• shareIcon

बच्चों के साथ करें इन 5 योगासनों का अभ्यास

कुछ योगासन ऐसे हैं, जिन्हें आप अपने बच्चों के साथ करते हैं। इनसे वे योगासन को सही से कर पाते हैं और उनका इनका पूरा लाभ भी मिलता है। चलिये जानें बच्चों के साथ किये जाने वाले योगासन कौंन से हैं। -

योगा By Rahul Sharma / May 13, 2016

बच्चों के साथ करें ये योगासन


योग तन और मन दोनों को स्वस्थ बनाता है और जीवन को एक सुंदर आकार देता है। यही कारण है कि आज पूरी दुनिया में योग का बोल-बाला है। योग के फायदों के बारे में बहुत पढ़ा और लिखा जा चुका है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि योग आपके बच्चों के लिये भी बेहद फायदेमंद होता है और उनके पूर्ण विकास में सहायक है! योग करने से बच्चे के अंदर आत्मविशवास बढ़ता है, उनका तनाव दूर होता है, उनको बीमार कर सकने वाले टॉक्सिन उनके शरीर से बाहर निकलते हैं और बच्चे के रक्त प्रवाह के साथ इम्यून सिस्टम भी बेहतर बनता है। लेकिन आपका बच्चा सभी (कठिन) योगासन नहीं कर सकता है, क्योंकि उसका शरीर और अंग अभी विकसित हो रहे होते हैं, और कठिन योग करने से उसके अंगों को नुकसान भी हो सकता है। इसलिये उनको कुछ खास तरह के योगासन ही करने चाहिये। कुछ योगासन ऐसे हैं, जिन्हें आप अपने बच्चों के साथ करते हैं। इनसे वे योगासन को सही से कर पाते हैं और उनका इनका पूरा लाभ भी मिलता है। चलिये जानें बच्चों के साथ किये जाने वाले योगासन कौंन से हैं। -  
Images source : © Getty Images

बिल्ली/गाय पोज़ (cat/cow pose)


बिल्ली/गाय पोज़, काउ पोज़ के नाम से ज्यादा प्रचलित है और इसका अभ्यास करने से बच्चे की रीढ़ की हड्डी मजबूत होती है और उसमें खिंचाव पैदा होता है। अस्थमा जैसे रोग को शांत कर यह योग तनाव के स्तर को भी कम करता है। बच्चों को अपने साथ ये योगासन कराने से वे  सिर्फ इसे मज़े से करते हैं बल्कि इससे लाभान्वित भी होते हैं। साथ ही आप दोनों की एक साथ एक्सरसाइज भी तो हो जाती है।  

कैसे करें -
इस योगासन को करने के लिये सबसे पहले हाथ और पैरों के बल किसी बिल्ली जैसी स्थिति में आ जाएं। कोउ पोज़ में अपने सर को थोड़ा ऊपर को उठाएं और छाती व पेट को नीचे की ओर झुका लें। अब सांस को भीतर भरें और रीड़ को भपर की ओर उठाएं और सांस को छोड़ते हुए इसे नीचे लाएं।
Images source : © Getty Images

त्रिकोणासन (Triangle pose)


त्रिकोणासन कमर व पैरों की सही एक्सरासइज व स्ट्रेचिंग हो जाती है। इसे और भी मज़ेदार बनाने के लिये आप जंपिंग जैक के साथ इसे कर सकते हैं।  

कैसे करें -
हर 3 जंपिंग जैक करने के बाद अपने पैरों को खोल कर खड़े हो जाएं। अपने दाहिने पैर के अंगूठे को थोड़ा सा बाहर निकालें व बाएं पैर के अंगुठू को थोड़ा अंदर करें। अब अपने एक तरफ को झुकें और अपने सीधे हाथ को दाएं पैर की पिंडली से लगा दें और बाएं हाथ को भपर सीधा कर लें। ठीक इसी तरह दूसरी ओर भी इस क्रिया को करें। आप अपने बच्चे के साथ इस योगासन का 4 से 5 बार अभ्यास कर सकते हैं।
Images source : © Getty Images

हेप्पी बेबी पोज़ (Happy Baby Pose)


हेप्पी बेबी पोज़ दिमाग और शरीर को शांत करते हुए तनाव और थकान को दूर करता है। साथ ही इसके अभ्यास से हड्डियों के जोड़ों के साथ रीढ़ की हड्डी में भी लचक पैदा होती है और वो मजबूत बनते हैं।

कैसे करें -  
इसे करने के लिये पीठ के बल लेट जाएं और दोनों हाथों और पारों को छत की और उठाएं और हाथों से पैरों को पकड़ लें। थोड़ी देर इसी स्थिति में रहने के बाद वापस सामान्य स्थिति में आ जाएं।
Images source : © Getty Images

तितली आसन (butterfly Pose)


यह पोज़ शरीर और मन को शांत कर तनाव व थकान को मिटाता है और शरीर को इर से चुस्त बनाता है। इससे पेल्विक एरिया की अच्छी एक्सरसाइज होती है।

कैसे करें -
इस आसन करने के लिये पालती मारकर बैठ जाएं और फिर दोनों तलवों को एक दूसरे से सटा लें। अब सांस को आराम से भीतर-बाहर करते हुए अपने घुटनों को तितली के पंखों की तरह भपर नीचे करें।  
Images source : © Getty Images

ट्री पोज़ (Tree Pose)



ट्री पोज़ जांघों, पिण्डली, पैर और टखनों में खिंचाव लाता है और हुए शरीर का संतुलन बेहतर बनाने में मदद करता है। साथ ही इसके अभ्यास से बच्चे में एकाग्रता भी विकसित होती है।

कैसे करें -
ट्री पोज़ को करने के लिए सीधे खड़े हो जाएं और फिर अपने बाएं पैर को उठाकर दाएं पैर के घुटने के भीतर की तरफ लगा लें। हाथों को नमष्कार मुद्रा में जोड़ लें। छोड़ी देर तक इस स्थिति में रहने के बाद दोबार सामान्य स्थिति में आ जाएं।
Images source : © Getty Images

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK