• shareIcon

ब्रेस्ट कैंसर से छुटकारे लिए दवा नहीं, इस फल का करें सेवन

घरेलू नुस्‍ख By Rashmi Upadhyay , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Nov 17, 2017
ब्रेस्ट कैंसर से छुटकारे लिए दवा नहीं, इस फल का करें सेवन

किशोरावस्था में फलों का अधिक सेवन करने से ब्रेस्ट कैंसर का खतरा कम हो सकता है।

किशोरावस्था में फलों का अधिक सेवन करने से ब्रेस्ट कैंसर का खतरा कम हो सकता है। अमेरिका के हॉर्वर्ड टीएच स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के शोधकर्ताओं ने पाया कि किशोरावस्था के दौरान जिन प्रतिभागियों ने फल का अधिक सेवन किया था, उनमें अधेड़ उम्र में ब्रेस्ट कैंसर का खतरा ऐसा नहीं करने वालों के मुकाबले 25 फीसदी कम था। कम उम्र में खासकर सेब, केला, अंगूर और संतरा जैसे फलों व गोभी जैसी सब्जी का सेवन ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को कम करने के लिए अहम है। शोधकर्ताओं ने कहा कि ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को कम करने में फलों का सेवन बेशक लाभदायक हो सकता है लेकिन उनके जूस का इस खतरे को कम करने में योगदान है या नहीं, ऐसा ठीक-ठीक नहीं कहा जा सकता। फलों के साथ ही कैंसर से बचाव के लिए शाकाहारी भोजन भी बहुत फायदेमंद होता है।

इसे भी पढ़ें : शुगर लेवल नियंत्रित रखने के लिए आजमाएं 10 घरेलू नुस्‍खे

शाकाहारी भोजन

शाकाहारी भोजन को लेकर कई लोगों के बीच भ्रामक धारणाएं प्रचलित हैं। वे इसे लेकर अक्सर असमंजस में रहते हैं कि शाकाहारी भोजन से उन्हें सही न्यूट्रिशनल वैल्यू मिल रही है या नहीं। लोगों को लगता है कि नॉनवेज फूड में ज्य़ादा न्यूट्रिशनल वैल्यू होती है लेकिन यह धारणा पूरी तरह गलत है। शाकाहारी भोजन एक संतुलित डाइट देता है। इसमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, वसा और कोशिकाओं को पोषण देने वाले आवश्यक माइक्रोन्यूट्रिएंट तत्वों का संतुलित समन्वय होता है।

मांसाहारी भोजन

मांसाहारियों को जो तत्व मांसाहार से मिलते है, वैसे ही शा‍काहारी भोजन में भी शाक वे सभी तत्व मौजूद होते हैं। शाकाहारी आहार भी उतने ही पोषक होते हैं, जितने की मांसाहार में। मांसहारी लोगों के लिए प्रोटीन मछली, मांस और अंडे से प्राप्त होता है, जबकि शाकाहारियों को वनस्पति से प्राप्त हो जाता है। मानव शरीर के कार्य करने के लिए ऐसा कोई पौष्टिक तत्व नहीं है, जो वनस्पतियों से प्राप्त नहीं किया जा सकता हो। शाकाहारी भोजन में रोगों से लड़ने की क्षमता होती है। मांस में मिलने वाले तत्वों के कारण मांसाहार का पाचन जल्द नहीं किया जा सकता, जबकि शाकाहार भोजन का पाचन जल्दी किया जा सकता हैं। आइए जानें शाकाहार भोजन के फायदों के बारे में।

इसे भी पढ़ें : खांसी से तुरंत छुटकारा दिलाता है अजवाइन का ऐसा प्रयोग

दोनों में तुलना

नॉनवेज में अपनी खासियत होती है लेकिन दोनों की तुलना की जाए तो फलों, सब्जियों और दालों में माइक्रोन्यूट्रिएंट तत्व अधिक मात्रा में पाए जाते हैं। इसी वजह से मांसाहारी लोगों को भी अपने भोजन में सैलेड और सब्जियों को प्रमुखता से शामिल करना चाहिए ताकि उन्हें संतुलित मात्रा में पोषक तत्व मिल सकें। अगर आपके मन में सेहत, फिटनेस और खानपान से जुड़ी कोई भी गलतफ़हमी हो तो उसे दूर करने के लिए आप किसी डॉक्टर या किसी नूट्रिशनिस्ट से सलाह भी ले सकते हैं।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Home Remedies

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK