• shareIcon

खुद करें अपनी बीमारियों का ईलाज

हर बीमारी के उपचार के लिए जरूरी नहीं कि आप चिकित्‍सक के पास जायें, घर पर मौजूद वस्‍तुओं से इन समस्‍याओं का उपचार आसानी से कर सकते हैं और ये उपचार बहुत प्रभावी भी होते हैं।

घरेलू नुस्‍ख By Nachiketa Sharma / Aug 19, 2014

खुद से उपचार

बीमारियों से व्‍यक्ति का नाता शायद हमेशा-हमेशा के लिए होता है। अगर आप गंभीर बीमारी से ग्रस्‍त नहीं हो रहे तो मौसम के बदलाव के साथ-साथ सामान्‍य बीमारियों की चपेट में आ ही सकते हैं। इसके लिए बार-बार डॉक्‍टर का चक्‍कर लगाने से अच्‍छा है कि अपने तरीके से इन बीमारियों का उपचार करें। खुद से आप न केवल सामान्‍य बल्कि कुछ गंभीर बीमारियों का भी उपचार कर सकते हैं। तो क्‍यों‍ न घर पर इन्‍हें आजमायें।

image source - getty images

पैरों के नाखून की समस्‍या

पैरों के नाखूनों में जब भी अंतर्वृद्धि होती है तब इसमें दर्द होता है, लेकिन यह संक्रमण का कारण नहीं बनता। इस समस्‍या का उपचार आप आसानी से घर पर कर सकते हैं। इसके लिए हल्‍के गरम पानी में अपने पैरों को 15 मिनट तक भिगोयें। नियमित अंतराल पर यह दोहराते रहने से पैरों का दर्द दूर हो जाता है। इसके बाद कॉटन का प्रयोग करके बढ़े हुए भाग को आराम से अलग करें। संक्रमण न हो इसके लिए एंटीबॉयटिक मलहम लगायें।


image source - getty images

सोरायसिस के लिए

अगर आप सोरायसि‍स की समस्‍या से ग्रस्‍त हैं और चिकित्‍सक ने इसके उपचार के दौरान स्‍वस्‍थ खानपान, तनाव न लेना और हाइड्रेटेड रहने की सलाह दी है। लेकिन इससे होने वाला दर्द अक्‍सर भड़क जाता है जो कि असहनीय होता है। चाय के पेड़ का तेल सोरायसिस पर लगाने से मृत त्‍वचा हटती है साथ ही दर्द भी कम होता है।

image source - getty images

इरेक्‍टाइल डिसफंक्‍शन

यह एक प्रकार की यौन समस्‍या है, समय से पहले शुक्राणुओं की क्षति होने की समस्‍या को इरेक्‍टाइल डिसफंक्‍शन या शीघ्र-पतन की समस्‍या कहते हैं। इस समस्‍या को दूर करने के लिए वैक्‍यूम पंप का प्रयोग कीजिए। अपने गुप्‍तांग पर इस पंप को लगाइये, पंप के जरिये इसमें रक्‍त का संचार होता है। 20 मिनट तक के लिए यह क्रिया कारगर होती है।

image source - getty images

मस्‍सा के लिए डक्‍ट टेप

मस्‍से की समस्‍या एक गंभीर समस्‍या है जिसके कारण दर्द होता है। इससे छुटकारा पाने के लिए आपको बहुत अधिक प्रयोग करने की जरूरत नहीं है। डक्‍ट टेप के प्रयोग से इसे आसानी से हटा सकते हैं।

image source - getty images

रक्‍तस्राव के लिए काली मिर्च

शरीर के किसी भी हिस्‍से से खून बह रहा हो तो उसे रोकने के लिए आप काली मिर्च का प्रयोग कीजिए। यह खून का थक्‍का बनाने में प्रयोग करता है। बैंडेज में काली मिर्च का पावडर लगाकर खून बहने वाले स्‍थान पर लगाने से खून बहना बंद हो जाता है।

image source - getty images

दांत दर्द के लिए लौंग

दांतों में दर्द कभी भी हो सकता है। इसे दूर करने के लिए लौंग का प्रयोग कीजिए। लौंग के तेल में पाये जाने वाले एंटी-बैक्‍टीरियल गुणों के कारण यह दांतों में दर्द पैदा करने वाले कीटाणुओं को दूर करता है। मसूड़ों से संबंधित अन्‍य समस्‍याओं के लिए भी लौंग के तेल का प्रयोग कीजिए।

image source - getty images

मकड़ी के काटने पर

मकड़ी के काटने पर दर्द होता है क्‍योंकि काटने के बाद यह जहर (venom) छोड़ता है। जिस जगह पर मकड़ी काटे वहां पर बैटरी रखने से दर्द दूर होता है। बैटरी की धारा यानी करंट में जहर को दूर करने का गुण होता है।

image source - getty images

खमीर संक्रमण होने पर

खमीर संक्रमण के लिए लहसुन और दही का प्रयोग कीजिए। लेकिन दही को संक्रमण वाली जगह पर लगाने से अधिक फायदा उसे खाने से मिलता है। इसमें एंटी-बैक्‍टीरियल गुण होते हैं जो संक्रमण को दूर करते हैं। जबकि लहसुन को योनि में लगाने से संक्रमण दूर होता है।

 

image source - everydayhealth.com

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK