• shareIcon

बचपन में कहानी सुनने वाले बच्चे होते हैं बुद्धिमान!

एक शोध के अनुसार बच्चों को बचपन में कहानियां सुनाना जरूरी होता है। क्योंकि ऐसे बच्चे अपेक्षाकृत अधिक बुद्धिमान होते हैं।

परवरिश के तरीके By Rashmi Upadhyay / Feb 28, 2017

कहानियां सुनाना है जरूरी

बचपन हमारे जीवन की पहली सीढ़ी होती है। बचपन में जितनी गहरी नींव बच्चे को दी जाती है उतना ही उज्जवल उसका भविष्य होता ​है। कई लोग बचपन में अपने बच्चों सिर्फ पढ़ाई में ही उलझा कर रखते हैं। लेकिन एक शोध के अनुसार बच्चों को बचपन में कहानियां सुनाना जरूरी होता है। क्योंकि ऐसे बच्चे अपेक्षाकृत अधिक बुद्धिमान होते हैं।

शालीनता

क्या आपने कभी ये चीज नोटिस की है कि अाखिर दादी-नानी बच्चों को बचपन में कहानियां और पुरानी बातें क्यों बताती हैं? ऐसा इसलिए होता है क्योंकि ऐसा करने से बच्चों में शुरू से ही शालीनता और गंभीरता आती है। कहानी सुनते वक्त जब बच्चा किसी को परेशानी में फंसता हुए सुनता है तो भावुक हो जाता है। फिर जब वैसी ही घटना उसकी असली की जिंदगी में बीतती है तो वह उसका डट कर सामना करता है।

मजबूत बनते हैं

दरअसल, कहानियों के माध्यम से घर के बड़े छोटे-छोटे बच्चों को बचपन में ही भविष्य में आने वाले कठिन पड़ावों से रू-ब-रू करा देते हैं और उनसे कैसे निपटना है ये भी बता देते हैं। इससे बच्चा इतना मजबूत बन जाता है कि जब उसके सामने कोई परेशानी आती है तो वह घुटने नहीं टेकता बल्कि उसका डटकर सामना करता है।

गंभीरता

कहानियां सुनकर बच्चे का मानसिक विकास काफी तेजी से होता है। कहानियों में जिस तरह से एक छोटा बच्चा अपने माता-पिता का ध्यान रखता है, 2 वक्त की रोटी कमाने के लिए अपने परिजनों के साथ खुद भी मेहनत करता है। इन सब को सुनकर बच्चे में खुद ही गंभीरता आती है।

अनुशासनता

बचपन की कहानियां कहीं ना कहीं बच्चे में अनुशासनता भी लाती है। स्कूल में बच्चों के लिए कई तरह के नियम बनाए जाते हैं लेकिन बच्चे ना तो उनका पालन करते हैं और ना ही उनसे कुछ सीखते हैं। क्योंकि बच्चे स्वभाव से चंचल होते हैं, लेकिन कोई भी बात सिर्फ प्यार से मानते हैं। इसलिए कहानियों की गहरी छाप उनके मस्तिष्क पर पड़ती है।

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK