• shareIcon

ये आदतें रखेंगी दिल की बीमारियों से दूर

हृदय स्‍वास्‍थ्‍य By Pooja Sinha , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Aug 07, 2013
ये आदतें रखेंगी दिल की बीमारियों से दूर

अपनी दिनचर्या में कुछ आदतों को शामिल करने से आप हृदय रोगों की आशंका से बच सकते हैं। यदि आप भी दिल की बीमारियों के खतरों से बचना चाहते हैं तो इस लेख को पढ़ें।

भागदौड़ भरी जिंदगी और आधुनिक जीवनशैली के चलते लोगों में दिल संबंधी बीमारी तेजी से बढ़ रही हैं। अमेरिका में सबसे ज्‍यादा मौत दिल की बीमारी के कारण होती है। विकसित देशों के साथ ही विकासशील देशों में भी दिल के मरीजों की तादाद दिन ब दिन बढ़ रही है।

heart problem in hindi

हृदय संबंधी बीमारी के बढ़ते मामलों के लिए सबसे ज्‍यादा हमारा खान-पान और जीवनशैली जिम्‍मेदार है। यदि आप अपनी दिनचर्या और खान-पान में थोड़ा बदलाव कर लें तो दिल की बीमारियों के खतरों से बचा जा सकता है। इस लेख के जरिए हम आपको बता रहे हैं कुछ ऐसी ही आदतें जिन्‍हें आप अपनी दिनचर्या में ढालकर दिल संबंधी बीमारियों से दूर रह सकते हैं।

इसे भी पढ़े : दिल के लिए स्‍वस्‍थ आहार


धूम्रपान न करें

धूम्रपान करना दिल की बीमारियों का अहम कारण है। यदि आप हृदय रोग के खतरे को कम करना चाहते हैं तो सिगरेट पीना छोड़ दें। एक सर्वे में यह बात सामने आई है कि धूम्रपान और तंबाकू का सेवन करने वाली 50 फीसदी महिलाओं को अधेड़ उम्र में ही हार्ट अटैक का खतरा बना रहता है। सिगरेट में निकोटिन होता है, जिसके कारण रक्‍त धमनियां सिकुड़ जाती हैं और रक्‍त संचार प्रभावित होता है। रक्‍त संचार प्रभावित बाधित होने पर हार्ट अटैक का खतरा बना रहता है।


कोलेस्‍ट्रॉल कम हो

कोलेस्‍ट्रॉल की मात्रा ज्‍यादा होने पर दिल संबंधी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। कोलेस्‍ट्रॉल की अधिकता होने पर यह रक्‍त वाहनियों के अंदर दीवारों पर जम जाता है और रक्‍त वाहनियां संकरी हो जाती हैं। इनके संकरी होने के कारण हृदय को ब्‍लड की कम मात्रा सप्‍लाई होती है। कोलेस्‍ट्रॉल की मात्रा को नियंत्रित रखने के लिए ज्‍यादा वसा वाले भोजन के सेवन से परहेज करें। वसायुक्‍त भोजन कोलेस्‍ट्रॉल बढ़ाने में कारगर होता है।

weight control in hindi

वजन नियंत्रित रखें

अपने वजन को लंबाई के हिसाब से मेनटेन रखने की कोशिश करें। ज्‍यादा वजन यानी मोटापा भी दिल की बीमारियों का बड़ा कारण है। मोटापे का शिकार होने वाली महिलाओं और पुरुष दोनों को ही हृदय रोग होने की आशंका एक समान होती है। मोटापे से बचने के लिए कम फैट वाले चीजों और तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए। नियमित व्‍यायाम और पैदल चलने की आदत भी आपको मोटापे से दूर रखती है।

इसे भी पढ़े : दिल का दौरा पड़ते ही दें ये सात उपचार


नियमित व्‍यायाम करें

यदि आप शारीरिक रूप से सक्रिय रहते हैं तो दिल की बीमारी का खतरा कम रहता है। रोजाना आधे घंटे किया गया व्‍यायाम आपको सेहतमंद रखने के साथ ही दिल की बीमारियों से भी दूर रखता है। यदि आपको व्‍यायाम के लिए प्रतिदिन समय न मिल पाएं तो हफ्ते में कम से कम 150 मिनट यानी ढाई घंटे एक्‍सरसाइज अवश्‍य कर लें। व्‍यायाम करने से इन्‍सुलिन की मात्रा ठीक रहती है, जिससे डायबिटीज का खतरा भी कम होता है। सुबह शाम टहलने की आदत भी आपको हृदय रोग से दूर रखती है।


फल और सब्जियों का सेवन करें

फल, सब्‍जी और साबुत अनाज में फाइबर की पर्याप्‍त मात्रा होती है। फाइबर युक्‍त भोजन करने से हृदय संबंधी बीमारियों की आशंका कम होती है। हाल ही में हुए एक अध्‍ययन से भी साफ हो चुका है कि फल और हरी पत्‍तेदार सब्‍जियों के साथ ही विटामिन सी से भरपूर फल व सब्जियों का सेवन हृदय रोग से बचाने में कारगर होता है। इसके साथ ही खाने में ऑलिव ऑयल का प्रयोग भी हृदय रोगों से बचाता है।

happy man in hindi

तनाव कम लें

खुद को तनाव से दूर रखने की कोशिश्‍ा करें। तनाव मुक्‍त रहने के लिए स्‍ट्रेस मैनेजमेंट टूल का सहारा ले सकते हैं। तनाव कम करने के लिए आप योग और मेडिटेशन भी कर सकते हैं। जितना ज्‍यादा तनाव मुक्‍त रहेंगे, आपको उतना ही हृदय संबंधी बीमारियों का खतरा कम रहेगा। मेडिटेशन से सहनशीलता का स्‍तर बढ़ता है। तनाव मुक्‍त रहने के लिए डॉक्‍टरों की सलाह होती है कि अपने कमरे की दीवारों पर दोस्‍तों की या अपनी हंसती हुई फोटो लगाएं, ये आपको तनाव से छुटकारा दिलाएंगी।

ऊपर बताई गई बातों का ध्‍यान रखकर आप भी हृदय संबंधी बीमारियों के खतरों से बच सकते हैं। इन सभी को अपनी दिनचर्या में शामिल करने से आप सेहतमंद भी रहेंगे।

इस लेख से संबंधित किसी प्रकार के सवाल या सुझाव के लिए आप यहां पोस्‍ट/कॉमेंट कर सकते है।

Image Source : Getty

Read More Articles On Heart Health In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK