• shareIcon

बैठने और लेटने के गलत तरीकों से होती हैं ये 5 गंभीर बीमारियां, जानें क्‍या हैं ये

एक खराब मुद्रा आपके स्वास्थ्य को विभिन्न तरीकों से प्रभावित कर सकती है। अब आप इसे पढ़ते हुए अपना आसन ठीक कर रहे होंगे। यहां आपको हम बता रहे हैं कि खराब पॉश्‍चर आपके लिए कितना हानिकारक हो सकता है।

विविध By अतुल मोदी / Apr 04, 2019

गलत पॉश्‍चर

क्या आप भी अपने बैठने और लेटने का सही तरीका भूल जाते हैं जब तक कि कोई आपको ऐसा करने के लिए याद न दिलाए? लेकिन आप इस बात से अवगत नहीं होंगे कि खराब पॉश्‍चर सिर्फ कमर दर्द ही नहीं बल्कि इससे अधिक नुकसान पहुंचा सकता है। एक खराब मुद्रा आपके स्वास्थ्य को विभिन्न तरीकों से प्रभावित कर सकती है। अब आप इसे पढ़ते हुए अपना आसन ठीक कर रहे होंगे। यहां आपको हम बता रहे हैं कि खराब पॉश्‍चर आपके लिए कितना हानिकारक हो सकता है। 

पाचन की गड़बड़ी

हाँ, यह बहुत आश्चर्यजनक हो सकता है लेकिन आपके खराब पॉश्‍चर से पाचन क्रिया खराब हो सकती है। यह आपके पेट के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर सकता है। एक खराब मुद्रा पाचन के लिए आवश्यक विभिन्न अंगों को प्रभावित करती है जो आंतों को नुकसान पहुंचा सकता है। खराब मुद्रा के कारण आपको कब्ज का अनुभव होने की अधिक संभावना रहती है।

पैरों में दर्द

खराब पॉश्‍चर आपके पैरों को भी प्रभावित कर सकता है। विभिन्न अंगों के गलत अलाइनमेंट से दर्द महसूस होता है जो आपके लिए दिन के कार्यों को पूरा करना मुश्किल बना सकता है। इसलिए आपको अपने शरीर के प्रत्येक भाग को फिट और ठीक रखने के लिए अपनी मुद्रा में सुधार करना चाहिए।

 

सिरदर्द

सिरदर्द के पीछे काम का दबाव और तनाव ही एकमात्र कारण नहीं है। एक गलत पॉश्‍चर आपकी गर्दन और सिर पर तनाव डालता है जो सिरदर्द में योगदान देता है। सिरदर्द किसी विशेष कार्य को पूरा करने की आपकी क्षमता को कम कर सकता है। सिरदर्द से बचने के लिए अपनी मुद्रा को तुरंत ठीक करें।

नींद में कमी

खराब आसन आपकी नींद को भी प्रभावित कर सकता है। गलत पॉश्‍चर विभिन्न मांसपेशियों पर तनाव लाता है। यह आपको ठीक से सोने नहीं देता है। ऐसे में आप ठीक से आराम नहीं कर पाएंगे। सिर्फ आपके बैठने की मुद्रा ही नहीं आपको अच्छी नींद के लिए अपने सोने की स्थिति में भी सुधार करना चाहिए।

अत्‍‍यधिक तनाव

काम का दबाव और अन्य जिम्मेदारियां आपको ज्‍यादा तनाव नहीं देते, लेकिन आपके गलत पॉश्‍चर से आपका तनाव बढ़ जाता है। एक खराब मुद्रा मानसिक और शारीरिक तनाव दोनों को बढ़ाती है। खराब आसन एक हार्मोनल असंतुलन भी पैदा कर सकता है जो कोर्टिसोल के स्तर को बढ़ाता है और तनाव को ट्रिगर करता है।

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

More For You
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK