• shareIcon

काम के समय माइंडफुल रहने के लिये अपनाएं ये तरीके

मनुष्य का मन कल्पना और वास्तविकता में अंतर समझ नहीं पाता और एक नयी बीमारी का निर्माण हो जाता है, मानसिक रूप से तृप्त अर्थात माइंडफुल होना काम के समय एकाग्र व सफल होने में बेहद काम आता है।

तन मन By Rahul Sharma / Jun 25, 2015

माइंडफुल रहने के तरीके

सभी जीवन में सुख व शांति चाहते हैं। हम सभी समय समय पर द्वेष, क्रोध, भय, ईर्ष्या आदि के कारण दुखी होते हैं। जब कोई व्यक्ति दुखी होता है तो वह अपनी नाकारात्मक ऊर्जा से अपने आसपास के सारे वातावरण को भी अप्रसन्न बना देता है, और उसके संपर्क में आने वाले लोगों पर इसका असर होता है। इससे न सिर्फ निजी जीवन प्रभावित होता है, बल्कि व्यवहारिक जीवन पर भी इसका नकारात्मक प्रभाव होता है। तो ऐसे में मानसिक रूप से तृप्त अर्थात माइंडफुल होना बेहद काम आता है। चलिये जानें क्या है माइंडफुलनेस और काम के दौरान माइंडफुल रहने का तरीका व इसके फायदे।
Images source : © Getty Images

ध्यान या माइंडफुलनेस


ध्यान जहां मन को एकाग्रता करने की कला है, वही एंग्जाईटी या चिंता अवसाद और इससे मिलते जुलते विकारों को ठीक करने का एक तरीका है। इन विकारों में मन के विचार, शरीर के सेंसेशन और भावनाएं मिल कर ऐसी स्थिति का निर्माण करते हैं कि मनुष्य का मन कल्पना और वास्तविकता में अंतर समझ नहीं पाता और एक नयी बीमारी का निर्माण हो जाता है। ध्यान या माइंडफुलनेस का अर्थ ही वर्तमान की वास्तविकता को यथार्थ रूप से समझ लेना होता है।
Images source : © Getty Images

माइंडफुल ब्रीदिंग


कुछ पलों के लिए शांति के साथ बैठें। मांसपेशियों को शिथिल छोड़ दें और चेहरे पर से तनाव के भावों को निकल जाने दें। चहरे कि मांसपेशियों को ढ़ीला छोड़ दें। अगर कोई विचार आपके दिमाग में चल रहा है तो उसे थमने का आदेश दें। इसके बाद धीरे से आंखे बंद कर लें। और सांस को भीतर भर कर कुछ पलों के बाद बाहर छोड़ दें।
Images source : © Getty Images

सकारात्मक बनें


नकारात्मक जीवन से बुरा शायद जीवन में और कुछ नहीं होगा! बेहतर और सफल व्यक्ति की पहली पहचान उसकी सकारात्मकता अर्थात पॉजिटिविटी होती है। सकारात्मकता न सिर्फ आपको ऊर्जावान बनाती है, बल्कि जीवन के बुरे समय में भी आपको मज़बूत और आत्मविश्वासी बनाए रखती है। पॉजिटिव व्यक्ति उन कार्यो को भी कर पाता है, जो कभी-कभी आम इंसानों को असंभव लगते हैं।
Images source : © Getty Images

अपना तनाव कम करें


माइंडफुल होने के लिये अपने तनाव के स्तर को कम करना जरूरी है। इसे कम करने के लिये सबसे पहले अपने समय को ठीक प्रकार से व्यवस्थित करें। कोई भी काम करने से पहले उसकी एक योजना बनायें। योग, ध्यान या एक्सरसाइज करें। किसी कला में रुची हो तो उसे भी करना शुरू करें।
Images source : © Getty Images

भाषा का सही प्रयोग


भाषा एक कला है, इसमें अशुद्धी और गलत शब्दों का प्रयोग आपके लिए हानिकारक हो सकता है, खासतौर पर व्यवहारिक जीवन में। ऐसा भी हो सकता है कि आपसे जुड़े लोग आपके अनुभवों और विशेषताओं को दरकिनार कर, आपके अल्प ज्ञान की खिल्ली उड़ाएं। बेहतर भाषा का प्रयोग करने वाला इंसान सबका प्रीय होता है और सुखी रहता है।
Images source : © Getty Images

जिंदगी में हर प्रॉब्‍लम का सॉल्‍यूशन मौजूद है


लोग अक्सर अपने सामने आने वाली समस्याओं को लेकर बेहद परेशान हो जाते हैं, जबकि सच तो ये है कि जीवन में हर समस्या का कोई ना कोई समाधान मौजूद होता है। अगर इंसान उस सॉल्यूशन को नहीं ढूंढ़ पा रहा है तो इसका सीधा मतलब है कि वह प्रॉब्लम को भी ठीक से नहीं समझ पा रहा है।
Images source : © Getty Images

सेल्फ-एनालिसिस करें


प्रोफेशन चाहे कोई भी हो, लेकिन हर इंसान के लिए यह जरूरी है कि वह खुद अपने काम को समझे और उसके पीछे छिपे हर एक्सपेक्ट को रियलाइज करे। 'सेल्फ-एनालिसिस कर पाना किसी के लिए बहुत मुश्किल होता है, वह तो दूसरों का का काम होता है। क्योंकि हम जो कर रहे हैं जब तक उससे हमारी आत्मा को खुशी या संतुष्टि ना मिले तो फिर उसका क्या फायदा।
Images source : © Getty Images

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK