Hair Loss: बालों के झड़ने का कारण हैं आपकी गलत आदतें, जानिए आयुर्वेदिक उपचार और इससे जुड़े मिथ-फैक्‍ट्स

Updated at: Sep 14, 2020
Hair Loss: बालों के झड़ने का कारण हैं आपकी गलत आदतें, जानिए आयुर्वेदिक उपचार और इससे जुड़े मिथ-फैक्‍ट्स

बालों का झड़ना एक आम समस्‍या है। हालांकि, इसे आयुर्वेदिक तरीकों से ठीक किया जा सकता है। बाल झड़ने से जुड़े मिथ और फैक्‍ट्स के बारे में जानें।

Atul Modi
बालों की देखभालReviewed by: चंचल शर्मा , BAMS-Ayurveda ExpertPublished at: Jul 24, 2020Written by: Atul Modi

आज के समय में बालों का झड़ना (Hair Loss) एक बड़ी परेशानी बन गई है। बारिश के मौसम (Monsoon) में ये समस्‍या और ज्‍यादा बढ़ जाती है। बारिश के मौसम में बाल क्‍यों झड़ते हैं, इस प्रश्‍न का कोई सटीक उत्‍तर नहीं हैं, क्‍योंकि बाल झड़ने के कारण अलग-अलग हैं। कई बार सिर के संक्रमण की वजह से बाल झड़ते हैं तो वहीं कुछ अंदरुनी समस्‍याओं और पोषक तत्‍वों की कमी के कारण बालों का झड़ना बढ़ जाता है। कुछ लोगों में ये जेनेटिक होता है। बालों के झड़ने की समस्‍या खराब जीवनशैली के कारण या आपकी गलत आदतें भी हो सकती है, जैसे- एक्‍सरसाइज न करना, फास्‍ट फूड और अनहेल्‍दी आहार का सेवन, धूम्रपान और तनावपूर्ण जीवनशैली शामिल है।

मगर बालों के झड़ने को लेकर लोगों में तमाम तरह की गलतफहमियां भी हैं, जिसके कारण वे बालों को और ज्‍यादा नुकसान पहुंचाते हैं। हमने बालों की समस्‍या को लेकर आशा आयुर्वेदा क्‍लीनिक, नई दिल्‍ली की डॉक्‍टर चंचल शर्मा से बातचीत की, जिसमें उन्‍होंने कहा कि सबसे पहले लोगों को हेयर लॉस से जुड़े मिथ और फैक्‍ट्स के बारे में जानना चाहिए। ताकि, बालों की देखभाल संबंधी गलत आदतों को दूर किया जा सके।

Ayurveda-Haircare-Secrets

हेयर लॉस से जुड़े मिथ और फैक्‍ट्स - Hair Loss Myths Vs Facts 

Myth. प्रतिदिन 2 से 4 बालों का गिरना बालों के झड़ने का संकेत है?

Facts. नहीं, कंघी करने और सिर धोने के दौरान 50 से 100 बालों का गिरना आम बात है। लेकिन, यदि इससे ज्‍यादा बाल गिरते हैं तो आपको किसी एक्‍सपर्ट की सलाह लेनी चाहिए।

Myth. क्‍या पोषक तत्‍वों की कमी से बाल झड़ते हैं? 

Facts. नहीं, पोषक तत्‍वों की कमी बाल झड़ने का सिर्फ एक कारण हो सकता है। मगर बाल झड़ने के और भी कई कारण हो सकते हैं। जैसे- हार्मोनल परिवर्तन, वात प्रकोप, अधिक तनाव या अन्‍य बीमारी बालों के झड़ने की समस्‍या हो सकती है।

Myth. क्‍या प्रेगनेंसी या डिलीवरी के बाद बालों का झड़ना आम बात है? 

Facts. नहीं, यदि आप प्रेगनेंसी के दौरान और डिलीवरी के बाद हर तरह से देखभाल करते हैं तो इस तरह की प्रॉब्‍लम दूर हो सकती है। इसके लिए घी से सिर की मसाज, भरपूर मात्रा में आयरन और कैल्शियम युक्‍त आहार और हल्‍का भोजन लेना चाहिए।

Myth. क्‍या तनाव लेने से भी बाल झड़ते हैं? 

Facts. आयुर्वेद के अनुसार, वात और पित्‍त दोष का बढ़ना बालों के झड़ने की वजह बनते हैं। क्रोध, द्वेष, घृणा, मानसिक तनाव ये सभी पित्‍त दोष बढ़ाते हैं। रात में समय पर नहीं सोने से वात दोष बढ़ता है। इससे बालों का झड़ना बढ़ जाता है।

इसे भी पढ़ें: इन 5 तरीकों से आपका पसीना आपके बालों को करता है खराब, उमस भरे इस मौसम में करें इनकी एक्सट्रा देखभाल

Myth. भोजन का बालों के झड़ने से कोई संबंध नही है!  

Facts. ऐसा बिल्‍कुल नही है। बहुत अधिक मिर्च मसाला, खट्टा आहार, दही, अचार, मैदा, प्रोसेस्‍ड फूड, गोभी, बेसन जैसे वात-पित्‍त बढ़ाने वाले आहार का सेवन हेयर फॉल को बढ़ाता है।

इसे भी पढ़ें: हेयर स्टाइलिस्ट ब्रैड मोंडो से जानें बालों को धोने का तरीका, रुकेगा बालों का झड़ना-टूटना और बाल बनेंगे मजबूत

बालों का झड़ना रोकने के आयुर्वेदिक उपाय - Ayurvedic Remedy To Stop Hair Loss In Hindi

  • सप्‍ताह में एक बार बालों को धोएं और शिरोअभ्‍यंग करें। इसके लिए ब्राम्‍ही ऑयल और भृंगराज तेल का इस्‍तेमाल करें।
  • सरसो के तेल से सिर का मसाज करें। तेल मसाज हमेशा बालों को धोने और सूखने के बाद करें, तेलों को आधे घंटे तक लगना चाहिए। इसके बाद सिर धोना चाहिए। रात भर सिर में तेल लगाकर नहीं रखना चाहिए।
  • जिनके बाल लंबे हैं उन्‍हें सप्‍ताह में 2 से 3 बार सिर धोने चाहिए।
  • हमेशा हर्बल शैंपू का प्रयोग करें।
  • नाक में दो बूंद देसी घी डालने से भी बालों का झड़ना रूक जाता है।
  • मेथी के बीज भिगोकर उसका पेस्‍ट बनाकर स्‍कैल्‍प पर लगाएं।

Inputs: Dr. Chanchal Sharma, Aasha Ayurveda Clinic, New Delhi

Read More Articles On Hair Care In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK