती है, लेकिन उचित पोषण से इन प्रवृत्तियों का मुकाबला आप आसानी से कर सकते हैं।  image courtesy : getty images

जामुन

अध्ययन के अनुसार, एंटीऑक्सीडेंट युक्त जामुन स्मृति और संज्ञानात्मक समारोह में सुधार करने में मददगार होता है। इसलिए अपने आहार में स्ट्रॉबेरी, ब्लूबेरी, ब्लैकबेरी और रसभरी को शामिल करें। image courtesy : getty images

एंटी-इंफ्लेमेटरी फूड

एंटी-इंफ्लेमेटरी युक्त खाद्य पदार्थ सूजन को कम करने में मदद करते हैं। इसमें अदरक, अखरोट, जैतून का तेल और फैटी फिश जैसे ट्यूना और सामन शामिल है। image courtesy : getty images

स्मार्ट स्नैक्स

नाश्‍ते में लगभग 150 कैलोरी लेनी चाहिए। स्‍वस्‍थ नाश्‍ते लेने के लिए दही के साथ एप्‍पल और बेरीज की टापिंग और एक चम्‍मच प्राकृतिक पीनट बटर और एक मुट्ठी नट्स को मिलाकर खाना चाहिए। image courtesy : getty images

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK