• shareIcon

घरेलू उपाय जो दांत दर्द भगाएं

दांत के दर्द को कम करने के लिए हम कई घरेलू उपाय भी अपना सकते हैं। जो इस तकलीफ को कम करने में मदद करते हैं। आइए जाने ऐसे ही कुछ उपायों के बारे में हमारे इस स्‍लाइड शो में।

घरेलू नुस्‍ख By Pooja Sinha / Nov 25, 2013

दांत में दर्द

दांत दर्द कई कारणों से हो सकता है। ठीक प्रकार सफाई न करने। खानपान की गलत आदतों के कारण। अपने दांतों के प्रति लापरवाही बरतने के चलते व अन्‍य कई वजह होती हैं जिनकी वजह से दांत दर्द परेशान कर सकता है। कई बार यह पीड़ा असहनीय हो जाती है और ऐसे में हमें दंत चिकित्‍सक के पास जाना पड़ता है। दांत के दर्द को कम करने के लिए हम कई घरेलू उपाय भी अपना सकते हैं। जो इस तकलीफ को कम करने में मदद करते हैं।

गुनगुना पानी

गुनगुना पानी दांत दर्द से छुटकारा पाने का प्रभावी घरेलू उपाय है। गुनगुने पानी से कुल्‍ला करने से बैक्‍टीरिया मर जाते हैं। इसके साथ ही गुनगुना पानी कोशिकाओं में जमा गंदगी को बाहर निकालने में भी मदद करता है। आपको बस एक गिलास पानी में एक चम्‍मच नमक डालकर कुल्‍ला करना है। इससे दांत दर्द से काफी राहत मिलती है। आप चाहें तो नमक की जगह फिटकरी डालकर उस पानी से भी कुल्‍ला कर सकते हैं।

बर्फ

दांत के दर्द को कम करने के लिए 'आइस-क्‍यूब' भी बहुत फायदेमंद होती है। अपने दर्द वाले दांत पर बर्फ का टुकड़ा रखें। आप चाहें तो एक छोटा आइस पैक बनाकर उससे अपने गालों को छूकर भी दर्द को दूर कर सकते हैं। दांतों के दर्द वाले हिस्से पर 15 से 20 मिनट तक बर्फ से सेंकाई करनी चाहिए। ऐसा करने से दांत के आसपास के तापमान में अचानक से गिरावट आ जाएगी और आपको आराम मिल जाएगा। हालांकि यह आराम कुछ ही समय के लिए होता है।

लौंग

लौंग को दांत दर्द से बचने का सबसे प्रभावी व सरल घरेलू उपाय माना जाता है। यह एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी बैक्‍टीरियल एंटीऑक्‍सीडेंट और ऐनस्थेटिक की तरह काम करता है। लौंग में मौजूद औषधीय गुण कीटाणुओं को समाप्‍त करने में मदद करते है। लौंग के तेल को दर्द वाले दांत में सीधा लगाने से दांत के दर्द से राहत मिलती हैं। या फिर पांच लौंग को पानी में उबालकर उस पानी से कुल्‍ला करने से भी दांत दर्द ठीक हो जाता है।

नमक और काली मिर्च

काली मिर्च को मसालों का राजा कहा जाता है। और जब यह राजा नमक के साथ मिल जाए तो इसके फायदे और भी बढ़ जाते हैं। दांतों में दर्द होने पर एक चौथाई चम्‍मच नमक में एक चुटकी काली मिर्च पाउडर मिलाकर पेस्‍ट तैयार कर लें। इस पेस्‍ट को सीधे अपने दांत पर लगायें। यह पेस्‍ट कुछ ही मिनटों में दांत दर्द को कम कर देगा। अगर यह उपाय आपके लिए फायदेमंद साबित होता है तो आप इस प्रक्रिया को अगले कुछ दिनों तक कई बार दोहरा सकते हैं।

लहसुन

लहसुन भोजन को स्‍वादिष्‍ट बनाने के साथ-साथ बैक्‍टीरिया से भी बचाता है। लहसुन में मौजूद एंटीबायोटिक गुण दवाओं से भी ज्‍यादा असरदार होते हैं। इसे खाने से दांतों के कई प्रकार के संक्रमण से बचा जा सकता है। लहसुन में एलीसीन नामक तत्‍व भी होता है जो मुंह में बैक्टीरिया के खिलाफ लड़ने में बहुत कारगर होता है। आप अगर दांत के दर्द से परेशान है तो दर्द से राहत पाने के लिए दांत पर थोड़ा सा लहसुन पाउडर या फिर लहसुन की ताजा कलियां लगा सकते है।

प्याज

प्‍याज में कुछ ऐसे औषधीय गुण होते हैं जो मुंह के जीवाणु एवं बैक्‍टीरिया को नष्ट कर देते हैं। रोज एक कच्‍चा प्‍याज खाने से दांत दर्द में आराम मिलता है। साथ ही रोजाना कच्‍चा प्‍याज खाने से आपको अन्‍य कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभ भी मिलते हैं।

सरसों का तेल

सरसों का तेल दांत के दर्द को दूर करने को असरकारी प्राकृतिक विकल्‍प है। सरसों के तेल की तीन से चार बूंद को एक चुटकी नमक के साथ मिला कर दांतो व मसूड़ों के प्रभावित हिस्से पर मसाज करें। इससे दांत दर्द में तो आराम मिलता ही है साथ ही मसूड़े भी मजबूत होते हैं।

हींग

दांत दर्द के लिए घरेलू उपायों में हींग का भी इस्‍तेमाल किया जाता है। इस उपाय को दांत दर्द के लिए बेहद ही सुलभ, सरल और कारगर माना जाता है। दर्द में चुटकी भर हींग में मौसमी का रस मिलाकर उसे दर्द के स्‍थान पर लगाने से दर्द थोड़ी ही देर में कम हो जाता हैं।

काला और सेंधा नमक

दांतों के सभी प्रकार के रोग को सेंधा और काले नमक के सेवन से दूर किया जा सकता हैं। दो ग्राम पिसे सेंधा नमक में दो से तीन बूंद सरसों के तेल की मिलाकर दांतों की मालिश करने से दांत दर्द में राहत मिलती है। या फिर तिल के तेल में पिसा हुआ काला नमक मिलाकर मंजन करने से लाभ होता है।

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK