• shareIcon

गर्मियों में बाहर के खाने से बचें

Updated at: Apr 22, 2014
एक्सरसाइज और फिटनेस
Written by: Nachiketa SharmaPublished at: Jun 08, 2012
गर्मियों में बाहर के खाने से बचें

बाहर के भोजन में वसा की मात्रा काफी अधिक होती है। इसके साथ ही इनमें कैलोरी भी अधिक होती है। ऐसा भोजन आपको बीमार कर सकता है। इस मौसम में पेट से जुड़ी बीमारियां अधिक परेशान करती हैं।

पिज्‍जा खाती महिला

गर्मी के मौसम में आप स्‍वस्‍थ रहना चाहते हैं तो बाहर के खाने से बचें। समय अभाव के चलते अक्‍सर लोग बाहर का खाना ही खाना पसंद करते हैं। जंक फूड और फास्‍ट फूड लोगों की दिनचर्या में शामिल हो गए हैं। बाहर का खाना ज्‍यादा तैलीय और कैलोरी वाला होता है जिसे खाने से आप बीमारियों को बुलाते हैं। बाहर खाने से पेट से जुडी कई बीमारियां शुरू हो जाती हैं। गर्मियों में फूड प्‍वाइजनिंग होने की संभावना ज्‍यादा होती है। इसके अलावा अशुद्ध खाने से मधुमेह और कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियां होने की संभावना बढ जाती है। इसलिए गर्मियों के मौसम में बाहर का खाने से बिलकुल ही परहेज करना चाहिए।


गर्मी में बाहर खाने के नुकसान –
गर्मियों में बाहर का खाना खाने से कई शारीरिक दिक्‍कतें शुरू हो जाती हैं। आपको घर के जितना पोषक और साफ-सफाई वाली गुणवत्‍ता बाहर के खाने में बिलकुल नहीं मिल सकती है। आइए हम आपको बताते हैं कि बाहर खाने से आपके स्‍वास्‍थ्‍य को क्‍या समस्‍या हो सकती है :


पेट की बीमारियां – पेट की बीमारियों का सबसे बडा कारण खान-पान होता है। बाहर का खाना उतनी सफाई से नहीं बना होता है। उसमें कई प्रकार के कीटाणु होते हैं जो पेट में पहुंचकर संक्रमण फैलाते हैं। बाहर का खाना अच्‍छे से नहीं पचता है, जिसके कारण कब्‍ज, एसिडिटी, पेट मरोडना, उल्टियां, डायरिया, बुखार जैसी समस्‍याएं शुरू हो जाती हैं। बाहर का खाना खाने से ही फूड प्‍वाइजनिंग होती है।

शरीर कमजोर होना – बाहर के खाने में गुणवत्‍ता का ख्‍याल नहीं रखा जाता है जिसके कारण शरीर को भरपूर मात्रा में पोषक तत्‍व नीं मिल पाते हैं जिसके कारण शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है। गर्मियों के मौसम में लगातार बाहर खाने से शरीर में थकान और आलस शुरू हो जाता है। शरीर कमजोर और सुस्‍त पडने लगता है।

मोटापा बढना – बाहर का खाना ज्‍यादा तैलीय होता है। इसके अलावा बाहर के खाने में वसा की मात्रा ज्‍यादा होती है जिसके कारण मोटापा बढता है। गर्मियों के मौसम में खाने के साथ सलाद ज्‍यादा मात्रा में प्रयोग करना चहिए, लेकिन बाहर के खाने में सलाद की मात्रा कम होती है जिसके कारण मोटापा की समस्‍या शुरू होने लगती है।

सामान्‍य बीमारियां – गर्मियों के मौसम में खाने की गुणवत्‍ता पर बिलकुल ध्‍यान नहीं दिया जाता है। अशुद्ध खाना होने के कारण कई बीमारियां शुरू हो जाती हैं। बाहर के खाने से कई सामान्‍य रोग जैसे- उल्‍टी, दस्‍त, पेचिश, बुखार होने शुरू हो जाते हैं। इसके अलावा कई दिनों तक बाहर का खाना खाने से कैंसर, डायबिटीज जैसी भयानक रोग भी होने लगते हैं।


हर मौसम में बाहर खाने से हमेशा बचना चाहिए और अगर गर्मी का महीना हो तब तो बाहर का खाना खाने से बिलकुल ही बचना चाहिए। बाहर के खाने में घर के खाने जैसी गुणवत्‍ता और साफ- सफाई नहीं होती है। बाहर का खाना खाकर आप कई दिनों तक बीमार रह सकते हैं। इसलिए ज्‍यादातर घर का ही खाना खाने की कोशिश कीजिए।

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK