Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

आपको हेल्‍दी रखते हैं ये 7 नारंगी रंग के आहार

प्रकृति के रंग अलग-अलग उर्जा से जुड़े रहते हैं जो फलों और सब्जियों के रूप में हमारे शरीर में पोषक तत्वों को पहुंचाते हैं, रंगों में शरीर का इलाज करने की अद्भुत शक्ति होती है। इस स्लाइडशो मे पढ़ें कि नारंगी रंग के आहारों से आपके स्वास्थ्य को क्या फायद

तन मन By Aditi Singh Jul 02, 2015

नारंगी रंग के फल और सब्जियां

रंग हमारे शरीर के अंदर आशा और परिवर्तन का निर्माण करते हैं और यह आपके दुख और पेरशानी को दूर करते हैं। यह तनाव को भी कम करता है और प्रजनन प्रणाली का पोषण करता है। नारंगी रंग के फलों और सब्जियों में विटामिन-सी जैसे एंटी-ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं, जो शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बनाए रखने में सहयोग देते हैं और पाचन क्रिया बेहतर बनाते हैं। इसमें कीनू, पपीता, संतरा, बेल, रसभरी आदि मुख्य हैं।
ImageSource-GettyImages

गाजर

गाजर को आँखों के लिए सूपरफूड माना जाता है। आपको यह जानकर आश्चर्य होगा, एक मध्यम आकार का गाजर विटामिन ए के 200% रोजाना ज़रूरत को पूरा कर सकती है। इसलिए आप डायट में इसको शामिल करना न भूलें। आपको गाजर से कई विटामिन व मिनरल्स मिलते हैं। इसमें एंटीऑक्सिडेंट बीटा कैरोटिन, अल्फा कैरोटिन, कैल्शियम, विटामिन ए, बी1, बी2, सी और ई भी है। एंटीऑक्सिडेंट से स्किन में चमक आती है।
ImageSource-GettyImages

कद्दू

गाजर की तरह कद्दू भी विटामिन ए के प्रधान स्रोतों में एक है। जो लोग हेल्दी तरीके से वज़न घटाना चाहते हैं, उनके लिए तो यह सबसे अच्छा विकल्प बन सकता है, क्योंकि 100 ग्राम में सिर्फ 26 कैलोरीज़ होती हैं। इस सब्जी में 'पेट' से लेकर 'दिल' तक की कई बीमारियों के इलाज की क्षमता है। जहां यह हृदयरोगियों के लिए बहुत लाभदायक होती है, वहीं कोलेस्ट्रॉल को कम करने में भी सहायक होती है।
ImageSource-GettyImages

संतरा

एक मध्यम आकार के संतरे में रोजाना के विटामिन सी के ज़रूरत के 72% को पूरा करने की क्षमता होती है। इसमें जो विटामिन सी होता है वह स्किन, हृदय और प्रतिरक्षी तंत्र  के लिए अच्छा होता है। संतरा दांतो के लिए बेहद फायदेमंद होता है यह मसूड़ों और दांतों की बीमारी को भी खत्म करता है। शहद में संतरे का रस को मिलाकर पीने से दिल के रोगी को बेहद फायदा होता है।
ImageSource-GettyImages

पपीता

पपीता विटामिन सी के प्रधान स्रोतों में एक है। इसमें पपेअन नाम का डाइजेस्टिव एन्जाइम होने के साथ-साथ फाइबर भी होता है जो पेट के लिए अच्छा होता है। इसको खाने से कब्ज़ से कुछ हद तक राहत मिलती है। केवल एक पपीते में इतना विटामिन सी होता है जो आपके प्रतिदिन की विटामिन सी की आवश्यकता का 200 प्रतिशत होता है। ज़ाहिर तौर पर ये आपके प्रतिरोधक तंत्र को मज़बूत करता है।  
ImageSource-GettyImages

आम

लोगों का यह मानना है कि आम साधारणतः पीले रंग के होते हैं। लेकिन आम के कुछ किस्म नारंगी रंग के भी होते हैं। आम गर्मी के मौसम में ही पाये जाते हैं और ये स्वादिष्ट होने के साथ-साथ विटामिन ए और सी से भरपूर होते हैं। आम शरीर में वसा को कम करने और शकर्रा को नियंत्रित करने में मददगार होता है।
ImageSource-GettyImages

ऐप्रकाट

ऐप्रकाट में पोटैशियम, फाइबर, विटामिन ए, विटामिन सी बीटा कैरोटीन और लाइकोपीन अच्छी मात्रा में पाया जाता है। इसे खाने से हमें बहुत सारे रोगों से बचा जा सकत हैं जैसे लीवर कैंसर।सूखी खूबानी लोहे का एक बहुत अच्छा स्रोत है जो एनीमिया से लड़ने में उपयोगी है। इसमें लोहे को अवशोषित करता तांबा भी मौजूद है। अपने दैनिक आहार में सूखी खूबानी को शामिल करने से हीमोग्लोबिन उत्पादन में वृद्धि होती है
ImageSource-GettyImages

रसभरी

रसभरी में सेपोनिन रसायन अधिक होने से इसका उपयोग कब्जी दूर करने और शरीर पर होने वाले फोड़े-फुंसियां को ठीक करने में होता है। इससे ब्लड प्योरिफाई भी होता है।इसकी जड़ों में एंटी कैंसर प्रॉपर्टी होती है। रसभरी का रस पीलिया रोग को दूर करने में सहायक है।
ImageSource-GettyImages

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK