पेल्विक के हिस्से में दर्द के क्या कारण हो सकते हैं? जानें सभी संकेत

Updated at: Oct 16, 2020
पेल्विक के हिस्से में दर्द के क्या कारण हो सकते हैं? जानें सभी संकेत

पेल्विक दर्द के पीछे बहुत से कारण होते हैं जिनसे अकसर हम अनजान होते हैं। तो आइए जानते हैं विस्तार से।

Monika Agarwal
अन्य़ बीमारियांWritten by: Monika AgarwalPublished at: Sep 09, 2020

हमारे शरीर के निचले हिस्से यानि हमारी नाभि से नीचे दर्द होता है तो, उसे पेल्विक दर्द के नाम से जाना जाता है। यह दर्द आम तौर पर टांगो से उपर व नाभि से नीचे हो होता है। यह दर्द इस बात का लक्षण हो सकता है कि आप फरटाइल हैं या फिर हो सकता है आप की पाचन क्रिया में कोई दिक्कत आ रही है। यदि आप को यह दर्द ज्यादा समय के लिए होता है और समय के साथ बढ़ता ही जाता है तो आप को चिकित्सा की आवश्यकता है।

pelvic pain in hindi

एपेंडिसाइटिस

यदि आप को अपने पेट के दाहिने हिस्से में अचानक से बहुत अधिक दर्द होता है और आप को उल्टियों के साथ साथ थोड़ा बहुत बुखार भी आता है। तो हो सकता है आप को एपेंडिसाइटिस हो। यदि आप को यह सब लक्षण महसूस होते हैं तो आप को अपने डॉक्टर को दिखाना चाहिए। आपको इंफेक्टेड एपेंडिक्स की सर्जरी की भी आवश्कता हो सकती है। असल में इसके फटने से  सारे शरीर में इंफेक्शन फैला सकता है।

दर्द भरा ओवुलेशन

क्या आप को पीरियड के दौरान बहुत दर्द होता है। उस दौरान आप के एग के रिलीज होने के साथ साथ खून के साथ कुछ फ्ल्यूड भी बाहर आता है। जिससे आप को चिड़चिड़ाहट होती है। यह आप की मासिक साइकिल के दौरान हो सकता है। इसे दर्द भरा ओवुलेशन कहा जाता है। इस में आम तौर पर ज्यादा हानिकारक नहीं होता है और यह कुछ घंटो के बाद ठीक हो जाता है।

इरिटेबल बाउल सिंड्रोम 

क्या आप को पेट दर्द, उल्टियां, डायरिया व कब्ज हो रहा है या अकसर होता है? अगर आप इससे बार बार परेशान हैं तो इसके बारे में आप को अपने डॉक्टर से सलाह ले लेनी चाहिए। यह इरिटेबल बाउल सिंड्रोम हो सकता है। वे ही  इसका कारण बता सकते हैं। आप के द्वारा ज्यादा स्ट्रेस लेना या आप  की डाइट में बदलाव इसके पीछे का कारण हो सकता है।

इसे भी पढ़ें: भारतीय महिलाओं में बहुत आम है पेट के निचले हिस्से में दर्द वाली ये बीमारी, लापरवाही बरतने से बढ़ता है खतरा

एक्टोपिक प्रेग्नेंसी 

यह तब होता है जब एक भ्रूण गर्भाशय के बाहर कहीं और प्रत्यारोपित होता है और बढ़ने लगता है। यह आमतौर पर फैलोपियन ट्यूब में होता है। तेज पेल्विक दर्द या ऐंठन (विशेष रूप से एक तरफ), योनि से खून आना, मतली और चक्कर आना इसके लक्षण हैं। तुरंत चिकित्सकीय सहायता लें।  यह आप की जान को भी जोखिम में डाल सकता है। इसलिए आप को कोई न कोई प्रबन्ध अवश्य समय रहते कर लेना चाहिए।

सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिजीज 

पैल्विक दर्द कुछ एसटीडी का चेतावनी संकेत है। सबसे आम में से दो क्लैमाइडिया और गोनोरिया हैं।यदि आप को पेल्विक दर्द होता है तो यह आप की सेक्सुअल ट्रांसमिटेड डिजीज का लक्षण भी हो सकता है। इन बीमारियों के आम तौर पर कोई लक्षण दिखने को नहीं मिलते हैं। परंतु जब भी लक्षण दिखते हैं तो आप को पेशाब करते समय दर्द महसूस होगा, वेजिना से डिस्चार्ज आदि। इसको अपने डॉक्टर को दिखाएं। अपने साथ साथ अपने पार्टनर का भी चैक अप कराएं।

इसे भी पढ़ें: पेल्विक की मजबूती के लिए करें ये 4 आसान एक्‍सरसाइज, तेजी से बढ़ेगा स्‍टेमिना

pelvic pain causes

पेल्विक इन्फ्लेमेटरी डिजीज 

यह महिलाओं की इनफर्टिलिटी का सबसे बड़ा कारण होता है। यह उन के गर्भाशय, ओवरीज़ व फैलोपियन ट्यूब को हमेशा के लिए नष्ट कर सकता है। पेट में दर्द, बुखार व योनी से डिस्चार्ज इसके कुछ लक्षण हैं। इस का समय रहते ही डॉक्टर से इलाज करा लें, अन्यथा यह आप को बहुत नुक़सान पहुंचा सकता है।यह यौन संचारित रोगों में से एक है।

गर्भाशय की गा़ठें 

ये गर्भाशय की दीवार पर या उसके ऊपर बढ़ने वाली गांठें या ट्यूमर हैं।  ये कैंसर नहीं होते हैं।  30 से 40 के आसपास की  महिलाओं में ये आम हैं। वे आमतौर पर समस्याओं का कारण नहीं बनते। लेकिन कुछ महिलाओं के पेट में और  पीठ में दर्द, भारीपन, दर्दनाक यौन संबंध, या गर्भवती होने में परेशानी हो सकती है। अपने चिकित्सक से बात करें कि क्या इन ट्यूमर को निकालने के लिए उपचार की आवश्यकता है।

Read More Articles on Other Diseases in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK