Happy Birthday MS Dhoni: सिर्फ कप्तानी में नहीं पिता के रूप में भी कूल हैं धोनी, जानें अच्छे पिता के लिए टिप्स

Updated at: Jul 07, 2020
Happy Birthday MS Dhoni: सिर्फ कप्तानी में नहीं पिता के रूप में भी कूल हैं धोनी, जानें अच्छे पिता के लिए टिप्स

Happy Birthday MS Dhoni:जानिए पिता बनने के बाद कैप्टन कूल को एक व्यक्ति के रूप में कैसा बदलाव आया? 

Jitendra Gupta
परवरिश के तरीकेWritten by: Jitendra GuptaPublished at: Jul 07, 2020

Happy Birthday MS Dhoni:इंडियान क्रिकेट टीम के इतिहास के सबसे सफल कप्तानों में से एक महेंद्र सिंह धोनी मौजूदा वक्त में कई पिताओं के लिए एक प्रेरणास्त्रोत भी हैं। अगर आप सोच रहे हैं कि हर पिता एक अच्छा पिता होता है तो इसमें कोई दो राय नहीं कि ऐसा बिल्कुल है। लेकिन आप कुछ चीजें कर खुद को और बेहतर बना सकते हैं। महेंद्र सिंह धोनी एक अच्छे पिता हैं और वे ये साबित करते भी हैं। क्या आप जानते हैं कि धोनी अपनी बेटी जिवा को अपने साथ काम पर भी लाते है? जी हां, ये बिल्कुल सही है और हम सभी ने जीवा को उन्हें चीयर करते हुए देखा होगा। जीवा को लाड़-प्यार करने के अलावा, एमएस धोनी अपना सारा ध्यान अपनी जिम्मेदारियों को निभाने में देते हैं। और आज कैप्टन कूल के 39 वें जन्मदिन पर हम एमएस धोनी और जीवा धोनी के इस प्यार भरे रिश्ते के बारे में आपको बता रहे हैं । इस लेख में हम आपको बता रहे हैं कि वह एक ज़िम्मेदार और प्यार करने वाला पिता कैसे हैं।                                                          

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by ZIVA SINGH DHONI (@ziva_singh_dhoni) onOct 24, 2019 at 5:19am PDT

धोनी की जिंदगी में बदलाव लाई जीवा

39 वर्षीय पूर्व भारतीय कप्तान ने स्टार स्पोर्ट्स के लिए एक शो में फादरहूड के बारे में बात की थी, जो कि शायद ही कभी उन्होंने पहले कभी हो। धोनी ने शो में कहा था कि उन्हें नहीं पता कि फादरहूड ने उन्हें न सिर्फ एक व्यक्ति के रूप में बल्कि एक क्रिकेटर के रूप में और निश्चित रूप से काफी बदलाव लाया है। ऐसा इसलिए है क्योंकि लड़कियां अपने पिता के बहुत करीब होती हैं। उन्होंने कहा कि उनके मामले में, समस्या यह थी कि जब जीवा का जन्म हुआ था (5 साल पहले), वह वहां नहीं थे और ज्यादातर समय क्रिकेट खेल रहे थे। इसलिए उनके सामने जो चीजें आती गई वह गलत तरीके से होती गईं।                                                             

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by ZIVA SINGH DHONI (@ziva_singh_dhoni) onJul 6, 2019 at 6:43pm PDT

इसे भी पढे़ंः  बच्‍चों की ज्यादा तारीफ कहीं आपके लिए मुसीबत न बन जाए, जानिए कब और कैसे करें अपने बच्‍चों की तारीफ       

शुरू में हुई थी काफी दिक्कतें                                                                                                                               

शुरुआत में उन्हें कई परेशान करने वाले पहलुओं से निपटना था, जिसमें यह सुनिश्चित करना भी शामिल था कि जीवा उनके नाम को भी अच्छे से जानें। धोनी ने कहा कि जब जीवा खाना नहीं खा रही होती थी तो उसे बताया जाता कि पापा खाना खाने आ रहे होंगे।  अगर वह कुछ गलत कर रही होती थी तो कहा जाता ता कि पापा आ जाएंगे मत करो। धोनी कहते हैं इसलिए जब भी जीवा उनकी ओर देखती तो उन्हें थोड़ा असहज सा महसूस होता था। 

 
 
 
View this post on Instagram

❤️

A post shared by ZIVA SINGH DHONI (@ziva_singh_dhoni) onMay 16, 2019 at 7:04am PDT

ग्राउंड पर जीवा के पहुंचने की वजह 

हम सभी जानते हैं कि चाहे मैच समाप्त होने के बाद पुरस्कार समारोह हो या फिर आईपीएल जीवा धोनी के साथ बहुत से मैचों में नजर आई थीं। धोनी जीवा के साथ शानदार समय बिताते हैं और यह जीवा के लिए मैदान पर जाने का सबसे बड़ा अनुरोध था, जिसे धोनी ने कभी मना नहीं किया। और आपने शायद गौर किया होगी कि जीवा पूरे आईपीएल के दौरान वहां थी । जीवा के साथ टीम के अन्य सदस्यों के बच्चे भी मैदान पर आते थे।               

 
 
 
View this post on Instagram

Baby shark !!!

A post shared by ZIVA SINGH DHONI (@ziva_singh_dhoni) onSep 11, 2019 at 8:25am PDT

इसे भी पढे़ंः घर से पढ़ रहे बच्चों की इन 5 तरीकों से मदद करें मां-बाप, पढ़ाई में लगेगा ज्यादा मन और बच्चे बनेंगे स्मार्ट                                                   

जीवा धोनी की रूटीन  

धोनी ने कहा कि वह दोपहर में 2 बजे उठते हैं और जीवा पहले से ही उस समय तक अपना नाश्ता कर चुकी होती है और दूसरे बच्चों के साथ खेलना शुरू कर चुकी होती है। जीवा सुबह 9 बजे उठती है। जब धोनी जीवा को दूसरों बच्चों के साथ खेलता हुआ देखता है तो उन्हें आराम महसूस होता है। धोनी ने चुटकी लेते हुए कहा कि उन्हें नहीं पता कि जीवा क्रिकेट को कितना फॉलो करती है और इस खेल को कितना समझती है, लेकिन अगर वे जीवा को अपने वन-डे मैच के बाद की प्रेजेंटेशन के लिए ले जाएं तो वह सभी सवालों के जवाब देना शुरू कर देती है।

एमएस धोनी को पसंद है रोइंग

कैप्टन कूल ने यह भी खुलासा किया कि वह आईपीएल के दौरान रोइंग अभ्यास करने गए थे। धोनी ने यह भी कहा कि, एक बार आईपीएल टूर्नामेंट शुरू होने के बाद वह कभी जिम में नहीं जाएंगे। अपनी दिनचर्या के बारे में बात करते हुए, उन्होंने सिर्फ अपनी रोइंग की और चेन्नई के बारे में बात की। उनके कमरे में एक रोइंग मशीन है वह उठते और अपने नाश्ते का ऑर्डर देते हैं और नाश्ता आने से पहले रोइंग शुरू कर देते हैं। 

Read More Articles in Tips for Parenting in hindi         

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK