• shareIcon

    स्वस्थ एवं सुंदर शिशु के लिए घरेलू उपाय

    गर्भावस्‍था By Aditi Singh , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / May 21, 2012
    स्वस्थ एवं सुंदर शिशु के लिए घरेलू उपाय

    गर्भावस्था में आपको हरी सब्जियां, दूध, फल आदि का सेवन करना चाहिए इससे आपको व बच्चे को विटामिन मिनरल व अन्य पोषक तत्व मिलते हैं।

     

    शिशु का स्‍वास्‍थ्‍य और रूप-रंग काफी कुछ मां के खानपान और व्‍यवहार पर निर्भर करता है। आप जैसा आहार खायेंगे और जैसा बर्ताव करेंगे आपके शिशु पर उसका गहरा असर पड़ेगा। 

    हर औरत चाहती है कि उसका शिशु स्वस्थ्य व सुंदर हो। इसके लिए वह हर नुस्खे अपनाने को तैयार रहती है। स्वस्थ्य व सुंदर शिशु पाने के लिए खान-पान पर विशेष ध्यान देने की जरुरत होती है।

     गर्भावस्था के दौरान आपकेखाने में ज्यादा से ज्यादा पोषण वाली चीजें होनी चाहिए इससे आपका बच्चा स्वेस्थै होने के साथ सुंदर भी होगा। गर्भावस्था में आपको हरी सब्जियां, दूध, फल आदि का सेवन करना चाहिए इससे आपको व बच्चे को विटामिन मिनरल व अन्य पोषक तत्व मिलते हैं।

     Cute Baby In Hindi

    संतरे का सेवन

    गर्भावस्था के दौरान नियमित रुप से रसीले संतरों का सेवन करना चाहिए। इस से नवजात शिशु गोरा व सुन्दर होता है। संतरे में विटामिन सी पाया जाता है जो रंग निखारता है।


    कच्चा नारियल

    गर्भवती महिलाओं को कच्चा नारियल खाना चाहिए क्योंकि नारियल में बहुत ज्यादा पोटैशियम होता है जो कि बच्चे की त्वचा और बाल के लिए अच्छा होता है। नारियल पानी भी गर्भावस्था में फायदेमंद होता है। नारियल खाने में भी स्वादिष्ट, मुलायम और सुपाच्य भी होता है, उसका सफेद रंग त्वचा के मिलेनिन में मिलकर रक्त संचार में मदद करता है जिसके चलते बॉडी में त्वचा का रंग साफ होता है।

     

    नारियल में मिश्री मिलाकर खाएं

    कच्चे नारियल के छोटे-छोटे टुकड़ों में मिश्री मिलाकर चबा-चबा कर खाने से भी बच्चा सुन्दर होगा और उसकी त्वचा चमकदार होगी। नारियल पानी और जरूरी पोषक तत्‍वों की खान होता है। नारियल में मौजूद तत्‍व गर्भस्‍थ शिशु का रूप निखारने में मदद करते हैं।

     

    हरी सब्जियां खाएं

    गर्भवती महिलाओं को ज्यादा से ज्यादा हरी सब्जियां खानी चाहिए। हरी सब्जियां आयरन का अच्छा स्रोत होती हैं। गर्भावस्था में आयरन बहुत जरूरी है। आयरन गर्भवती महिला को सेहतमंद बनाये रखने में मदद करता है। गर्भावस्‍था में जो महिलायें पर्याप्‍त मात्रा में आयरन का सेवन नहीं करती, उनका स्‍वास्‍थ्‍य ठीक नहीं रहता। साथ ही उनके होने वाले शिशु पर भी इसका विपरीत प्रभाव पड़ता है।

     

    अंगूर का सेवन

    प्रेंग्नेंसी में काले और ताजे अंगूरों का रस नियमित रुप से एक गिलास लेने से गर्भस्थ शिशु को काफी फायदा होता है। इससे उसका रक्‍त भी शुद्ध होता है तथा वह कई बीमारियों से भी बचा रहता है। साथ ही उसकी त्‍वचा भी निखरती है।

     

    गाजर का जूस

    गर्भावस्था में गाजर का रस महिलाओं में रक्त की कमी को तो पूरा करता ही है साथ ही सलाद में कच्चे गाजर का सेवन करने से मां का स्‍वास्‍थ्‍य अच्‍छा होता है। इसके साथ ही इससे शिशु का स्‍वास्‍थ्‍य और उसकी त्‍वचा को भी लाभ पहुंचता है।


    चुकंदर खाएं

    चुकंदर जल्द ही रक्त की कमी को पूरा करने में कारगर साबित होता है। गर्भवती महिलाओं को चुकंदर का जूस पीना चाहिए यह रक्त संचार का बढ़ाने के साथ रंग भी निखारता है।

     

    दूध में केसर व बादाम

    गर्भावस्था में महिलाओं को दूध में केसर-बादाम मिलाकर पीना चाहिए। इससे बच्चे का रंग निखरता है और बच्चा स्वस्थ्य पैदा होता है। केसर औषधीय गुणों की खान होता है। केसर मां और बच्‍चे दोनों

    Healthy And Cute Baby In Hindi

    अनार का जूस

    अनार का जूस पीने से गर्भवती महिला का रक्त संचार बढता है साथ ही शिशु का रंग भी निखरता है। अनार आयरन का भी भरपूर स्रोत होता है। इससे मां और शिशु दोनों की हड्डियां मजबूत होती हैं।

     

    इसके साथ ही आपको चाहिए कि आप तनाव से दूर रहें। अधिक क्रोध करने से बचें। क्रोध और तनाव न केवल आपके स्‍वास्‍थ्‍य पर बुरा असर डालते हैं, बल्कि आपके होने वाले शिशु की सेहत के लिए भी वे अच्‍छे नहीं होते। गर्भवती महिलाओं को इसके साथ ही धूम्रपान और शराब का सेवन भी नहीं करना चाहिए। महिला को चाहिए कि डॉक्‍टर से पूछकर अपने लिए कारगर व्‍यायाम भी पता करे। व्‍यायाम भी महिला और शिशु के लिए फायदेमंद होते हैं।

     

    Read More Articles on Home Remedies for Skin in Hindi

     

    Disclaimer

    इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

    This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK