• shareIcon

जीन बढ़ा सकते हैं शराब से कैंसर का खतरा

लेटेस्ट By अन्‍य , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jan 28, 2014
जीन बढ़ा सकते हैं शराब से कैंसर का खतरा

हाल ही में हुए शोध से यह बात सामने आयी है कि कुछ जीन ऐसे भी हैं जो शराब के सेवन कैंसर का खतरा बढ़ाते हैं।

शराब पीने वालों को जीन के कारण कैंसर का खतरा हो सकता है। ऐसे लोग जो शराब के शौकीन हैं, और उनके परिवार में पहले भी किसी को कैंसर हुआ है तो शराब में पाये जाने वाले एक उत्‍पाद के कारण उनमें कैंसर का खतरा अधिक होता है। हाल ही में हुए एक शोध में यह बात सामने आयी है।

Risk of Cancer from Alcoholइस शोध में वैज्ञानिकों ने पाया है कि जिन लोगों में दो वंशानुगत कैंसर जीन में निश्चित परिवर्तन होते हैं, उनमें शराब के उत्पाद एसिटलडिहाइड की वजह से डीएनए को होने वाली क्षति की आशंका सामान्य से अधिक होती है। इसमें कैंसर के दो जीन्स के नाम बीआरसीए2 और पीएएलबी2 बताया गया है।



एसिटलडिहाइड शराब के सेवन से पैदा होता है और यह डीएनए को नुकसान पहुंचाता है। इस शोध में यह संदेह जताया गया है कि दोनों जीन्स अपनी सामान्य अवस्था में एसिटलडिहाइड के कैंसर विकसित करने वाले हानिकारक प्रभावों के खिलाफ काम करते हैं।



अमेरिका की जॉन हैपकिंस युनिवर्सिटी के पैंक्रियाज कैंसर अनुसंधान में प्रोफेसर मारजोरिए कोल्वर, एवेरेट्ट और स्काट केर्न ने इस पर अध्‍ययन किया, इनके अनुसार, "यदि यह प्रारंभिक अनुसंधान है फिर भी शराब के सेवन से कैंसर के खतरे की संभावना बढ़ी है, इसलिए शराब के अधिक सेवन से बचना चाहिए।"



source - newswise.com

 

 

Read More Health News in Hindi

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।