Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

महिलाओं में कैंसर के लक्षण

वजन घटना, स्‍तन में गांठ होना, योनि से स्राव होना आदि कई लक्षण हैं जो महिलाओं में कैंसर होने का संकेत दे सकते हैं, इनको नजरअंदाज न करें।

सभी By Nachiketa SharmaJan 09, 2014

महिलाओं में कैंसर

कैंसर एक जानलेवा बीमारी है जो किसी को भी और किसी भी उम्र में हो सकती है। हमारी अनियमित दिनचर्या और खानपान की आदतों के कारण सामान्‍य बीमारी घातक रूप लेकर कैंसर का कारण बन सकता है। महिलायें भी इससे अछूती नहीं हैं और वे भी कैंसर का शिकार हो सकती हैं। महिलाओं को विभिन्न प्रकार के कैंसर हो सकते हैं जैसे- मुंह का कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर, सर्वाइकल कैंसर, पेट का कैंसर, ब्रेन कैंसर आदि। आगे के स्‍लाइडशो में जानिए महिलाओं में कैंसर के लक्षण क्‍या-क्‍या हैं।

वजन घटना

यदि आपका वजन लगातार कम हो रहा है और इसके कारण पता न हो तो यह सामान्य बात नहीं है। व्यायाम करने से या खाने की खुराक कम करने से वजन कम होना स्वाभाविक है लेकिन बिना कुछ किये यदि आपका वजन तेजी से कम हो रहा हो तो यह कैंसर का लक्षण हो सकता है। हालांकि महीने में महिलाओं के वजन में कई बार उतर चढ़ाव आता है लेकिन अगर यह आपको असामान्य लगे तो इसे नजरअंदाज न करें।

स्तन में गांठ होना

किसी महिला अपने किसी भी एक स्तन में कोई गांठ महसूस हो, और यह गांठ दर्द रहित हो तो स्‍तन कैंसर का लक्षण हो सकता है। स्तन के अलावा अजीब तरह की गांठ स्तन के आस पास भी हो सकता है। महिलाओं को चाहिए कि वे महीने में कम से कम एक बार अपने स्तनों की स्वयं जांच अवश्य करें और किसी प्रकार की गांठ महसूस करने पर उसका परीक्षण करायें।

श्रोणि में दर्द

श्रोणि यानी पेल्विक में लगातार दर्द होन भी कैंसर का लक्षण है, श्रोणि नाभि के नीचे होता है। यूं तो मासिक धर्म शुरू होने के दौरान या उसके नजदीक के दिनों में पेल्विक पेन होना आम बात है लेकिन यदि यह दर्द आम दिनों में भी बरकरार रहता है तो यह कैंसर का लक्षण हो सकता है। श्रोणि दर्द एंडोमेट्रियल कैंसर, डिम्बग्रंथि के कैंसर, गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर, फैलोपियन ट्यूब के कैंसर और योनि के कैंसर के लक्षण को दर्शाता है।

योनि से खून का स्राव

यदि आपकी योनि से अचानक खून का स्राव हो तो यह भी कैंसर का लक्षण है। जब महिलाओं में गाईनेकोलिक कैंसर होता है तो उनकी योनी से असामान्य रूप से खून का स्राव होता है। मासिक धर्म के दौरान बहुत ज्यादा खून बहना या दो मासिक धर्म के बीच खून का निकलना या सहवास के दौरान या सहवास के बाद योनी से खून का निकलना गाईनेकोलिक कैंसर के लक्षण हो सकता है। ये गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर, गर्भाशय के कैंसर अथवा डिम्बग्रंथि के कैंसर के लक्षण भी हो सकते हैं।

 

पीठ के निचले हिस्से में दर्द

अगर किसी महिला की पीठ के निचले हिस्से में लगातार दर्द रहता हो तो इसे हल्के में बिलकुल भी न लें। सामान्‍यतया महिलायें इस दर्द को प्रसव पीड़ा की तरह महसूस करती हैं। हालांकि यह दर्द लम्बे समय तक बैठे रहने से भी हो सकता है या किसी अन्य कारणों से भी, लेकिन कई मामलों में यह डिम्बग्रंथि के कैंसर का एक लक्षण भी हो सकता है।

पेट में सूजन

पेट में सूजन होना और पेट फूला-फूला रहना डिम्बग्रंथि के कैंसर के आम लक्षणों में से एक है। यह एक ऐसा लक्षण होता है जिसे आमतौर पर नजरअंदाज कर दिया जाता है। पर यह सूजन या पेट का फूलना कई बार मरीज को पैंट पहनने में यानि पैंट की बटन बंद करने में भी मुश्किलें पैदा करता है। यदि आपके पेट में अक्‍सर सूजन आये तो इसे नजरअंदाज बिलकुल न करें।

बुखार का रहना

समान्‍यतया लोग बुखार को नजरअंदाज कर देते हैं, लेकिन यदि बुखार लगातार 7 दिन या उससे अधिक है तो यह कैंसर का लक्षण हो सकता है। कैंसर में बुखार बिना किसी कारण होता है और जल्‍दी ठीक नहीं होता। हालांकि अक्सर रहने वाला बुखार और भी कई दूसरी बीमारियों के होने का संकेत देता है इसलिए घबराएं नहीं और अपनी जांच करायें।

योनि में उत्पन्न असामान्य बातें

अगर आपकी योनि में किसी तरह का घाव, छाला रह रहा हो या वहां की त्वचा के रंग में असामान्य परिवर्तन हो रहा हो या असामान्य स्राव होता हो तो आपको योनी का स्वयं या योग्य डॉक्टर से परिक्षण करवानी चाहिए क्योंकि ये कैंसर के लक्षण हो सकते हैं।

थकान होना

थकान कैंसर का एक आम लक्षण है। यह आमतौर पर तब होता है जब कैंसर उन्नत अवस्था में पहुंच जाता है। लेकिन यह लक्षण प्रारंभिक अवस्था में भी उभर सकता है। यदि आप सामान्‍य काम के दौरान भी थकान का अनुभव कर रहे हैं तो यह कैंसर का लक्षण है। कैंसर होने पर महिला की ऊर्जा कम हो जाती है और शरीर कमजोर होने लगता है।

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK