• shareIcon

दांतों की इन 7 समस्याओं का खुद से कर सकते हैं उपचार

दांतों की हर परेशानी के लिए चिकित्सकों का दरवाजा खटखटाना तो सही नहीं। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या किया जाए? डरिये नहीं! हम आपको यहां दांतों की दिक्कतों का जिक्र करेंगे जिनका उपचार आप स्वयं कर सकते हैं।

मुंह स्‍वास्‍थ्‍य By Meera Roy / Jun 12, 2015

स्‍वयं करें दांतों की समस्‍यओं का इलाज

वर्तमान समय में शायद ही कोई ऐसा शख्स है जो दांतों की समस्याओं से परेशान न हों। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि समूचे विश्व में लगभग 90 फीसदी लोग दांतों की समस्या से परेशान हैं। अब हर परेशानी के लिए चिकित्सकों का दरवाजा खटखटाना तो सही नहीं। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या किया जाए? डरिये नहीं! हम आपको यहां दांतों की दिक्कतों का जिक्र करेंगे जिनका उपचार आप स्वयं कर सकते हैं। आइये इन्हें जानें।
Image Source : Getty

मुंह से बदबू

नियमित दांत न साफ करने से यह बीमारी उत्पन्न होती है। अतः हमेशा यह ध्यान रखें कि दांतों को नियमित साफ करें। इसके अलावा अपने खानपान पर भी विशेष ध्यान दें। दंत विशेषज्ञों की मानें तो कच्चे आहार दांतो के स्वास्थ्य के लिए उपयुक्त होते हैं। इसमें आप गाजर और मूली जैसी सब्जियां शामिल कर सकते हैं।
Image Source : Getty

मसूड़ों से खून निकलना

कई बार ब्रश के दबाव से भी मसूड़ों से खून निकलने लगता है। मसूड़ों का स्वास्थ्य हमारे दांत की आयु तय करते हैं। मतलब यह कि ब्रश का चयन करते वक्त ध्यान रखें कि वह नर्म हो। बावजूद इसके अगर खून निकलना बंद नहीं होता तो इसकी कई अन्य वजहें हो सकती हैं। इसके लिए बेहतर है चिकित्सक से संपर्क करें।
Image Source : Getty

सेंसिटिव दांत

आजकल यह बीमारी भी कुछ आम हो चली है। बढ़ते विज्ञापन इस बात की तस्दीक करते हैं। बहरहाल अगर ज्यादा ठंडा या गर्म खाने से दांत में चीस मचती है तो यह भविष्य में बड़ी परेशानी का सबब बन सकते हैं। ऐसे में आप दांतों को हर रोज दो बार अवश्य ब्रश करें। कुछ भी खाने के बाद कुल्ला करें। यही नहीं सख्त ब्रश के इस्तेमाल से बचें। सबसे अहम, अपना टूथपेस्ट बदलें। इसके लिए आप सेंसोडाइन जैसे टूथपेस्ट का इस्तेमाल कर सकते हैं।
Image Source : Getty

तलवों में छाले

अब आप सोच रहे होंगे कि इसका भला दांतों से क्या सम्बंध हैं? वास्तव में इनका बहुत गहरा सम्बंध है। तलवों में लगे छाले से टिश्यू कमजोर हो जाते हैं जिससे मुंह में इन्फेक्शन होने का खतरा बना रहता है। इन्फेक्शन हमारे दांतों की सेहत को डांवाडोल कर सकते हैं। सवाल है ऐसे में क्या किया जाए? ऐसे में जरूरी यह है कि तलवों में लगे छालों का उपचार किया जाए। मिर्च खाने से बचें। ठंडा खाएं ताकि आराम मिले। बेहद गर्म चीजें खाने से भी परहेज करें।
Image Source : Getty

पायरिया

इसे आप कई बीमारियों का मिश्रण भी कह सकते हैं। मुंह से बदबू आना, मसूड़ों में सूजन और खून निकलने की बीमारी को पायरिया कहते हैं। इस बीमारी के तहत कुछ भी चबाने की स्थिति में मुंह में दर्द होता है। यहां तक कि दांत हिलने की शिकायत भी हो सकती है। कहने का मतलब यह है पायरिया दांतों की एक खतरनाक बीमारी है। सवाल उठता है इसे रोका कैसे जाए? सबसे पहले यह जानें कि यह बीमारी क्यों होती है? इसके पीछे मुख्य रूप से एक ही वजह छिपी है। यह है दांतों की नियमित सफाई न करना। दांतों की सफाई अत्यंत आवश्यक है। अगर जरूरत तो डेंटिस्ट के पास जाकर भी क्लीनिंग करवा सकते हैं। बेहतर यह होगा कि पायरिया के लक्ष्ण दिखते ही दांतों के प्रति सजग हो जाएं और दिन में दो बार अवश्य सफाई करें। खानपान का ख्याल रखें।
Image Source : Getty

दांतों का घिसना

यह बड़ी अजीब बीमारी है। इसमें अकसर लोग रात को सोते वक्त गुस्से या तनाव में दांत पीसते हैं। इससे दांत घिसने लगते हैं जो कि भविष्य में बड़ी समस्या का रूप धारण कर सकते हैं। इससे बचाव के लिए आप नाइटगार्ड का इस्तेमाल कर सकते हैं।
Image Source : Getty

जीभ में घाव

जीभ की समस्या तलवों की समस्या से मिलती जुलती है। जीभ में घाव होने के कारण अकसर हम खाना चबाकर नहीं खाते। इससे होता यह है कि दांतों के कोने कोने में खाद्य पदार्थ लगे रह जाते हैं। दर्द के कारण ठीक से कुल्ला भी नहीं कर पाते, जिससे कि मुंह से बदबू की शिकायत हो सकती है। ऐसे में जरूरी यह है कि जीभ की समस्या से निदान खोजें। घाव में मरहम लगाएं। चिपचिपे पदार्थ कम लें और हर संभव स्थिति में कुल्ला करें।
Image Source : Getty

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK