• shareIcon

केसर से पाएं निखरा रूप और अच्छी सेहत!

घरेलू नुस्‍ख By Nachiketa Sharma , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Sep 06, 2012
केसर से पाएं निखरा रूप और अच्छी सेहत!

केसर को दूध के साथ पीने से शारीरिक शक्ति बढती है। इसके अलावा केसर का प्रयोग शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है। आइए जानें केसर हमारे लिए कितना उपयोगी है। 

खाने का स्‍वाद बढ़ाने के साथ-साथ केसर का उपयोग कई तरह के आयुर्वेदिक उपचार में भी किया जाता है। हल्‍के और अपने सुनहरे लाल रंगों के साथ केसर स्वास्‍थ्‍य के लिए बहुत फायदेमंद होता है। केसर की खुशबू बहुत तेज होती है। केसर को विभिन्न प्रकार के व्यंजनों में डालकर खाया जाता है।

भारत में केसर कश्मीर में पैदा होता है। गर्म पानी में डालने पर केसर से गहरा पीला रंग बनाया जाता है। पेट संबंधित परेशानियों के इलाज के लिए केसर बहुत फायदेमंद है। चोट लगने या झुलसने पर भी केसर का लेप लगाने से फायदा होता है। आइए हम आपको केसर के गुणों की जानकारी देते हैं।

saffron in hindi

इसे भी पढ़ें : गर्भवती महिलाओं के लिये किस तरह फायदेमंद है केसर

 

केसर के गुण

  • चन्दन को केसर के साथ घिसकर इसका लेप माथे पर लगाने से सिर, आंखों और दिमाग को शीतलता मिलती है। इस लेप को लगाने से दिमाग तेज होता है।
  • सिर दर्द को दूर करने के लिए केसर का उपयोग किया जा सकता है। सिर दर्द होने पर चंदन और केसर को मिलाकर सिर पर इसका लेप लगाने से सिर दर्द में राहत मिलती है।
  • बच्चें को अगर सर्दी और जुकाम की समस्या हो तो केसर का दूध सुबह-शाम पिलाने से बच्चे की सर्दी और जुकाम में राहत मिलेगी।
  • गैस और एसिटिडी से राहत दिलाने में काफी मदद करता है। यह हमारी पाचन क्रिया को भी दुरुस्‍त रखता है।
  • बच्चें की सर्दी अगर समाप्त न हो रही हो तो बच्चे की नाक, माथे, छाती और पीठ पर केसर, जायफल और लौंग का लेप लगाने से फायदा होता है।
  • अतिसार में भी केसर बहुत फायदेमंद है। अतिसार होने पर केसर को जायफल, आम की गुठली, सोंठ को पत्थर पर पानी के साथ घिसकर इसका लेप लगाने से फायदा होता है।
  • महिलाओं के लिए केसर बहुत फायदेमंद होता है। महिलाओं की कई शिकायतें जैसे - मासिक चक्र में अनियमिता, गर्भाशय की सूजन, मासिक चक्र के समय दर्द होने जैसी समस्याओं में केसर का सेवन करने से आराम मिलता है।
  • त्वचा के झुलसने या चोट लगने पर केसर के लेप लगाना चाहिए। इससे तुरंत फायदा होता है और नई त्वचा का निर्माण जल्द होता है।
  • केसर को दूध के साथ पीने से शारीरिक शक्ति बढती है।
  • किडनी और लिवर के लिए भी केसर काफी फायदेमंद होता है। यह ब्‍लैडर और लिवर की समस्‍याओं को ठीक करने में मदद करता है। और रक्‍त शुद्धिकरण करता है।
  • अर्थराइटिस के मरीजों के लिए भी केसर बहुत लाभकारी होता है। यह जोड़ों के दर्द से भी राहत दिलाता है। यह थकान को दूर करने और मांसपेशियों को राहत पहुंचाने का काम करता है।
  • अनिद्रा की शिकायत को दूर करने में भी केसर काफी उपयोगी होता है। इसके साथ ही यह अवसाद को भी दूर करने में मदद करता है। रात को सोने से पहले दूध में केसर डालकर पीने से अनिद्रा की शिकायत दूर होती है।
  • केसर में 'क्रोसिन' नाम का तत्‍व पाया जाता है, जो वैज्ञानिक रूप से बुखार को दूर करने में उपयोगी माना जाता है। इसके साथ ही यह एकाग्रता, स्‍मरण शक्ति और रिकॉल क्षमता को भी बढ़ाने का काम करता है।
  • आंखों की परेशानी को दूर करने में भी मददगार होता है केसर। एक हालिया शोध में यह बात सामने आयी है‍ कि जिस प्रतिभागी ने केसर का सेवन किया उसकी नजरें बेहतर रहीं। यह मोतिया को दूर करने में भी मदद करता है।
  • केसर मसूड़ों की परेशानी को भी दूर करता है। यह मसूड़ों में सूजन और जख्‍मों को दूर करता है। इसके साथ ही यह मुख और जीभ की तकलीफों से निजात दिलाता है।

arthritis in hindi

इसे भी पढ़ें : केसर के उपयोग से निखारें त्‍वचा

कैसे करें केसर का इस्‍तेमाल

केसर खाद्य पदार्थों की सुगंध और स्‍वाद में इजाफा करता है। केसर को खीर, बिरयानी, मिठाई और दूध आदि में इस्‍तेमाल किया जा सकता है। दूध में केसर मिलाकर पीने से त्‍वचा का सांवलापन दूर होता है।

 

कैसे चुनें असली केसर

केसर बहुत महंगा होता है। कई नकली उत्‍पादों पर केसरिया रंग चढ़ाकर उसे केसर के नाम पर बेचा जाता है। असली और नकली केसर की पहचान करने के लिए आप गर्म पानी अथवा दूध में थोड़ा सा केसर डालिये अगर वह फौरन रंग छोड़ दे, तो समझ झाइये कि वह नकली है। असली केसर कम से कम दस से पंद्रह मिनट बाद गहरा लाल रंग छोड़ता है और साथ ही महकने लगता है।

इस लेख से संबंधित किसी प्रकार के सवाल या सुझाव के लिए आप यहां पोस्‍ट/कमेंट कर सकते हैं।

Image Source : Getty

Read More Articles on Herbs in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK