• shareIcon

केल के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ के बारे में जानें

बहुत अधिक पौष्टिक होने के कारण केल को सुपर फुड के नाम से जाना जाता है। केल का प्रयोग सलाद, स्मूदी, पास्ता इत्यादि में बहुत होता है। आइए केल के स्‍वास्‍थ्‍य लाभों की जानकारी इस स्‍लाइड शो के माध्‍यम से लेते हैं।

एक्सरसाइज और फिटनेस By Devendra Tiwari / Jun 20, 2016

केल के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ

केल बहुत ही आसानी से मिलने वाली हरी सब्जी है। केल, वनस्पति विज्ञान में मूली और सरसों के परिवार का सदस्य है और इसकी पत्तियां बिल्कुल सरसों के जैसे ही दिखती हैं और स्वाद में यह मूली से बहुत मिलती है। इसमें विटामिन, मिनरल और फाइबर सभी तरह के पोषक तत्‍व बहुत अधिक मात्रा में पाये जाते हैं। बहुत अधिक पौष्टिक होने के कारण केल को सुपर फुड के नाम से जाना जाता है। केल का प्रयोग सलाद, स्मूदी, पास्ता इत्यादि में बहुत होता है। आइए केल के स्‍वास्‍थ्‍य लाभों की जानकारी इस स्‍लाइड शो के माध्‍यम से लेते हैं।

फाइबर और कैल्शियम की भरपूर मात्रा

एक कप केल में केवल 36 कैलोरी, 5 ग्राम फाइबर और फैट 0 ग्राम होता है। फाइबर से भरपूर होने के कारण यह पाचन क्रिया को दुरुस्‍त रखने में मदद करता है। फाइबर और सल्फर से भरपूर केल आपके शरीर को डिटॉक्‍स और लीवर को स्वस्थ रखने में मदद करता है। इसके अलावा यह बहुत सारे पोषक तत्‍वों जैसे विटामिन, फोलेट और मैग्‍नीशियम से भरपूर होता है। प्रति कैलोरी, केल में दूध की तुलना में अधिक कैल्शियम होता है, जो हड्डी हानि को रोकने ऑस्टियोपोरोसिस को रोकने और एक स्वस्थ चयापचय को बनाए रखने में मदद करता है। विटामिन 'सी' भी जोड़ो में लचीलेपन को बनाए रखने के लिए उपयोगी होता है।

विटामिन से भरपूर

गहरे हरे रंग के केल के पत्तों में मांस से कहीं अधिक मात्रा में आयरन और कैल्शियम होता है। इसके अलावा केल विटामिन-'ए', 'सी' और 'के' का भरपूर स्रोत है, जो आंखों, ब्‍लड और प्रतिरोधक क्षमता और हाइड्रेशन के लिए महत्वपूर्ण होता है। साथ ही आहार में विटामिन 'के' की उच्‍च मात्रा कैंसर से लड़ने में शरीर की रक्षा करता है। यह हड्डी स्‍वास्‍थ्‍य और रक्‍त के थक्‍के सहित शारीरिक कार्यों की एक विस्‍तृत विविधता के लिए आवश्‍यक होता है। इसके अलावा विटामिन 'के' का उच्‍च स्‍तर अल्‍जामइर रोग से पी‍ड़ित लोगों की मदद करता है।

आयरन से भरपूर केल

प्रति कैलोरी केल में बीफ से भी अधिक मात्रा में आयरन होता है। आयरन अच्‍छे स्‍वास्‍थ्‍य जैसे हीमोग्‍लोबिन और एंजाइमों, शरीर के विभिन्‍न भागों को ऑक्‍सीजन पहुंचाने, सेल के विकास, लीवर के कार्य को सही तरीके से करने आदि के लिए बहुत आवश्‍यक होता है। इसलिए आयरन की मात्रा बढ़ाने के लिए अपने आहार में केल को नियमित रूप से शामिल करें।

केल एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर

केल एंटीऑक्‍सीडेंट से भरपूर होता है। इसमें कैरोटेनॉयड्स और फ्लेवोनोइड्स जैसे एंटीऑक्‍सीडेंट पाये जाते हैं जो विभिन्न तरह के कैंसर के खिलाफ की रक्षा करते हैं। साथ ही केल एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होता है। एक कप केल में 10 प्रतिशत आरडीए का 10 प्रतिशत ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है, जो अर्थराइटिस, अस्‍थमा और ऑटोइम्‍यून विकार से लड़ने में मदद करता है। भोजन में अधिक मात्रा में केल कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करता हैं।
Image Source : Getty

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK